BAMS की फीस कितनी है | BAMS ki fees kitni hai

Advertisement

आज इस आर्टिकल में हम BAMS की फीस कितनी है? (BAMS ki fees kitni hai), BAMS की फीस, आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने में कितना पैस लगता है? इस में हम BAMS की फीस के सम्बंधित सभी विषयों के बारे में विस्तार से पढेंगे।

कई सारे विद्यार्थियों को ऐसा लगता है कि डॉक्टर बनने के लिए MBBS का कोर्स करना ही जरूरी होता है और यह बात काफी हद तक सही भी है। दोस्तों इस बात में कोई भी दो राय नहीं है की करियर चुनने के फील्ड में डॉक्टरी यानी medical sector कुछ सबसे पहले विकल्पों में से है।

परंतु डॉक्टर बनने के लिए MBBS ही एकमात्र विकल्प नहीं है, BAMS भी एक ऐसा कोर्स है जिसे करके आप डॉक्टर बन सकते हैं। जहां MBBS में modern medicine science की पढ़ाई होती है, वहीं BAMS Traditional System of Ayurveda की पढ़ाई कराता है। आसान भाषा में एक Ayurvedic Doctor बनने के लिए BAMS का कोर्स है। मेडिकल के क्षेत्र में रुचि रखने वाले छात्रों को इसके बारे में पता होता है।

परंतु साथ ही यदि कोई अभ्यार्थी इसका चुनाव करना चाहता है तो उसके लिए जरूरी होता है कि उसे इस कोर्स से संबंधित सारी जानकारी हो जैसे कि BAMS कोर्स क्या है?  BAMS कोर्स की फीस कितनी होती है? (BAMS ki fees kitni hai?) इत्यादि। आज इस लेख में हम मुख्यतः इसी बात पर चर्चा करेंगे साथ ही इस कोर्स से संबंधित अन्य कुछ बातों को भी जानेंगे।

Advertisement

आसान भाषा में एक आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए BAMS का कोर्स है। मेडिकल के क्षेत्र में रुचि रखने वाले छात्रों को इसके बारे में पता होता है। परंतु साथ ही यदि कोई अभ्यार्थी इसका चुनाव करना चाहता है तो उसके लिए जरूरी होता है कि उसे इस कोर्स से संबंधित सारी जानकारी हो जैसे कि  BAMS कोर्स क्या है?  BAMS कोर्स की फीस कितनी होती है? इत्यादि। आज इस लेख में हम मुख्यतः इसी बात पर चर्चा करेंगे साथ ही इस कोर्स से संबंधित अन्य कुछ बातों को भी जानेंगे।

BAMS की फीस

Advertisement

यदि बात की जाए BAMS ki fees की तो MBBS या उन जैसे अन्य कोर्सेज की तरह इसकी फीस भी इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस संस्थान यानी Institute से इस कोर्स की पढ़ाई करते हैं। अलग-अलग संस्थान इस कोर्स के लिए अलग-अलग फीस का निर्धारण कर सकती है। इसके बाद बात आती है कि आप किसी सरकारी संस्थान से, या किसी अर्ध सरकारी संस्थान से, या किसी प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं। अब जाहिर तौर पर इनमें से प्राइवेट कॉलेज की फीस अन्य दोनों की तुलना में काफी ज्यादा होगी।

यदि बात की जाए BAMS ki fees की तो एमबीबीएस या उन जैसे अन्य कोर्सेज की तरह इसकी फीस भी इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस संस्थान यानी इंस्टिट्यूट से इस कोर्स की पढ़ाई करते हैं। अलग-अलग संस्थान इस कोर्स के लिए अलग-अलग फीस का निर्धारण कर सकती है। इसके बाद बात आती है कि आप किसी सरकारी संस्थान से, या किसी अर्ध सरकारी संस्थान से, या किसी प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं। अब जाहिर तौर पर इनमें से प्राइवेट कॉलेज की फीस अन्य दोनों की तुलना में काफी ज्यादा होगी।

एक लगभग के तौर पर कहा जा सकता है कि इस कोर्स को करने की फीस औसतन 3 से 5 लाख तक होती है। आप इसमें भी बड़े Private College Fees इससे कहीं ज्यादा तक जा सकती है। वहीं कुछ BAMS Goverment college scholarship इत्यादि के चलते यह फीस इससे कम भी हो सकती है।

सरकारी कॉलेज की फीस

यदि आप इस कोर्स को करने का सोचते हैं और इसके लिए आपके पास फीस के रूप में खर्च करने के लिए ज्यादा पैसे नहीं है, तो आपके लिए सरकारी कॉलेज ही विकल्प है। सबसे पहले तो किसी भी अच्छी सरकारी कॉलेज में इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए आपको अच्छे अंकों के साथ NEET यानी कि National eligibility come entrance test की परीक्षा पास करनी होती है। बिना NEET के अच्छे स्कोर के एक अच्छे सरकारी कॉलेज में BAMS कोर्स में दाखिला ले पाना बहुत ही ज्यादा मुश्किल है।

यदि इन प्रक्रियाओं के बाद आपका एक अच्छे गवर्नमेंट कॉलेज में इस कोर्स में दाखिला हो जाता है तो BAMS का कोर्स एक BAMS Goverment College से करने पर इसकी फीस आपको 30000 से 50,000 प्रतिवर्ष देनी होती है। और क्योंकि BAMS का कोर्स 4 years 6 months की अवधि का एक कोर्स है, जिससे इसकी फीस लगभग तीन लाख तक हो ही जाती है। इस फीस में आपकी Institution Fees ही होगी इसके अलावा examination fees, books इत्यादि की hostel fees इत्यादि आपको अलग से देना पड़ सकता है जिससे फीस थोड़ी और बढ़ती है।

देश के कुछ शीर्ष सरकारी कॉलेज के नाम

  • Ch.Brahm Prakash Ayurved Charak Sansthan ( CBPACS) , New Delhi
  • Seth Govindji Raoji Ayurved Mahavidyalaya ( SGRAM) , Solapur
  • Jammu Institute Of Ayurveda & Research ( JIAR) , Jammu
  • Govt. (Autonomous) Ayurveda College & Hospital ( GACH) , Rewa

प्राइवेट कॉलेज की फीस

यदि आपके साथ ऐसी परिस्थिति होती है कि आपके पास NEET score नहीं है, तो इसका मतलब यह नहीं होगा कि आप इस कोर्स में दाखिला नहीं ले सकते हैं। देश के कुछ प्राइवेट कॉलेजेस BAMS जैसे कोर्स में दाखिले के लिए अपने स्तर पर खुद का एंट्रेंस टेस्ट भी कंडक्ट करवाती है।

इसके अलावा प्राइवेट कॉलेजेस में सीधे मेरिट बेसिस पर भी एडमिशन होते हैं परंतु इनमें seat limited numbers में होती है, और इसके अलावा यहां पर फीस भी काफी ज्यादा ली जाती है। यदि आपके अंक 40 से 50% के बीच आए हैं तो भी आप कुछ प्राइवेट कॉलेजेस में आसानी से एडमिशन ले सकते हैं जिसके लिए आपको कोई टेस्ट या इंटरव्यू आदि देना पड़ सकता है।

यदि आपके साथ ऐसी परिस्थिति होती है कि आपके पास NEET score नहीं है, तो इसका मतलब यह नहीं होगा कि आप इस कोर्स में दाखिला नहीं ले सकते हैं। देश के कुछ प्राइवेट कॉलेजेस BAMS जैसे कोर्स में दाखिले के लिए अपने स्तर पर खुद का एंट्रेंस टेस्ट भी कंडक्ट करवाती है।

इसके अलावा प्राइवेट कॉलेजेस में सीधे marit bases पर भी admission होते हैं परंतु इनमें सीट limited number में होती है, और इसके अलावा यहां पर फीस भी काफी ज्यादा ली जाती है। यदि आपके अंक 40 से 50% के बीच आए हैं तो भी आप कुछ प्राइवेट कॉलेजेस में आसानी से एडमिशन ले सकते हैं जिसके लिए आपको कोई टेस्ट या इंटरव्यू आदि देना पड़ सकता है।

यदि एक औसतन के तौर पर बात की जाए तो किसी प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करने पर आपको एक से दो लाख प्रतिवर्ष फीस देनी पड़ सकती है, जोकि इस कोर्स की अवधि साडे 4 वर्ष की होने के कारण 5 से 10 लाख तक चली जाती है।

इसके अलावा यहां भी Examination fees, किताबें इत्यादि का खर्च मिलाकर फीस की रकम और भी ज्यादा बढ़ सकती है। उदाहरण के लिए Dr. D Y Patil Ayurvedic Medical college जैसे medical college इस कोर्स की पूरी फीस 15 से 20 लाख या उससे भी ज्यादा तक जा सकती है।

यदि एक औसतन के तौर पर बात की जाए तो किसी प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करने पर आपको एक से दो लाख प्रतिवर्ष फीस देनी पड़ सकती है, जोकि इस कोर्स की अवधि 4 years 6 months की होने के कारण 5 से 10 लाख तक चली जाती है। इसके अलावा यहां भी एग्जामिनेशन फीस, किताबें इत्यादि का खर्च मिलाकर फीस की रकम और भी ज्यादा बढ़ सकती है। उदाहरण के लिए Dr D Y Patil Ayurvedic Medical College जैसे medical college इस कोर्स की पूरी फीस 15 से 20 लाख या उससे भी ज्यादा तक  जा सकती है।

देश के कुछ शीर्ष प्राइवेट BAMS कॉलेज के नाम

  • Dayanand Ayurvedic College ( DAC) , Jalandhar
  • Podar Ayurved Medical College , Mumbai
  • Datta Meghe Institute Of Medical Sciences ( DMIMS) , Wardha

BAMS क्या है

BAMS का पूरा नाम बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी (bachelor of ayurvedic medicine and surgery) है। इस कोर्स की पूरी अवधि साढ़े 5 साल की होती है, जिसमे से साढ़े 4 साल की पढ़ाई और 1 साल की मैंडेटरी इंटर्नशिप कराई जाती है।इस कोर्स के अंतर्गत आपको आयुर्वेद से जुड़ी आयुर्वेदिक दवाओं की पढ़ाई करनी होती है।

BAMS सेंट्रल काउंसिल आफ इंडियन मेडिसिन के द्वारा approve होता है। यह एक अंडर ग्रेजुएशन की डिग्री है। BAMS का कोर्स पूरा कर चुके छात्रों को सरकार द्वारा approved licence मिलने के बाद रजिस्टर होना पड़ता है और जिसके बाद उन्हें इलाज करने का अप्रूवल मिलता है। BAMS का पूरा नाम बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी (bachelor of ayurvedic medicine and surgery) है।

इस कोर्स की पूरी अवधि साढ़े 5 साल की होती है, जिसमे से साढ़े 4 साल की पढ़ाई और 1 साल की Mandtory internship कराई जाती है।इस कोर्स के अंतर्गत आपको आयुर्वेद से जुड़ी आयुर्वेदिक दवाओं की पढ़ाई करनी होती है। BAMS सेंट्रल काउंसिल आफ इंडियन मेडिसिन के द्वारा approve होता है। यह एक अंडर ग्रेजुएशन की डिग्री है। BAMS का कोर्स पूरा कर चुके छात्रों को सरकार द्वारा approved licence मिलने के बाद रजिस्टर होना पड़ता है और जिसके बाद उन्हें इलाज करने का approval मिलता है।

Conclusion

आज इस आर्टिकल में हम बीएएमएस की फीस कितनी है? (BAMS ki fees kitni hai), BAMS करने में कितना खर्चा होता है? बीएएमएस की फीस क्या है? (BAMS ki fees) इन सब के बारे में विस्तार से जाना है अगर आप भी आयुर्वेदिक डॉक्टर बनना चाहते हैं और आयुर्वेदिक के sector में अच्छा भविष्य बनाना चाहते तो आपको बीएमएस कोर्स करना होता है।

जो भी छात्र भी में BAMS Course करना चाहते हैं उनके मन में बीएएमएस की फीस कितनी होती है? (BAMS ki fees kitni hoti hai) प्रश्न हमेशा रहता है आज तक मैंने आपको इस प्रश्न का उत्तर बहुत ही विस्तार से दिया है। मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको बीएएमएस की फीस संबंधित सारी जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको यह आर्टिकल पढ़कर अच्छा लगा और आपको अच्छी जानकारी मिली है तो आप हमारे आर्टिकल को शेयर जरूर करें और हमारे आर्टिकल के संबंधित कोई राय देना चाहते तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *