बैंक मैनेजर कैसे बने? Bank manager kaise bane

यदि आप एक विद्यार्थी और आगे चलकर बैंक में काम करना चाहते हैं तो आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि बैंक मैनेजर कैसे बने?

आज के इस आर्टिकल में हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • बैंक मैनेजर कैसे बने?
  • प्राइवेट बैंक मैनेजर कैसे बने?
  • सरकारी बैंक मैनेजर कैसे बने?
  • बैंक मैनेजर बनने के लिए योग्यता?
  • बैंक मैनेजर के लिए आवेदन कैसे करें?

बैंक मैनेजर कैसे बने?

यदि आप एक बैंक मैनेजर बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको बैंक मैनेजर कैसे बनते हैं इसके बारे में आपको सही जानकारी होना आवश्यक है। यह पोस्ट एक जिम्मेदारी वाला पोस्ट होने के साथ-साथ लाखों विद्यार्थियों कि पसंदीदा जॉब है। इस जॉब को पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करना अनिवार्य है। इसलिए आपको इस पोस्ट को पाने के लिए बहुत अच्छे से तैयारी करनी होती है।

बैंक मैनेजर का बैंक पर पूरा नियंत्रण रहता है। बैंक मैनेजर बैंक के operations को देखता है और उन्हें implement और execute करते हैं। बैंक मैनेजर एक branch को लीड करता हैं। हर एक बैंक की branch अलग-अलग होती है, और उनका अपना एक बैंक मैनेजर होता है।

प्राइवेट बैंक मैनेजर कैसे बने?

प्राइवेट बैंक अपने यहां मैनेजर की पोस्ट के लिए PO की परीक्षा organize करवाती है। प्राइवेट बैंक में बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको PO (probationary officer) की परीक्षा देनी होती है। इस परीक्षा के लिए अलग-अलग बैंक अपने अपने एग्जाम को आयोजित करवाते हैं। यदि आप इस एग्जाम को पास कर लेते हैं तो आप प्राइवेट बैंक के मैनेजर बन जाते हैं।

आप इन बैंक के official website पर जाकर इन परीक्षाओं की सूची प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा कई प्राइवेट बैंक बिना किसी परीक्षा के direct भर्ती भी करते हैं। इसके लिए आपका MBA होना जरूरी है। किसी भी अच्छे मान्यता प्राप्त कॉलेज से MBA करने के बाद आप किसी भी अच्छे प्राइवेट बैंक में आसानी से इंटरव्यू देकर मैनेजर की पोस्ट पा सकते हैं।

इसे भी जरूर पढ़े

सरकारी बैंक मैनेजर कैसे बने?

सरकारी बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको यह कुछ तरीके follow करने पड़ेंगे।

बैंक मैनेजर बनने के लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन करना अनिवार्य है। Graduation के बिना आपको ना तो प्राइवेट बैंक और ना ही सरकारी बैंक में मैनेजर की पोस्ट मिल सकती है।

आपको सबसे पहले बैंक PO एग्जाम को पास करना होता है। आप अपनी ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद ही बैंक में PO exam के लिए अप्लाई कर सकता है। इस पोस्ट के लिए आपका ग्रेजुएशन करना बहुत ही अनिवार्य है।

बैंक मैनेजर बनने के लिए आपका probationary officer होना जरूरी है, और probationary officer आप तब बन सकते हैं जब आप बैंक PO exam qualify कर ले। बैंक PO exam ,IBPS PO द्वारा कराया जाता है, इस एग्जाम को पास करने के बाद आप SBI Bank छोड़कर अन्य सारे बैंकों में मैनेजर बन सकते हैं। SBI Bank के लिए अलग एग्जाम होता है।SBI इसके लिए SBI PO का एग्जाम करवाया जाता है। IBPS PO का एग्जाम तीन चरणों में होता है।

  • Prelims
  • Mains
  • Interview

तीन चरणों को पास करने के बाद एक मेरिट लिस्ट निकलती है, इस मेरिट लिस्ट के द्वारा यह पता चलता है कि किस उम्मीदवार का चयन किस बैंक में हुआ है।

यदि आप SBI बैंक में मैनेजर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको SBI PO का एग्जाम देना होता है। SBI PO exam बैंक का सबसे मुश्किल एग्जाम माना जाता है। एक SBI बैंक के मैनेजर को काफी तरह की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती है। इसलिए इस एग्जाम के लिए दूसरे banking एग्जामओं की अपेक्षा में ज्यादा विद्यार्थी अप्लाई करते हैं। इस परीक्षा में competition काफी ज्यादा होता है।

इस परीक्षा के भी तीन चरण होते हैं।

  • Prelims
  • Mains
  • Interview

जितने भी विद्यार्थी Bank PO एग्जाम में पास हो जाते हैं, उन सभी को लगभग 2 साल के लिए ट्रेनिंग पर भेज दिया जाता है।

Bank PO के रूप में अपनी ट्रेनिंग को कंप्लीट करने के बाद आपको 4-5 वर्षों तक assistant manager के रूप में काम करना होता है।

Assistant manager को 4-5 वर्षों के बाद promotion मिलती है, और उन्हें promote करके Branch के Bank Manager के रूप में नियुक्त किया जाता है।

बैंक मैनेजर बनने के लिए योग्यता?

बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार के पास कुछ योग्यता होनी चाहिए।

  • जैसे कि, बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार की उम्र 20 से 30 वर्ष तक की होनी चाहिए।
  • एकाउंटिंग से संबंधित जानकारी होनी चाहिए।
  • उम्मीदवारों को बैंक मैनेजर बनने के लिए भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • बैंक मैनेजर की पोस्ट के लिए मैनेजमेंट की पोस्ट का होना जरूरी है, इसलिए उम्मीदवार के पास MBA या PGDM की डिग्री होनी चाहिए।
  • बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार को कंप्यूटर कि basic knowledge और टैली उपयोग करना आना चाहिए।
  • बैंक मैनेजर की पोस्ट के लिए उम्मीदवार को सरकारी बैंकों में IBPS की परीक्षा पास करनी होती है तथा इसके लिए उम्मीदवार का 60% अंकों के साथ बैचलर में पास होना जरूरी है।
  • प्राइवेट बैंक में बैंक मैनेजर बनने के लिए भी उम्मीदवार को PO program join करना अनिवार्य है जिसमें की 21 से 30 वर्ष तब के ग्रेजुएट उम्मीदवार 55% अंकों के साथ इस पोस्ट के लिए योग्य बन सकते हैं। इसके अलावा SC/ST और OBC के उम्मीदवारों को 5 और 3 साल तक की छूट प्रदान की जाती है।

बैंक मैनेजर के लिए आवेदन कैसे करें?

बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको आने वाली बैंक की भर्ती पर ध्यान रखना होगा, जब भी इसकी भर्ती आती है तब आपको आवेदन करना होता है। हर बैंक के लिए अलग-अलग भर्तियां आती है। इसके अलावा प्राइवेट बैंक में मैनेजर बनना आसान है। इसमें आप सीधे document जमा करवा दें और आपको interview के लिए बुलाया जाए तब आप अपने सारे document लेकर interview देने जाएं। यदि आप interview में सफल हो जाते हैं तो आपकी नौकरी आसानी से लग जाती है।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना बैंक मैनेजर कैसे बने। साथ ही हमने जाना प्राइवेट बैंक मैनेजर कैसे बने और सरकारी बैंक मैनेजर कैसे बने। इसके साथ ही हमने जाना बैंक मैनेजर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए और बैंक मैनेजर के लिए आवेदन कैसे करें। आशा है आज के इस आर्टिकल को पढ़कर आपके मन में बैंक मैनेजर कैसे बने इससे जुड़े जो भी सवाल होंगे उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅