Facebook किस देश की कंपनी है? | Facebook kis Desh ki company hai

आज हम जानेंगे कि फेसबुक किस देश की कंपनी है? (Facebook kis Desh ki company hai) या फेसबुक कहां की कंपनी है? तथा फेसबुक का मालिक कौन है?

Facebook ‘ अमेरिका ‘ की कंपनी है।

आज के समय में एक स्मार्टफोन या इंटरनेट यूज करने वाला शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे फेसबुक का नाम ना सुना हो। देश का लगभग हर नागरिक जो एक स्मार्टफोन या फिर इंटरनेट इस्तेमाल करता है, फेसबुक का इस्तेमाल करता ही होगा।

हमारे देश के ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के ज्यादातर लोग सबसे पहली सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या सोशल मीडिया कंपनी के रूप में फेसबुक को ही जानते हैं। आज के समय में अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफार्म हमारी दिनचर्या का एक अहम हिस्सा बन चुकी है, ऐसे में सबसे बड़ी और सबसे पहली सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के रूप में फेसबुक का ही नाम आता है।

आज के समय में फेसबुक इस्तेमाल करने वाले यूजर पूरी दुनिया भर में है। दुनिया की सिर्फ एक बड़ी country चाइना को छोड़ दें तो बाकी दुनिया भर के देश के लोग फेसबुक का इस्तेमाल करते हैं। चाइना में फेसबुक और इस जैसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बैन लगा हुआ है। पूरी दुनिया भर के लोगों के द्वारा फेसबुक का इस्तेमाल किए जाने के कारण फेसबुक की दुनिया भर में अरबों यूजर है जो रोजाना या नियमित रूप से अपनी अपनी जरूरत के हिसाब से फेसबुक का इस्तेमाल करते हैं।

फेसबुक को सोशल मीडिया नेटवर्किंग में सबसे बड़ा माना जाता है क्योंकि ऑनलाइन सोशल मीडिया की शुरुआत ज्यादातर लोगों के लिए फेसबुक से ही हुई थी। वर्तमान में इंटरनेट का उपयोग काफी बढ़ा है, साथ ही इंटरनेट में इस जैसी अनेक वेबसाइट आ गई है जो सोशल नेटवर्किंग का काम करती है परंतु इन सभी में  फेसबुक सबसे लोकप्रिय साइट है। यह सोशल मीडिया के सबसे पुरानी और सबसे लोकप्रिय साइट है। ऐसे में जहां फेसबुक का इस्तेमाल पूरी दुनिया भर के इतने सारे लोगों द्वारा किया जाता है कई बार यह प्रश्न एक यूजर के मन में उठ सकता है कि फेसबुक असल में किस देश की कंपनी है?  इसका मालिक कौन है?  इत्यादि।

Facebook किस देश का कंपनी है?

मूल रूप से फेसबुक का आविष्कार एक अमेरिकी नागरिक के द्वारा किया गया था जिससे की फेसबुक एक अमेरिकन कंपनी बन जाती है।

बहुत से लोगों को यह बात पता नहीं हो सकती है की फेसबुक के अलावा अन्य दो और एप्लीकेशन जिसका इस्तेमाल लोगों द्वारा काफी ज्यादा किया जाता है जिनमें व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम का नाम आता है इन दोनों ही को फेसबुक own करता है, यानी व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम का मालिकाना हक भी फेसबुक के पास ही है। इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप चलाते वक्त आप उन दोनों ही एप्लीकेशन के नीचे from facebook लिखा हुआ देख सकते हैं जिससे पता चलता है कि इन दोनों  कंपनियों को भी फेसबुक ही चलाता है। जिससे कि फेसबुक के साथ-साथ इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप भी एक अमेरिकी कंपनी बन जाती है।

वर्तमान समय में फेसबुक पूरी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। आज के समय में फेसबुक एक मल्टीनैशनल कंपनी है जिसके द्वारा व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम जैसी पॉपुलर applications को बिलियन अमेरिकी डॉलर देकर खरीद लिया गया है। इस तरह के कार्यों से फेसबुक सोशल मीडिया में अग्रणी कंपनी बना हुआ है। फेसबुक एक privately owned कंपनी है जिसका मुख्यालय यानी हेड क्वार्टर Palo Alto, California में स्थित है जो कि संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में है।

फेसबुक का मालिक कौन है?

फेसबुक किसकी कंपनी है? – यदि बात करें कि फेसबुक कंपनी का मालिक कौन है तो जवाब होगा कि फेसबुक के मालिक Mark Zuckerberg है। इनके द्वारा फरवरी 2004 में फेसबुक का आविष्कार किया गया था। Mark Zuckerberg को ही फेसबुक के संस्थापक के तौर पर जाना जाता है। इनका पूरा नाम Mark Elliot Zuckerberg है।

आज के समय में मार्क ज़ुकेरबर्ग फेसबुक कंपनी का कार्यभार संभाल रहे हैं, वे फेसबुक के चेयर पर्सन और सीईओ यानी चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के तौर पर कार्य कर रहे हैं। मार्क ज़ुकेरबर्ग खुद ही अपनी कंपनी चलाते हैं।

मार्क जुकरबर्ग  का जन्म 14 मई 1984 को अमेरिका के न्यूयॉर्क में हुआ था। शुरुआत से ही टेक्नोलॉजी के प्रति अपने दिलचस्पी और रुझान के चलते इन्होंने हावर्ड यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई पूरी की। यूनिवर्सिटी में अपने पढ़ाई के दौरान ही अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर इनके द्वारा फेसबुक नाम की एक साइट बनाई गई थी, जो उस समय के हिसाब से एक अलग और अनोखी वेबसाइट थी इसी कारण काफी कम समय में फेसबुक एक लोकप्रिय वेबसाइट बनी।

इसे जरूर पढ़ें?

फेसबुक कंपनी को सफल बनाने के लिए इसके संस्थापक द्वारा काफी मेहनत की गई है। आज के समय में फेसबुक इंटरनेट का एक अहम हिस्सा बन चुका है, एक प्रकार से पूरे इंटरनेट में गूगल और यूट्यूब के बाद फेसबुक तीसरी सबसे बड़ी वेबसाइट है, यानी गूगल और यूट्यूब के बाद फेसबुक यूज करने वाले यूजर की संख्या सबसे बड़ी है। फेसबुक की लोकप्रियता  और इस साइट का business के तौर पर काम करने से मार्क ज़ुकेरबर्ग पूरी दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल है। 2020 की सूची के अनुसार मार्क ज़ुकेरबर्ग पूरी दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में छठे स्थान पर थे जिनकी कुल संपत्ति 66 बिलियन यूएस डॉलर के करीब  थी।

Facebook क्या है?

आसान भाषा में फेसबुक  एक मुफ्त सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट है। यह एक बहुत ही लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट है। फेसबुक अपने रजिस्टर्ड यूजर्स को फेसबुक में अपना प्रोफाइल क्रिएट करने, उसमें फोटोस और वीडियोस अपलोड करने, किसी दूसरे फेसबुक इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति को मैसेज सेंड करने, या कुल मिलाकर अपने दोस्तों, फैमिली और colleagues के साथ कनेक्टेड रहने की सुविधा प्रदान करता है।

Facebook पूरी तरह से मुफ्त वेबसाइट है जिसे इस्तेमाल करने के लिए आपको किसी प्रकार का कोई पैसा देना नहीं होता सिर्फ आपको इंटरनेट से कनेक्ट रहने की आवश्यकता पड़ती है। यह इस्तेमाल करने के लिए कई अलग-अलग भाषाओं में उपलब्ध है जिसे यूजर्स अपने हिसाब से चुन सकते हैं।

फेसबुक डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें?

Facebook कैसे बना? [इतिहास]

फेसबुक के इतिहास में, 2004 में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र मार्क जुकरबर्ग, Dustin Moskovitz और Chris Hughes के द्वारा एक वेबसाइट डिजाइन की गई थी जिसका उद्देश्य वहा के छात्रों को एक दूसरे के संपर्क में लाना था, जहां से वह सभी नए छात्रों से जुड़ सकें और फोटो इत्यादि शेयर कर सके। उनके द्वारा इस वेबसाइट का नाम thefacebook.com रखा गया था।

बहुत ही कम समय में यह काफी पॉपुलर हो गई जिससे दूसरे कॉलेज के छात्र भी इससे जुड़ने लगे और कुछ समय के भीतर ही इसका इस्तेमाल करने वालो की संख्या मिलियन में पहुंच गई। बाद में इसकी मेंबरशिप सभी के लिए खोल दी गई। फेसबुक के अनुसार इस सोशल नेटवर्किंग साइट के 100 मिलियन से भी ज्यादा एक्टिव यूजर्स है।

आज के समय में लगभग हर कोई फेसबुक चलाता है और फेसबुक चलाना जानता है। फेसबुक का इस्तेमाल करने के लिए आपको पहले फेसबुक में एक अकाउंट बनाना होता है जिसके लिए आपको एक मोबाइल नंबर यूजर नेम और पासवर्ड इत्यादि की आवश्यकता पड़ती है। अकाउंट बना लेने के बाद आप फेसबुक चला सकते हैं जिसमे आप नए लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर आप फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर के फ्रेंड बना सकते हैं। फेसबुक में आप अपने फ्रेंड से टेक्स्ट मैसेजिंग में चैट कर सकते हैं उन्हें कोई फोटो वीडियो या मीडिया भी भेज सकते हैं। इसके अलावा फेसबुक पर पोस्ट किए जाने वाले अलग-अलग पोस्ट को अपने फेसबुक फीड पर देख सकते हैं।

Facebook पैसे कैसे कमाती हैं?

फेसबुक अपनी ज्यादातर कमाई एड्स यानी प्रचार के जरिए करती है, यह आपके फोन से डाटा यानी जानकारी लेकर उसके हिसाब से आपको एड्स दिखाती है। फेसबुक में और भी कई सारे फीचर्स मौजूद होते हैं –

Facebook में क्या-क्या फीचर्स है?

इसमें आप ग्रुप्स बना सकते हैं जिससे ग्रुप के मेंबर एक दूसरे के साथ interect कर सकते हैं। जो यूजर्स कॉमन इंट्रेस्ट रखते हैं फिर ग्रुप बनाकर चैट कर सकते हैं। पब्लिक या प्राइवेट दोनों ही ग्रुप बनाए जा सकते हैं पब्लिक में हर कोई ज्वाइन कर सकता है और प्राइवेट में इनवाइट मिलने पर ही ज्वाइन किया जा सकता है।

फेसबुक के यूजर अपना पेज बना सकते हैं यह मेंबर्स को कुछ क्रिएट और प्रमोट करने के लिए एलाऊ करता है जो किसी स्पेसिफिक टॉपिक पर हो सकता है।

Facebook के यूजर इससे यह देख सकते हैं कि उनसे कौन-कौन जुड़ा है, वे किनसे चैट कर सकते हैं, अन्य features में आप फेसबुक पर लाइव आ सकते हैं लाइव वीडियो स्ट्रीमिंग  इत्यादि कर सकते हैं। 

इन सबके अलावा भी फेसबुक में और कई फीचर्स यूजर्स के लिए उपलब्ध होती है। आप किसी के पोस्ट पर लाइक कमेंट या शेयर कर सकते हैं। अपना खुद का फोटो या वीडियो अपलोड कर सकते हैं।

समय के साथ फेसबुक का इस्तेमाल बढ़ता ही जा रहा है रोजाना इसमें यूजर आते जा रहे हैं, जिस कारण फेसबुक अपने मेकैनिजम्स कंटेंट और प्राइवेसी मैनेजमेंट को इंप्रूव करने की कोशिश कर रहे हैं जिससे कि यूजर कों अच्छा अनुभव मिले। अभी फेसबुक में करीब 2.3 बिलियन रजिस्टर्ड यूजर है।

Facebool की सिक्योरिटी और privacy

जाहिर है फेसबुक का इस्तेमाल पूरी दुनिया भर में बहुत से लोग करते हैं और क्योंकि एक फेसबुक एक मुफ्त वेबसाइट है इसीलिए यह अपनी कमाई एड्स यानी प्रचार के जरिए करती है। फेसबुक में अकाउंट बनाते समय यह आप से परमिशन लेता है आपके फोन या कंप्यूटर से आप की जानकारी लेने की जिसके हिसाब से आपको इसमें ऐड देखने को मिलता है।

कुछ समय पहले फेसबुक में ही दुनिया का सबसे बड़ा data leak का केस सामने आया था। इस खबर के अनुसार फेसबुक में अपने बहुत सारे यूजर का डाटा शेयर किया था। इन यूजर्स की संख्या मिलियंस में थी यानी बहुत सारे लोगों का डाटा एक साथ लीक हुआ था जिस कारण फेसबुक पर बहुत सारे एलिगेशंस भी लगाए गए थे। यह घटना उस समय के यूएस इलेक्शन के समय हुई थी। इस डाटा leak के कारण ही फेसबुक को सिक्योरिटी और प्राइवेसी के दृष्टिकोण से थोड़ा खराब  माना जाने लगा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Online पैसे कैसे कमाए 40,000 महीना