आईआईटी (IIT) क्या है?, कैसे करें? | Complete Information Of IIT In Hindi

आईआईटी क्या है? (IIT kya hai), आईआईटी कैसे करें? (IIT kaise kare) या आईआईटी कितने साल का होता है? (IIT course kitne saal ka hota hai) क्या क्वालिफिकेशन चाहिए? आईआईटी करने के फायदे? (IIT karne ke fayde) इससे सैलरी कितनी मिलती है? इससे भविष्य में क्या बना जा सकता है? आईआईटी करने के बाद क्या करें? (IIT karne ke baad kya kare)

हर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाने की सोचने वाले छात्र ने आईआईटी का जिक्र एक न एक बार जरूर सुना होता है। एक अच्छे आईआईटी कॉलेज से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करके इंजीनियरिंग में अच्छा करियर बनाना हर छात्र का सपना होता है। 12वीं के बाद जिन छात्रों ने साइंस स्ट्रीम को चुना होता है और आगे इंजीनियरिंग के क्षेत्र में पढ़ाई करना चाहते हैं। वे पूरे लगन से आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करते हैं जिससे उन्हें एक अच्छा आईआईटी कॉलेज मिल सके ।

आईआईटी (IIT) क्या है?, कैसे करें?

दोस्तो कई छात्र ऐसे भी होते हैं जिनकी इंजीनियरिंग में रुचि होती है लेकिन आईआईटी क्या है, इसकी तैयारी कैसे करें ?इसके लिए क्वालीफिकेशंस क्या चाहिए? इसके बाद क्या होता है? इसके फायदे ,इत्यादि के बारे में पूरी तरह जानकारी नहीं होती।

आज इस लेख में हम विस्तार में जानेंगे की आईआईटी क्या है इसकी तैयारी कैसे करते हैं इसके लिए क्वालिफिकेशन, इसके फायदे एवं इससे जुड़ी हर तरह के सवालों के बारे में। तो आइए एक एक करके इन सभी बातों पर विस्तार में प्रकाश डालते हैं।


आईआईटी (IIT) क्या है? (What is IIT In Hindi)

IIT kya hai – दोस्तों आईआईटी का पूरा नाम इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी है इसे हिंदी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहते हैं। यह भारत में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का एक सार्वजनिक संस्थान है। शिक्षा के क्षेत्र में आईआईटी भारत के सबसे प्रमुख संस्थानों में से एक है। आईआईटी की परीक्षा स्नातक यानी ग्रेजुएशन स्तर पर प्रवेश के लिए ली जाती है।

दोस्तों पूरे देश भर में हर साल आईआईटी में प्रवेश के लिए परीक्षा ली जाती है जिसमें लाखों युवा कड़ी मेहनत करके उस में प्रवेश पाने के लिए प्रतिस्पर्धा करते हैं। दोस्तों पूरे देश भर में कुल 23 आईआईटी कॉलेजेस है जिनमें नामांकन के लिए आपको आयआयटी की एंट्रेंस एग्जाम को कॉलीफैक करना होता है।

आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी काफी कठिन होती है, इसके लिए लाखों छात्र साल भर मन लगाकर पढ़ाई करते हैं, आईआईटी की एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करवाने के लिए देश में कई बड़े और छोटे संस्थान हैं जो विशेष रूप से इस एंट्रेंस एग्जाम को क्वालीफाई करवाने के उद्देश्य से शिक्षा देते हैं।

फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स स्क्रीन के छात्र इस परीक्षा में बैठ सकते हैं , परीक्षा का प्रश्न पत्र इन्हीं सब्जेक्ट पर आधारित होता है। दोस्तों आईआईटी कॉलेजों से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करने वाले छात्र अच्छी बड़ी आईटी कंपनियों में अच्छी सैलरी के साथ जॉब प्राप्त करते हैं।


आईआईटी कैसे करें? (How to do IIT?)

IIT kaise kare – दोस्तों सबसे पहले आईआईटी में प्रवेश पाने के लिए उसके एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी बहुत ही अच्छी तरह से करना जरूरी होता है आईआईटी एंटरेंस एक्जाम पास करके ही आप उस एग्जाम में प्राप्त हुए नंबरों के आधार पर किसी अच्छे आयटी कॉलेज में दाखिला पा सकते हैं।

दोस्तों ज्यादातर छात्र जो आईआईटी कॉलेज में पढ़कर इंजीनियर की डिग्री पाना चाहते हैं वे दसवीं के बाद ही उसके एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी जोर शोर से करना शुरू कर देते हैं, यह छात्र साइंस स्ट्रीम यानी फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ्स पढ़ने वाले होते हैं। दोस्तों आयआयटी करने की सोच रहे हैं छात्रों को 2013 से इसके एंट्रेंस एग्जाम के लिए जेईई मेंस और उसे क्वालीफाई करने के बाद जेईई एडवांस की परीक्षा से गुजरना होता है।

जेईई मेंस का क्वालीफाई करके ही आप जेईई एडवांस की परीक्षा में बैठ सकते हैं। दोस्तों हर साल लाखों छात्र इसके लिए तैयारी करके आवेदन करते हैं जबकि कुछ 10000 छात्रों का ही चयन इसमें हो पाता है अतः यहां प्रतिस्पर्धा बहुत होती है। अगर बात करें इसके एग्जाम पैटर्न की दो या दो पेपरों में कराई जाती है।

  • पहले पेपर में बी बीटेक यानी फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ्स के कुल 90 प्रश्न चार चार अंकों यानी कि कुल 360 अंकों का होता है।
  • Second paper मे math के 30 question होते है जिसका पुणांक 120 होता है और aptitude test के 50 question होते है जो 200 अंको के होते है और drawing test के के 2 question होते है जोकि 70 अंको का होता है।

इसकी परीक्षा अवधि 3 घंटे की होती है। यानी कुल मिलाकर एक अच्छे आईआईटी कॉलेज में दाखिला लेने के लिए आपको पूरे जोर-शोर से इसके एंट्रेंस एग्जाम की हर तरीके से तैयारी करनी होती है।


आईआईटी कितने साल का होता है? (IIT Course Duration In Hindi)

IIT course kitne saal ka hota hai – दोस्तों सबसे पहले इस बात को समझ ले कि       आईआईटी कोई कोर्स नहीं है आईआईटी एक संस्थान है जिसमें आप इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर उस की डिग्री प्राप्त करके किसी अच्छे नौकरी के लिए योग्य बनते हैं।

आईआईटी जैसे संस्थान में पढ़ने के दौरान आप बी टेक m-tech जैसी डिग्रियों को पाकर डिग्री धारक बनते हैं। इसीलिए साल आईआईटी का नहीं बल्कि आईआईटी जैसे संस्थान में पढ़ने के दौरान बीटेक, एमटेक जैसी कोर्स को करने में लगने वाला समय होता है।

दोस्तों अगर सीधे-सीधे अवधि की बात करें तो बीटेक जैसे डिग्री प्राप्त करने में 4 साल लग सकते हैं एवं संयुक्त रूप से 6 साल भी लगते हैं। वहां पढ़ाई करने के दौरान अगर आप किसी विशेष वर्ष में फेल होते हैं तो आपको उसे बाहर आना पड़ेगा। यानी सीधे-सीधे 6 साल की अवधि में आप एक योग्य इंजीनियर बनने की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।


आईआईटी के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए?

IIT course ke lye qualifications – दोस्तों आईआईटी मे दाखिला आपकी 12वीं पूरी हो जाने के बाद उसके लिए जो एंट्रेंस एग्जाम यानी जेईई मेंस और उसके बाद जेईई एडवांस में प्राप्त अंकों के आधार पर होती है।

दोस्तों अगर न्यूनतम योग्यता की बात करें तो आपका 12वीं में साइंस स्ट्रीम से कम से कम 75% मार्क्स होना अनिवार्य है। परंतु ज्यादातर छात्र जो इस में दाखिला पाते हैं उनके अंक 90% उससे अधिक या उसके आसपास ही होते हैं यानी कि आपकी 12वीं के बोर्ड परीक्षा में जिन 20 परसेंट छात्रों ने सबसे अधिक अंक लाए होते हैं आईआईटी में दाखिले के लिए वही सबसे अधिक योग्य होते हैं।

10th मार्क्स के आधार पर न्यूनतम योग्यता बदलती रहती है। यह विभिन्न फोटो के मूल्यांकन पर निर्भर करता है, इसीलिए यह आवश्यक है कि आप cut off marks और उससे संबंधित जानकारियों से अपडेटेड रहे। दोस्तों आईआईटी जैसे संस्थान में दाखिले के लिए अगर आज की बात करें तो वह न्यूनतम 17 वर्ष की होनी चाहिए।

दोस्तों एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया में अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति एवं डिसएबल यानी विकलांग छात्रों को छूट भी दी जाती है। सामान्य वर्ग की तुलना में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के छात्रों को कम आंखों पर भी आया कि में दाखिला मिलता है।


आईआईटी करने के फायदे (Benefits of IIT in hindi)

IIT karne ke fayde – दोस्तों आईआईटी कॉलेज में दाखिला मिलने एवं वहां से डिग्री पाने के अनेकों फायदे हैं। सीधे तौर पर अगर आप आईआईटी कॉलेज से डिग्री पा लेते हैं तो कैंपस प्लेसमेंट के बाद आपको आसानी बड़ी आईटी कंपनियों मे, manufacturing units आदि जैसे संस्थानों में अच्छे पदों पर नौकरियां मिल जाती है।

यानी अगर आप सीधे आसान तरीके से नौकरी पाने की चाह रखते हैं तो एक अच्छे हैं तो एक अच्छे आईआईटी कॉलेज से कैंपस सलेक्शन हो जाना आपके लिए सबसे बेहतरीन विकल्प होता है। इसके अलावा एक अच्छे आईटी कॉलेज में पढ़ने से आपके अंदर अच्छे ज्ञान एवं अच्छे अनुभव का हमेशा विस्तार होता है आप और ज्यादा योग्य बनते हैं।

IIT कॉलेजेस मैं आपको और भी कई तरह के बेनिफिट और फायदे मिलते हैं, जिनमे डिस्काउंट, फ्री डॉक्टर कंसल्टेशन आदि शामिल है। इन सबके अलावा आईआईटी यानि इंजीनियरिंग के प्रोफेसन आपको सेल्फ रिस्पेक्ट यानी  इज्जत भी मिलती है।

आईआईटी कॉलेजेस में आपको बेहतरीन लैब फैसिलिटीज और हर  प्रकार की कंप्यूटर सुविधा जैसे बेनिफिट्स भी मिलते हैं। जिन के उपयोग से आप अपने ज्ञान के स्तर के और प्रभाकर खुद को और बड़े पदों के लिए योग्य बना सकते हैं।


आईआईटी करने के बाद क्या करें? (What To Do After IIT)

IIT karne ke baad kya kare – दोस्तों अगर आपने एक बढ़िया आया कि संस्थान से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त कर ली है तो सबसे अच्छा और सबसे सुरक्षित विकल्प होते हैं कि कैंपस प्लेसमेंट में select होकर आप किसी अच्छे कंपनी में नौकरी लेकर सेट हो जाए ज्यादातर छात्र आईआईटी यानी बीटेक एमटेक के बाद इसी चीज को सबसे ज्यादा महत्व देते हैं।

परंतु आईआईटी कॉलेज से पढ़ने के बाद यह जरूरी नहीं कि आप इंजीनियरिंग क्षेत्र में ही अपना भविष्य बनाने के लिए बाध्य हो गए हैं। अगर आईआईटी करने के बाद आपकी रुचि बदलती है तो इसके बाद भी करियर में आगे और बहुत सारे ऑप्शन सोते हैं। जैसे अगर आपका झुका मार्केटिंग और सेल्स आदि की तरफ होता है तो आप एमबीए भी कर सकते हैं।

अगर बीटेक एमटेक के बाद आपकी रुचि सिविल सर्विसेज की तरह झुकती है तो बिना किसी दिक्कत क्या आप सिविल सर्विसेज की प्रिपरेशन कर अफसर भी बन सकता है। इसके अलावा कई तरह के ऐसे शॉर्ट टर्म कोर्सेज भी होते हैं जिन्हें आईआईटी के बाद किया जा सकता है। इनमें सर्टिफिकेट एम्‍बडेड टेक्‍नोलॉजी, वीएलएसआई, रोबोटिक्‍स, एथिकल हैकिंग, प्रोटोकॉल टेस्‍टिंग, मशीन डिजाइनिंग आदि जैसे कोर्सेज शामिल है।


IIT करने के बाद सैलरी (Salary After IIT)

IIT karne ke baad Salary – दोस्तो जाहिर है अगर आपने आईआईटी जैसे संस्थान से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है तो निश्चय ही आप एक बेहतर सैलरी वाले जॉब की आशा रखते होंगे।

दोस्तों अगर सीधे-सीधे सैलरी की बात करें तो अगर आप अपने सब्जेक्ट विशेष में एक्सपर्ट है, आपने अपने कोर्स के दौरान सही ज्ञान और अनुभव को हासिल किया है तो बहुत से बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी मैं बड़े पदों पर आपको साल का लाखों का पैकेज भी मिल सकता है।

बड़े आईटी कंपनियों और उन जैसे बड़े संस्थानों में योग्य उम्मीदवारों की जरूरत हमेशा रहती है। आज देश में इस तरह के संस्थानो की कोई कमी नहीं है एवं में काम करने के लिए योग्य युवाओं के पास में अवसरों की कोई कमी नहीं है। अगर आप योग्य होते हैं, आपके पास सही ज्ञान और अनुभव होता है, तो आपका साल का अनेक लाखों का पैकेज लगता है।

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अच्छी नौकरी मिलने पर आप महीने के लाखों रुपए कमाने की योग्यता भी रखते हैं।


Conclusion

दोस्तों आज के समय में अगर करियर चुनने की बात हो तो इंजीनियरिंग का नाम किसके मन में नहीं होता है। बहुत से छात्रों के लिए इंजीनियरिंग ही उनके करियर का पहला विकल्प होता है। सभी छात्र इंजीनियरिंग करके , इंजीनियरिंग की डिग्री लेकर एक अच्छी सैलरी के साथ एक अच्छी नौकरी लेकर अपने भविष्य को सुरक्षित करना चाहते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए