बीए के बाद मेडिकल कोर्स? B.A ke baad medical course

यदि बात की जाए बीए के बाद मेडिकल कोर्स की तो ऐसे हैं जो b.a. करने के बाद मेडिकल के फील्ड में आना चाहते हैं वह बड़ी ही आसानी से इस फिल्म में आ सकते हैं।

आज के समय में मेडिकल लाइन विद्यार्थियों द्वारा चुना जाने वाला सबसे अधिक और सबसे लोकप्रिय क्षेत्र है। विद्यार्थी चाहे तो वह इस क्षेत्र में अपना एक अच्छा कैरियर बना सकता है।

हममें से ज्यादातर लोगों को या लगता है कि मेडिकल क्षेत्र केवल उन्हीं लोगों के लिए अच्छा है जो की साइंस स्ट्रीम से है, तो यह बात कई हद तक सही भी है।

जो भी विद्यार्थी science स्ट्रीम से अपने ग्रेजुएशन को पूरा करता है उसे मेडिकल के क्षेत्र में कई सारे अफसर मिल जाते हैं।

परंतु हमने से ही बहुत सारे व्यक्ति जब यह नहीं सोच पाते कि उन्हें आगे क्या करना है और art’s स्ट्रीम ले लेते हैं, और फिर art’s से ग्रेजुएट होने के बाद मेडिकल क्षेत्र में आने की सोचते हैं तो ऐसा करने पर आपके पास मेडिकल क्षेत्र में जाने का कोई रास्ता नहीं बचता,

तो इसलिए आज के इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगी की बीए के बाद मेडिकल कोर्स कैसे करें, साथ ही इस से जुड़ी कई अन्य जानकारियां भी दूंगी। इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक पढ़ें और हमारे साथ अब तक बने रहे।

बीए के बाद मेडिकल कोर्स?

यदि बात की जाए बीए के बाद मेडिकल कोर्स की जा सकती है या नहीं तो यह बात पूरी तरह से इस पर डिपेंड करती है कि आप मेडिकल क्षेत्र में जा सकते हो या नहीं।

यदि आपने अपने 12वीं पढ़ाई साइंस स्ट्रीम (PCB) से की है तो आप आगे बढ़े हैं आसानी से मेडिकल कोर्स कर सकते हो परंतु यदि आपने अपने बार्बी के मार्कशीट के अनुसार मेडिकल क्षेत्र में दाखिला करवाया भी तो आपकी ग्रेजुएशन जो कि आपने बीएससी की है वह बेकार मानी जाएगी।

क्योंकि आपको बड़ी ही आसानी से साइंस स्ट्रीम मैं 12वीं के अंको के अनुसार दाखिला मिल जाएगा।

परंतु यदि आपने अपनी 12वीं की पढ़ाई 8 जून से की है तो ऐसे में आप किसी भी प्रकार का मेडिकल कोर्स करने के लिए योग्य नहीं माना जाते हो।

अब जबकि आपने ग्रेजुएशन भी आर्ट्स स्ट्रीम से कर ली है तो फिर आपके पास मेडिकल क्षेत्र में जाने का कोई विकल्प नहीं बचता।

इसका मतलब यह है कि आप मेडिकल लाइन का कोई भी कोर्स नहीं कर सकते। परंतु एक तरीका है जिससे कि आप मेडिकल क्षेत्र में जा सकते हो और अपना अच्छा करियर बना सकते हो।

तो यदि आपने बार्बी में अपना स्ट्रीम कॉमर्स चुना है, और फिर आगे बीए कर लिया है तो फिर आपके पास मेडिकल क्षेत्र में जाने का कोई विकल्प नहीं बचता। क्योंकि मेडिकल क्षेत्र में जाने के लिए पीसीबी यानी फिजिक्स केमेस्ट्री और बायोलॉजी लेना अनिवार्य है।

लेकिन अगर आपने अपनी 12वीं में आर्ट स्ट्रीम लिया था और उसके बाद बीए किया तो आपके पास ऐसे कुछ सब्जेक्ट है जिसके द्वारा आप मेडिकल क्षेत्र में आ सकते हैं।

इसे भी जरूर पढ़ें

आज के इस आर्टिकल में हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • बीए के बाद साइकोलॉजी से मेडिकल कोर्स?
  • Psychology क्या है?
  • बीए के बाद नर्सिंग कोर्स,
  • ANM
  • GNM
  • BSc nursing

BA के बाद psychology से medical course?

B.A के बाद यदि आप मेडिकल के क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो आपको अपनी ग्रेजुएशन साइकोलॉजी से करनी चाहिए। यदि आप साइकोलॉजी सब्जेक्ट से बीए कंप्लीट करते हैं तो आपको आगे एम ए बी साइकोलॉजी से ही करना होगा।

इसके बाद ही आप एक साइकोलॉजिस्ट बन सकते हो जो कि एक मेडिकल का क्षेत्र है।

b.a. करने के बाद आप और कई सारे छेत्र अच्छी नौकरी पा सकते हैं, क्योंकि b.a करने के बाद यदि आप मेडिकल क्षेत्र में आते हो तो आपको कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

Psychology क्या है?

मनोवैज्ञानिक मानव मस्तिष्क और उसके कार्य अध्ययन को समझने का एक वैज्ञानिक तरीका है। इसका मतलब यह है कि मनोवैज्ञानिक मानव दिमाग व्यवहार का विज्ञान है।

यह मनुष्य की चेतना, अवचेतना, भावनाओं, अवस्थाओ, गम, खुशी, सोच आदि का अध्ययन करना है। अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन के अनुसार साइकोलॉजी एक विशिष्ट विशेष अध्ययन शामिल होता है, जिसे मनोविज्ञान कहते हैं।

बीए के बाद नर्सिंग कोर्स?

आजकल नर्सिंग का कोर्स भी काफी ज्यादा लोकप्रिय कोर्सों में से एक है।

इस कोर्स के अंतर्गत हमें अस्पतालों और कई अन्य जगहों पर लोगों की सेवा करने का अवसर मिलता है।

यहां मैं बारहवीं कक्षा के बाद कौन-कौन से नर्सिंग कोर्सेज है इसके बारे में बताऊंगी,

  • ANM

ANM का मतलब auxiliary nursing midwifery होता है, जिसको की हिंदी में हम सहायक नर्स दाई भी बोलते हैं।

आज के समय में ANM की भूमिका पुराने समय में जब medical की facilities अच्छी नहीं थी उस वक्त पर दाई की जो महत्वता थी वही महत्वता आज भी है और उसी को हम ANM कहते हैं।

एक ANM की नौकरी बहुत ही जिम्मेदारी वाली होती है क्योंकि उन्हें doctor के साथ medical terms को देखना होता है और एक आम patient के साथ उन्हें आम भाषा में बात करनी पड़ती है।

ANM, doctor और patient के बीच में एक mediator का काम करती हैं।

  • GNM

GNM एक सामान्य general nursing और midwifery course होता है। इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है।

  • BSc nursing

BSc nursing एक undergraduate nursing courses है। इस कोर्स की अवधि 4 सालों की है।

जिसमें कि आपका इंटर्नशिप भी होता है। एक nurse का काम doctor के सहायक के रूप में काम करना होता है।

इसका मतलब यह है कि patient की देखभाल करना और उन्हें समय-समय पर दवाइयां देना भी नर्स का ही काम होता है।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना बीए के बाद मेडिकल कोर्स के बारे में। साथ ही हमने जाना बीए के बाद साइकोलॉजी से मेडिकल कोर्स कैसे करें और Psychology क्या है। इसके अलावा हमने b.a के बाद नर्सिंग कोर्स ANM, GNM और BSc nursing के बारे में जाना।

आशा है आज के इस आर्टिकल को पढ़कर आपके मन में बीए के बाद मेडिकल कोर्स से संबंधित जो भी सवाल है उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅