डी फार्मा की फीस कितनी है? | D Pharma ki fees kitni hai

Advertisements

आज हम जानेंगे कि डी फार्मा की फीस कितनी है? (D Pharma ki fees kitni hai) या डी फार्मा में कितने खर्चे होते हैं?

Advertisements

डी फार्मा करने की फीस कुछ हजार रुपए से लाखों रुपए तक हो सकती है। जैसे किसी कॉलेज में डी फार्मा की फीस 5000 प्रति वर्ष (सरकारी कॉलेज) भी हो सकती है एवं किसी अन्य कॉलेज में यह 3-4 लाख (private college) तक की भी हो सकती है।

डी फार्मा कोर्स को करने की कोई एक निर्धारित फीस नहीं है, इसका मतलब है कि फीस अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग होती है। आपके किस राज्य से डी फार्मा का कोर्स कर रहे हैं आपकी फीस इस पर भी डिपेंड करेगी। आप किस कॉलेज से बी फार्मा का कोर्स कर रहे हैं यह इस पर भी निर्भर करता है। सरकारी कॉलेज से कर रहे हैं या प्राइवेट कॉलेज से कर रहे हैं फीस इस पर भी निर्भर करता है।

डी फार्मा की फीस कितनी है? (D Pharma ki fees kitni hai)

डी फार्मा की फीस कितनी है?

जब फीस की बात होती है तो मुख्य रूप से इसे दो भागों में बांट कर देखा जा सकता है। पहला यदि आप सरकारी कॉलेज से d-pharma करते हैं तो कितना खर्चा आएगा और दूसरा कि अगर आप एक प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करते हैं तो कितना खर्चा आएगा।

सरकारी डी फार्मा कॉलेज की फीस

अगर आप फार्मेसी के क्षेत्र में अपना करियर बनाने की सोच रहे हैं,और उसके लिए डी फार्मा यानी डिप्लोमा इन फार्मेसी का कोर्स करना चाहते हैं तो आपके लिए सबसे बेहतर विकल्प होगा कि आप एक सरकारी कॉलेज से अपना डी फार्मा का कोर्स पूरा करें।

लगभग हर छात्र जो डी फार्मा करना चाहता है, वह यही चाहता है कि उसे यह कोर्स करने के लिए सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाए। इसका सबसे बड़ा कारण होता है सरकारी कॉलेज की फीस। सरकारी कॉलेज में d Pharma जैसे कोर्स को करने की फीस काफी कम होती है यदि उसे प्राइवेट कॉलेज की फीस से कंपेयर किया जाए तो।

एक सरकारी कॉलेज में दाखिला लेने के लिए डी फार्मा का एंट्रेंस एग्जाम यानि उसकी प्रवेश परीक्षा देनी होती है, जिसके परिणाम में आपकी क्या रैंक आई है उसके अनुसार आपको कॉलेज मिलता है। इसलिए एक सरकारी कॉलेज में दाखिला पाना चाहने वाले अभ्यर्थि के लिए इसके एंट्रेंस एग्जाम यानी प्रवेश परीक्षा की अच्छी तरह से तैयारी करना जरूरी हो जाता है।

यदि एक औसत की बात की जाए तो सरकारी कॉलेज से डी फार्मा करने में औसतन 5000 से 25 हजार प्रतिवर्ष खर्च आता है, और क्योंकि डी फार्मा एक 2 साल का कोर्स होता है तो 2 साल में  यह खर्च 10 से 50 हज़ार का हो जाता है।

यह सिर्फ एक औसत खर्च है यानी अलग-अलग सरकारी कॉलेज से डी फार्मा करने की फीस अलग-अलग होगी। कुछ सरकारी कॉलेजों में  यह फीस 4 से 5 हज़ार प्रतिवर्ष तक की भी हो सकती है वही किसी दूसरे सरकारी कॉलेज में यह 20 से 25 हजार रुपए प्रतिवर्ष तक की भी हो सकती है। इस फीस में आपके कॉलेज की सभी प्रकार की फीस शामिल रहती है।

आप किस राज्य के सरकारी कॉलेज में डी फार्मा का कोर्स कर रहे हैं, आपका फीस इस पर भी निर्भर करेगा। उदाहरण के लिए उत्तर प्रदेश राज्य के सरकारी कॉलेज से डी फार्मा करने की फीस अलग हो सकती है एवं झारखंड के किसी सरकारी कॉलेज से डी फार्मा करने की फीस अलग हो सकती है, college to college फीस vary करती है यानी अलग अलग कॉलेजों के लिए यह अलग अलग होगी। वास्तव में किस कॉलेज की फीस कितनी है इसका पता कॉलेज के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर लगाया जा सकता है।

Private डी फार्मा कॉलेज की फीस

ज्यादातर छात्रों की पहली पसंद किसी प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करना नहीं होता है। जिसका जाहिर तौर पर सबसे बड़ा कारण है प्राइवेट कॉलेज की ज्यादा फीस। किसी सरकारी कॉलेज की तुलना में प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करने में आपको काफी ज्यादा खर्चा लगता है।

जहां किसी सरकारी कॉलेज में आपको प्रतिवर्ष कुछ हजार रुपए लगते हैं वही किसी प्राइवेट कॉलेज में यह प्रतिवर्ष लाखों रुपए तक हो सकता है। कुछ कॉलेजों में आपको डी फार्मा में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा देनी होती है जबकि कुछ में मेरिट के आधार पर ही आपका दाखिला हो जाता है।

यदि बात की जाए एक औसत की तो किसी प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करने पर हर साल का फीस 50,000 से 2/2.5 लाख तक भी जा सकता है। जिससे कि पूरे कोर्स को करने का खर्च 100000 से 500000 तक चला जाता है।

सभी प्राइवेट कॉलेज की फीस भी एक समान नहीं होती है। किसी एक प्राइवेट कॉलेज की फीस 50000 प्रति वर्ष की हो सकती है वहीं किसी दूसरे प्राइवेट कॉलेज में  यह दो से ढाई लाख प्रति वर्ष तक का हो सकता है। किसी प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करने के दौरान आपको किसी सरकारी कॉलेज की तुलना में ज्यादा facilities यानी सुविधाएं मिलती है। इसके अलावा आप किस राज्य के कॉलेज से यह कोर्स कर रहे हैं या बात भी आपके कॉलेज फीस को प्रभावित करती है। इसमें ट्यूशन फीस, लाइब्रेरी फीस इत्यादि जैसे सभी फीस सम्मिलित होते हैं।

डी फार्मा में अन्य खर्च

सिर्फ कॉलेज फीस के अलावा अन्य और भी खर्चे हो सकते हैं। जैसे यदि आप इस कोर्स को करने के दौरान अपने घर में न रहकर बाहर कहीं रहते हैं तो उसमें आपका किराया और अन्य कुछ खर्च भी जुड़ता हैं। किसी होस्टल या अन्य जगह रूम लेकर रहने से रूम/हॉस्टल का किराया इसमें जुड़ता है।

रूम या हॉस्टल के किराए के साथ-साथ इसमें आपका खाने पीने का खर्च भी जुड़ेगा। इन सारे खर्चों का निर्धारण आप अपने अनुसार कर सकते हैं। यदि आप बाहर रहते हैं तो खाने पीने पर कितना खर्च करेंगे यह अपनी क्षमता अनुसार निर्धारित कर सकते हैं। हर किसी के लिए यह खर्च अपने अपने अनुसार अलग-अलग हो सकता है।

रहने और खाने-पीने के साथ-साथ अन्य कुछ खर्च भी होते हैं। जिनमें दूसरी जरूरी चीजों का खर्च, आवाजाही में होने वाला यातायात पर खर्च, इत्यादि आते हैं। ये सारे खर्च जरूरी नहीं होते हैं यह निर्भर करता है आपके ऊपर। यह आपके कॉलेज फीस से अलग खर्चे होते हैं। यदि आप घर पर रहकर ही  इस कोर्स को करते हैं तो इस प्रकार के खर्च कि कोई आवश्यकता ही नहीं पड़ती है।

Advertisements

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *