भारत में कितने IAS है?

यदि आप भी यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं और एक आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको यह जानना अति आवश्यक है कि भारत में कितने आईएएस हैं?

आज के इस आर्टिकल में हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • भारत में कितने आईएएस हैं?
  • आईएएस कौन होते हैं?
  • आईएएस ऑफिसर का काम क्या होता है?
  • हर साल कितने आईएएस नियुक्त होते हैं?
  • एक राज्य में कितने आईएएस ऑफिसर होते हैं?

भारत में कितने आईएएस है?

DoPT के मुताबिक जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में भारत में IAS के कुल पदों की संख्या 6699 है।

यानी कि कुल 6699 पदों पर आईएएस होने चाहिए।

परंतु कुल 6699 पदों में से केवल 5205 पद पर ही आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति की गई है।

यानी कि सभी राज्यों के आईएएस ऑफिसर मिलाकर 5205 ऑफिसर ही IAS के पदों पर काम कर रहे हैं।

वर्तमान के समय में अभी भी 1494 IAS ऑफिसर के पद खाली हैं। हर साल इन आंकड़ों में थोड़ा बहुत अंतर होता है।

देशभर में जितने भी आईएएस ऑफिसर नियुक्त किए जाते हैं, उनमें से ज्यादातर direct recruited officer होते हैं, यानी कि आई एस के रूप में इनका चयन यूपीएससी की परीक्षा के द्वारा किया जाता है।

इसके अलावा state civil services मे promotion मिलने पर भी IAS में नियुक्ति होती है।

आईएएस कौन होता है?

एक आईएएस ऑफिसर को कई पदों के लिए नियुक्त किया जाता है। DM, DC, collector आदि आईएस ऑफिसर ही होते हैं।

एक आईएएस अधिकारी जिला अधिकारी के रूप में काफी ज्यादा पावरफुल होता है। एक आईएएस ऑफिसर के पास जिले के सभी विभाग की जिम्मेदारी होती है।

इसे भी जरूर पढ़ें

वह जिला अधिकारी के रूप में पुलिस विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों का भी मुखिया होता है।

District पुलिस व्यवस्था की जिम्मेदारी भी जिला अधिकारी के पास ही होती है।

साथ ही आईएस ऑफिसर का कोई ड्रेस नहीं होता वह सिविल ड्रेस में रह कर काम कर सकते हैं। उन्हें अपने संबंधित क्षेत्रों के विकास के लिए प्रस्ताव बनाने की आवश्यकता होती है।

इसके अलावा उन्हें सभी नीतियों को लागू करने के साथ साथ महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए कार्यकारी शक्तियां दी जाती है।

जिला में निषेधाज्ञा, धारा 144 इत्यादि law and order जुड़े सभी निर्णय एक डीएम ही लेता है। भीड़ पर कार्यवाही करना या फायरिंग जैसे आर्डर भी डीएम दे सकता है।

आईएएस ऑफिसर का काम क्या होता है?

एक आईएएस अधिकारी को जब क्षेत्रीय पदों पर तैनात किया जाता है, तब वह SDM या ADM , मंडलायुक्त और जिलाधिकारी के तौर पर कार्य करता है।

उस समय वह टैक्स से संबंधित कोर्ट में निर्णय आदि का काम करते हैं, तथा राजस्व एकत्रित करते हैं।

एक आईएएस अधिकारी जिले में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के प्रति उत्तरदायी होते हैं।

एक तरह से एक आईएएस अधिकारी सरकार और पब्लिक के बीच medium के रूप में काम करता है।

IAS officer संबंधित मंत्रालय या विभाग के मंत्री प्रभारी के परामर्श के अनुसार अपनी नीति का निर्माण करता है, तथा प्रशासन को कानून के अनुसार चलाने की हर संभव कोशिश करता है।

एक आईएएस अधिकारी को promotion के बाद केंद्रीय सचिवालय में सचिव, कैबिनेट सचिव, संयुक्त सचिव, अपर सचिव और राज्य सचिव में मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव के रूप में नियुक्त किया जाता है।

वहां पर इसका काम राज्य की नीति बनाने में सहयोग देने का होता है।

हर साल कितने आईएएस नियुक्त होते हैं?

हर साल कितने आईएएस ऑफिसर नियुक्त होते हैं या एक बहुत ही अहम सवाल है जिसका आज इस आर्टिकल में हम जवाब जानेंगे।

तो इसका जवाब है 108 आईएएस ऑफिसर। वर्तमान में हर साल कुल 108 पदों पर आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।

एक राज्य में कितने आईएएस ऑफिसर होते हैं?

आईएएस अधिकारी को जिले में जिम्मेदारी सौंपी जाती है।

भारत में जितने भी राज्य हैं, उन सभी राज्यों के अलग अलग जिलों की प्रशासनिक जिम्मेदारी एक आईएएस ऑफिसर की होती है।

राज्य के अनुसार देखा जाए तो अलग-अलग राज्यों में आईएएस ऑफिसरों की संख्या अलग-अलग होती है।

और इसी से सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आईएएस ऑफिसर की संख्या मिलाकर कुल आईएएस ऑफिसरों की संख्या पता चल जाता है।

  • गुजरात में कूल 65 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • राजस्थान में कुल 322 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • आंध्र प्रदेश में कूल 314 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • महाराष्ट्र में कुल 253 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • हैदराबाद में कुल 190 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • मध्य प्रदेश में कुल 183 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • तमिल नाडु मे कुल 318 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • बिहार में कुल 452 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • पंजाब में कुल 232 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • हरियाणा में कुल 190 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • दिल्ली में कुल 211 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • कर्नाटक में कुल 159 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • वेस्ट बंगाल में कुल 149 आईएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • केरला में कुल 157 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • जम्मू कश्मीर में कुल 67 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • उड़ीसा में कुल 119 आईएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • हिमाचल प्रदेश में कुल 64 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • झारखंड में कुल 60 आईएएस ऑफिसर की होती है।
  • असम में कुल 43 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • छत्तीसगढ़ में कुल 44 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • उत्तराखंड में कुल 41आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • मणिपुर में कुल 43 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • चंडीगढ़ में 35 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • अरुणाचल प्रदेश में 26 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • मेघालय में 27 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • नागालैंड में 23 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • मिजोरम में 26 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • सिक्किम में कुल 10 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • पांडिचेरी में कुल 5 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • त्रिपुरा में 19 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • गोवा में 2 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • तेलंगाना में 1 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।
  • अंडमान एंड निकोबार में 1 आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति होती है।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना भारत में कितने आईएएस हैं? साथ ही हमने जानाआईएएस ऑफिसर कौन होते हैं? इसके साथ ही हमने जाना आईएएस ऑफिसर का काम क्या होता है?

इन सभी के अलावा हमने यह भी जाना कि हर साल कितने आईएएस नियुक्त होते हैं, और एक राज्य में कितने आईएएस ऑफिसर होते हैं।

आज हमने इस आर्टिकल में इन सभी के बारे में जाना। आशा है आज के इस आर्टिकल को पढ़कर आभारत में कितने आईएएस ऑफिसर हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅