कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं | Commerce subject list in hindi

इस आर्टिकल में हम लोग कॉमर्स में कितने सब्जेक्ट होते हैं? या कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? ग्रेजुएशन में कॉमर्स में कितने सब्जेक्ट होते हैं? ग्यारहवीं कक्षा में कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? इसके बारे में विस्तार से जानेंगे।

यदि आप 10th पास करके commerce लेने की सोच रहे हैं, तो इस article के द्वारा आपको commerce की सारी जानकारी दी जाएगी। जो भी छात्र दसवीं पास करके commerce लेने की सोच रहे हैं,

उन सभी के मन में एक सवाल रहता है की commerce की पढ़ाई कैसे होगी, कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं, उन सारे विषयों में क्या पढ़ाया जाता है। आज इस article के द्वारा विद्यार्थियों को इन सभी सवालों का जवाब मिल जाएंगे।

commerce क्या होता है (what is commerce)

commerce एक stream है जो कि दसवीं के बाद विद्यार्थी लेते हैं जिनमें उनके subject विशेष हो जाते हैं। जो विद्यार्थी आगे चलकर व्यवसाय करना चाहते हैं उन बच्चों के लिए commerce stream बिल्कुल सही है। उन विद्यार्थियों के लिए commerce एक बहुत ही अच्छी career opportunity साबित होगी। जिन विद्यार्थियों की maths मैं बहुत रूचि है या जिन विद्यार्थियों को आगे चलकर बैंकिंग लाइन में जॉब लेना है उनके लिए यह एक बहुत ही अच्छी opportunity साबित होगी। commerce का अर्थ है ‘व्यवसाय’।

कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? (Commerce subject list in hindi)

कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

commerce में आप जो भी subject पढ़ते हैं वह आपको पैसों , पूंजी और व्यवसाय से संबंधित ही पढ़ाया जाता है। कॉमर्स में मुख्य तौर पर अर्थव्यवस्था के विषय के बारे में पढ़ाया जाता है इसमें हम बैंकिंग अकाउंटिंग गणित और व्यापार से संबंधित विषयों को विस्तार से पढ़ते हैं।

Commerce subject list in hindi

  •  Accountancy(अकाउंटेंसी)
  • Physical education (फिजिकल एजुकेशन)
  • Mathematics (गणित)
  • Economics (अर्थशास्त्र)
  • Entrepreneurship (एंटरप्रेन्योरशिप)
  • Business studies (बिजनेस स्टडीज)
  • Informatics practices(इनफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिसेज)
  • English (अंग्रेजी)

अब हम सारे subject के बारे में विस्तार कैसे जानेंगे:

Accountancy (अकाउंटेंसी)

यह subject पर कि आपको एकाउंट्स का ज्ञान होता है। अगर आपको किसी कंपनी में काम करना है तो आपको वहां की करेंसी आनी चाहिए। इसलिए विद्यार्थियों को अकाउंटेंसी सिखाई जाती है।

अकाउंटेंसी सीकर आप किसी भी कंपनी का पिछले साल का प्रॉफिट इस साल का प्रोफेसर यह सभी निकाल सकते हैं। इसे आप यह देख सकते हैं कि दोनों साल में आपको क्या फायदा और क्या नुकसान हुआ।

यदि आप अकाउंट इन subject को अच्छे से सीखेपढ़कर अकाउंटेंसी सीख जाते हैं तो आपको किसी भी कंपनी में बहुत ही आसानी से अकाउंट्स जॉब मिल जाएगी। एक ऐसा विषय है जो कि हमें बिजनेस को कैसे बढ़ाना है उस में मदद करता है। क्योंकि इस विषय में लोगों को कंपनी के प्रॉफिट और लॉस दोनों का पता होता है।

Mathematics (मैथमेटिक्स)

मैथमेटिक्स यह एक ऐसा विषय है जिसमें बहुत लोगों की रूचि बहुत अधिक होती है और कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनकी रूची बिल्कुल भी नहीं होती है। परंतु अगर आप commerce लेते हो तो आपको मैथमेटिक्स आना अनिवार्य है।

यह बात अलग है कि मैथमेटिक्स एक ऑप्शनल subject है। जहां पर आप मरने के अलावा और दूसरा कोई subject भी ले सकते हैं। यदि आपकी मैथमेटिक्स अच्छी नहीं है तो आप कोई और ऑप्शन subject सुन सकते हो और मैथमेटिक्स को छोड़ सकते हो।

Economics (अर्थशास्त्र)

यह विषय एक ऐसा विषय है जिसमें आपको बताया जाता है कि भारत का अर्थशास्त्र कैसा है, और भारत का अर्थशास्त्र कैसे काम करता है, और अर्थशास्त्र किसे कहते हैं और इससे जुड़ी कई अन्य जानकारी आपको दी जाती है।

आज के समय में अर्थशास्त्र एक बहुत ही बड़ा पहलू है इसलिए आपको commerce में अर्थशास्त्र के बारे में बताया जाता है अर्थशास्त्र के आधार पर सरकार कैसे काम करती है वह भी बताया जाता है।

अर्थशास्त्र एक ऐसा सामाजिक विषय है जिसकी आपको कभी भी जरूरत पड़ सकती है। इसलिए commerce में आपको अर्थशास्त्र के बारे में जानकारी दी जाती है।

Business study (बिजनेस स्टडी)

बिजनेस स्टडी subject एक तरह की जानकारी होती है जो कि बिजनेस की जानकारी होती है जो कि विद्यार्थियों को दी जाती है।जिसमें विद्यार्थियों को यह बताया जाता है कि कोई भी बिजनेस कैसे शुरू हो सकता है। किसी भी बिजनेस को शुरू करने के पीछे जो पूंजी लगती है वह कैसे लाएं।

उस बिजनेस को अच्छे से कैसे चलाएं, और उस बिजनेस की मैनेजमेंट कैसे करें, यह सभी जानकारियां को बिजनेस स्टडी subject में सिखाई जाती है। तो यह दिया बिजनेस करने की सोच रहे हो तो आपको यह सभी जानकारियां पसंद आएंगी।

Informatics practices (इनफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिसेज)

इंफॉर्मेशन प्रैक्टिसेज एक मात्र एक ऐसा विषय है जिसमें आपको दुनिया में चल रही लेटेस्ट टेक्नोलॉजी और सॉफ्टवेयर के बारे में बताया जाता है। इस विषय में आपको यह बताया जाता है कि कोई भी सॉफ्टवेयर कैसे बनता है, और उस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल भी बताया जाता है।

इस विषय में आपको यह बताया जाता है कि कोई भी सॉफ्टवेयर किसी भी कंप्यूटर लैंग्वेज में बनाया जा सकता है। कंप्यूटर में कौन-कौन से हैं,कंप्यूटर लैंग्वेज कैसे हो करती है। यदि आपको कंप्यूटर से जुड़ी जानकारी अच्छी लगती है तो आपके लिए यह विषय सबसे अच्छा है।

English (अंग्रेजी)

इंग्लिश commerce का एक बहुत ही अहम subject होता है। जो कि आपको 11वीं और 12वीं में पढ़ाया जाता है। यदि आपको अच्छे से इंग्लिश सीखनी है तो आपको इस subject की बाड़ी की को देखना होगा और इस subject को ध्यान से पढ़ते रहना होगा।

आज के टाइम पर हर जगह इंग्लिश ही चलती है और अगर आपको एक अच्छी नौकरी चाहिए तो आपको इंग्लिश आना बहुत ही अनिवार्य है। यदि आपको इंग्लिश लिखने और बोलने आती है तो आप कहीं भी बहुत ही आसानी से नौकरी कर सकते हो।

आज के समय में इंग्लिश ना आना एक बहुत ही गंभीर समस्या है इसलिए आपको commerce में इंग्लिश भी पढ़ाया जाता जिसमें आपको इंग्लिश के ग्रामर के बारे में भी बताया जाता है। जिससे कि आप बहुत ही आसानी से इंग्लिश सीख लो और कहीं भी आसानी से काम कर पाओ।

यह सारे सब्जेक्ट हम 12वी तक पढ़ते हैं।

ग्रेजुएशन में कॉमर्स में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी करने के बाद जब हम ग्रेजुएशन में दाख़िला लेते हैं तो ग्रेजुएशन में भी हमारे पास कॉमर्स में कई सारे सब्जेक्ट है, ग्रेजुएशन कॉमर्स के ऋण सब्जेक्ट में अंडर ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करते हैं।

इस कोर्स में हम कॉमर्स के किसी एक सब्जेक्ट में पढ़ाई करते हैं और साथ ही साथ इसमें आपको कामर्स और भी विभिन्न विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है। ग्रेजुएशन में कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं उनके लिए नीचे दिये हुए:

B.Com subjects

(Main subjects)

  • Audit
  • Business law
  • Cost accounting
  • Management accounts
  • Income tax
  • Accountancy
  • Business mathematics
  • Specialised accounting

BCom subsidiary subjects:

  • Economics
  • Money and banking
  • Business organisation
  • English and Hindi

यह सभी विषय आपको ग्रेजुएशन में पढ़ने होते हैं।

Conclusion:

आज के इस article में हमने commerce stream की सारी जानकारी ली, यह जाने की कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं?, यह भी जाने की commerce क्या होता है। और commerce stream में कौन-कौन से विषय होते हैं वो भी जाना।

साथी हम ने इन सभी विषयों के बारे में अच्छे से जाना और चर्चा की, इसके साथ ही हमने जाना कि commerce किस टाइप के विद्यार्थी चुनते हैं, और commerce लेने के क्या क्या लाभ है।हमने यह भी जाना कि ग्रेजुएशन में कौन-कौन से कॉमर्स के विषय है।

आशा है कि आज के इस article से आपके मन में commerce को लेकर जो भी सवाल होंगे कौन सा भी तो जवाब आपको मिल गए होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅