बी.ए (B.A) की फीस कितनी होती है? | B.A ki fess kitni hoti hai?

B.a. की फीस कितनी होती है?(B.A ki fees kitni hoti hai), B.a. में कितना पैसा लगता है? B.a करने में कुल कितना खर्च आता है?

दोस्तों 12वीं पास कर चुके हर छात्र के मन में यह सवाल रहता है कि 12वीं पूरी हो जाने के बाद वह आगे और क्या पढ़ाई करेगा। 11वीं और 12वीं में आप किसी भी स्ट्रीम के छात्र रहे हो लेकिन 12वीं पास करने के बाद दोबारा से आपके पास यह अवसर होता है कि आप आगे किसी क्षेत्र में पढ़ाई करना चाहते हैं। 12वीं के बाद छात्र ग्रेजुएशन करना चाहते हैं ग्रेजुएशन में उनके पास बीएससी यानी बैचलर ऑफ साइंस, बीकॉम यानी बैचलर ऑफ कॉमर्स और बीए यानी बैचलर ऑफ आर्ट्स मे से चुनने का विकल्प होता है। 12वीं में साइंस स्ट्रीम के छात्रों के पास तीनों ही बैचलर डिग्री में से चुनने का विकल्प होता है कॉमर्स स्ट्रीम वालों के पास बीकॉम और बीए और आर्ट्स स्ट्रीम वालों के पास सिर्फ b.a. करने का ही विकल्प होता है।

बी.ए (B.A) की फीस

बहुत से छात्र अपनी मर्जी से हैं b.a. करने का विकल्प चुनते हैं क्योंकि बी ए कोर्स से उन्हें बहुत सी चीजों में आसानी होती है जैसे इस कोर्स को करने के साथ-साथ वे गवर्नमेंट जॉब की प्रिपरेशन कर सकते हैं आदि।

साइंस और कॉमर्स स्ट्रीम के छात्र भी कई बार ग्रेजुएशन में बी ए कोर्स को चुनते हैं। बीए आज के समय में छात्रों के बीच सबसे लोकप्रिय कोर्स में से एक है। इसमें छात्रों को कई तरह से सुविधा होती है। यह कोर्स अन्य वर्षो की तुलना में आसान होता है इसे करने के साथ-साथ छात्र दूसरे क्षेत्रों पर भी ध्यान दे सकते हैं। ऐसा करने से उनके पास ग्रेजुएशन की डिग्री भी आ जाती है एवं वह किसी अन्य job के लिए preparation भी अच्छी तरह से कर पाते हैं।

दोस्तों b a यानी बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स की अवधि सामान्यता 3 वर्ष की होती है। परंतु विशेष परिस्थितियों में कुछ कॉलेजों में यह 4 वर्ष की भी हो सकती है। आप इसे distance या regular दोनों तरह से कर सकते हैं इसका चुनाव आप पर निर्भर करता है। B.A कोर्स के अंतर्गत आपको आर्ट्स क्षेत्र से संबंधित विषय जैसे इतिहास भूगोल आदि जैसे विषय को पढ़ाया जाता है।

आज हम जानेंगे?

B.A ki fees kitni hai

12वीं पास कर चुके और ग्रेजुएशन में b.a. करने की सोच रहे हर छात्र के लिए यह जरूरी होता है कि उसे इस कोर्स से संबंधित हर प्रकार के बातों की जानकारी हो। छात्रों के मन में यह सवाल भी रहता है कि b a कोर्स करने में कुल कितना खर्च आता है? या b.a ki fees kitni hoti hai? आज इस लेख में हम मुख्यता इसी के बारे में जानेंगे।

अगर बात करें बी ए कोर्स में होने वाले कुल खर्च की तो यह अलग अलग हो सकता है। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप बीए सरकारी कॉलेज से करते हो या प्राइवेट कॉलेज से। ज्यादातर छात्र बी ए सरकारी कॉलेज से ही करते हैं क्योंकि इसमें 3 साल की अवधि में कुल खर्च बहुत ही कम होता है। आज के समय में किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास कर लेने के बाद आप किसी सरकारी कॉलेज में b.a. में एडमिशन के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। College में एडमिशन मेरीट बेसिस पर और एंट्रेंस एग्जाम बेसिस पर होता है। ज्यादातर कॉलेज मेरिट बेसिस पर ही सिलेक्शन करते हैं इसका मतलब आपके 12वीं के अंक के आधार पर आए हैं। उसी के आधार पर आपका सिलेक्शन होता है।

परंतु कुछ बड़े कॉलेजस में एडमिशन के लिए आपको उस कॉलेज की एंट्रेंस एग्जाम भी देनी होती है। अगर आपका नाम कॉलेज की मेरिट लिस्ट में आ जाता है तो आप उस कॉलेज में b.a. में एडमिशन ले सकते हैं। उस समय आपको एडमिशन फ़ीस देना होता है जो ₹2000 के आसपास होती है। इसके अलावा 3 वर्ष की अवधि में 6 semester होते हैं। जिसमे प्रत्येक सेमेस्टर में परीक्षाएं ली जाती है जिस समय आपको परीक्षा फीस देनी होती है जो ₹650 के लगभग होती है। यानी कुल मिलाकर सरकारी कॉलेज से आप बहुत ही आसानी से 10000 से 15000 के अंदर के खर्च में अपने बीए कोर्स को कंप्लीट कर सकते हैं।

सरकारी कॉलेज के बजाए अगर आप प्राइवेट कॉलेज से b.a. करते हैं तो उसमें आपको खर्च सरकारी कॉलेज की तुलना में बहुत अधिक आएगा।प्राइवेट कॉलेज से b.a. करने पर आपको लगभग हर साल 20000 से 25 हजार तक का खर्च भी आ सकता है। इसलिए ज्यादातर छात्र प्राइवेट कॉलेज की अपेक्षा सरकारी कॉलेज से ही बीए करना पसंद करते हैं।

B.A 1st year ki fees kitni hai

जो भी छात्र बी ए कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं उनके मन में बी ए कोर्स की फीस के अलावा एक और भी प्रश्न रहता है वह है कि b.a 1st year ki fees kitni hoti hai?

क्योंकि पहले साल में आपको थोड़ी अधिक फीस लगती है इसमें आपको सेमेस्टर फीस के अलावा भी कई सारे फीस देनी होती है जैसे की एडमिशन फीस रजिस्ट्रेशन फीस और भी कई सारी अन्य फीस होती हैं। जो कि आपको अपने पहले साल में देनी होती है।

सरकारी कॉलेज में प्राइवेट कॉलेज की तुलना में फर्स्ट ईयर की फीस बहुत ही कम होती है इसमें आपको एडमिशन चार्ज भी बहुत कम लगता है रजिस्ट्रेशन चार्ज भी बहुत कम लगता है। सरकारी कॉलेज में फर्स्ट ईयर की फीस ₹2000 से लेकर ₹5000 तक हो सकती हैं जबकि प्राइवेट कॉलेज में ही फीस ₹10000 से लेकर ₹20000 तक हो सकती है।

इन सबके अलावा और भी अन्य घटक है जो इसे तय करती है। खर्च यानी फीस अलग अलग राज्य में अलग अलग हो सकता है। आप किस यूनिवर्सिटी में दाखिला लेते हैं या उस पर भी निर्भर करता है।अलग-अलग universities की फीस अलग-अलग होती है। अलग-अलग कॉलेज में अलग-अलग फीस निर्धारित की हुई होती है। जिनकी जानकारी आप कॉलेज वेबसाइट या यूनिवर्सिटी वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

दोस्तों यह fees हर साल बदलती भी रहती है।किसी भी कॉलेज और यूनिवर्सिटी की फीस पूरी तरह उसके प्रशासन के ऊपर आधारित होती है। अगर कोई कॉलेज और यूनिवर्सिटी सरकारी है तो वह सरकार तय करेगी कि उसकी फीस कितनी होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज की फीस प्राइवेट संस्थान के प्रबंधन तय करते हैं इसीलिए इस फीस में आए दिन अंतर देखने को मिलता है।

Conclusion

यह पोस्ट B.A करने वाले छात्रों के लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। इस पोस्ट में हमने B.A ki fees kitni hoti hai? b.a. करने में कितना खर्चा होता है?B.A 1st year ki fees kitni hoti hai? इन सब के बारे में हमने जाना है।

मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको बी ए कोर्स की फीस कितनी है इसके बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी अगर फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया तो हमारे आर्टिकल को शेयर जरूर करें और हमारे आर्टिकल के संबंधित कोई राय देना चाहते तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

धन्यवाद

1 thought on “बी.ए (B.A) की फीस कितनी होती है? | B.A ki fess kitni hoti hai?”

  1. Thx (m lekin abhi 10 class m hu pr mane soch leya h ki m 12 class hone ke bad b.a kru gi lekin m art le k kru gi)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए