कपालभाति प्राणायाम के फायदे | Kapalbhati ke fayde

Advertisement

आज की आर्टिकल में हम कपालभाति प्राणायाम के फायदे (Kapalbhati pranayam ke fayde), कपालभाति के फायदे (kapalbhati ke fayde) और कपालभाति के क्या-क्या फायदे हैं? इन सब के बारे में विस्तार से जानेंगे।

दोस्तो स्वास्थ्य जीवन कौन नहीं चाहता, कहा भी गया है कि स्वास्थ्य ही परम धन है। आप जीवन में कुछ भी करने के योग्य तभी होंगे जब आप स्वस्थ रहेंगे। आज के समय में स्वस्थ रहने के लिए अनेकों प्रकार की दवाइयां (Protiens, Vitamin) और तरीके आ गए हैं, परंतु कहीं ना कहीं हम यह भी जानते हैं की प्राकृतिक तरीके से स्वस्थ रहने के लिए यह जरूरी नहीं है। रोजाना थोड़ी अच्छी कसरत और योग करके हम अपने आप को बेहतर स्वस्थ रख सकते हैं। योग के अंतर्गत प्राणायाम एक महत्वपूर्ण व्यायाम है, इसके कई सारे लाभ होते हैं। आज इस लेख में हम प्राणायाम के एक प्रकार कपालभाति प्राणायाम के बारे में जानेंगे, kapalbhati ke fayde एक-एक करके जानेंगे।

कपालभाति के फायदे (Kapalbhati ke fayde)

Advertisement

सबसे पहले संक्षिप्त में जान लेते हैं कि प्राणायाम क्या होता है , और कपालभाति प्राणायाम क्या होता है। योग मुद्रा में बैठकर सांस लेने तथा छोड़ने की प्रक्रिया को ही प्राणायाम कहा जाता है। प्राणायाम के अंतर्गत कई प्रकार के श्वास व्यायाम शामिल है, जिनमें से एक कपालभाती भी है। कपालभाति सबसे अच्छे श्वास अभ्यासों में से है। कपालभाती में आपको नाक से जोर से हवा छोड़नी होती है जिस दौरान आपका पेट अंदर की ओर खींचता है, कपालभाती में आपको सिर्फ हवा छोड़नी है अंदर खींचनी नहीं है, वह अपने आप आती है। जो कपालभाति का नियमित अभ्यास करते हैं वह 1 मिनट में 90 से 120 बार सांस छोड़ते हैं।

प्रतिदिन कपालभाति के फायदे (Kapalbhati ke fayde) अनेकों होते हैं जिनमें से कुछ मुख्य कि हम यहां चर्चा करेंगे –

Advertisement
  1. यह कब्ज को ठीक करता है
  2. एसिडिटी की समस्या को ठीक करता है
  3. रक्त परिसंचरण में सुधार करता है
  4. वजन घटाने में प्रभावी होता है
  5. पेट की मांसपेशियों को मजबूती देता है
  6. कैंसर के इलाज और रोकथाम में मददगार
  7. फेफड़ों से संबंधित समस्याओं में मदद करता है
  8. बाल झड़ने की समस्या में मदद करता है
  9. गुर्दे की पथरी की समस्या में मदद करता है
  10. नसों की कमजोरी में उपचार
  11. हड्डियों की मजबूती में फायदेमंद
  12. शरीर की इम्युनिटी बढ़ाता है
  13. महिलाओं में मासिक धर्म की समस्या में फायदेमंद
  14. मुहांसों को ठीक करने में फायदेमंद
  15. कपालभाती मन को शांत रखता है

कपालभाति कब्ज को ठीक करता है – कब्ज की समस्या पाचन तंत्र से जुड़ी होती है, पाचन तंत्र का सही ना होना एक बड़ी समस्या है। नियमित रूप से कपालभाति करने से जरूरी हवा का शरीर में flow सही बनता है जिससे पाचन तंत्र मजबूत बना रहता है। रोजाना 3 से 5 मिनट इसे करने से एक से दो हफ्तों के भीतर कब्ज की समस्या में फायदा होता है।

कपालभाति acidity की समस्या में मददगार – एसिडिटी की समस्या भी पेट से ही जुड़ी है, गलत खानपान एसिडिटी की समस्या पैदा करता है। कपालभाति करने से पाचन तंत्र को फायदा मिलता है जिससे शरीर में एसिडिटी जैसी समस्या उत्पन्न ही नहीं होती, इससे डॉक्टरों और दवाओं की जरूरत नहीं पड़ती है।

रक्त परिसंचरण में सुधार करता हैकपालभाति के फायदे यह है कि वह रक्त परिसंचरण को सही करता है रक्त परिसंचरण यानी सही blood circulation शरीर में अति आवश्यक है, इसके सही ना होने पर कई सारी स्वास्थ संबंधित समस्याएं होती हैं। शरीर के हर अंग और कोशिका का सही काम करने के लिए सही ब्लड सरकुलेशन जरूरी है। Blood Pressure कम होने पर कपालभाति सबसे अच्छे उपाय में से है सुबह या शाम 3 से 5 मिनट इसे रोजाना करने से यह फायदेमंद होता है।

वजन घटाने में प्रभावी होता है – अगर आप नियमित रूप से कपालभाति करते हैं तो कपालभाति के फायदे यह है कि कपालभाति करने से आपका वजन घटता है मोटापा काफी लोगों के लिए गंभीर समस्या बना है, गलत खानपान, सही कसरत ना करने से शरीर में fats जमा हो जाता है। कपालभाति वजन घटाने में भी काफी असरदार है। एक अच्छे शाकाहारी आहार तथा जरूरी कसरत के साथ नियमित रूप से कपालभाती करने वाले लोग 30 से 45 दिन में 5 किलो तक वजन भी घटा सकते हैं।

पेट की मांसपेशियों को मजबूती देता है – कपालभाति करते समय हमें सांस सिर्फ बाहर छोड़ना होता है जिससे हम जबरदस्ती पेट को अंदर की ओर ढकेलते हैं, कुछ समय तक इस प्रक्रिया को करते रहने से पेट की मांसपेशियां अंदर बाहर होती है जिससे मांसपेशियों का व्यायाम होता है और वे मजबूत बने रहते हैं।

कैंसर के इलाज और रोकथाम में मदद – ऐसा लग सकता है कि कपालभाति का कैंसर से क्या संबंध है। परंतु शोध में ऐसा पाया गया है कि कैंसर विशेष तौर से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर जिन कारणों से होता है, कपालभाति उनमें प्रभावी होता है। कैंसर के शुरुआती चरण में कपालभाति, कैंसर के जो कारण है उनमें प्रभावी रहता है हालांकि कैंसर का अंतिम चरण होने पर इससे फायदे की संभावना नहीं रहती है।

फेफड़ों से संबंधित समस्याओं में मदद – हम जो सांस लेते हैं वह हमारे फेफड़ों में ही जाती है, आज के समय में धूम्रपान, धूल, प्रदूषण फेफड़ों से संबंधित कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न करती है, कपालभाति सांस छोड़ने का ही अभ्यास है,इसे सुबह-शाम नियमित रूप से करने पर यह फेफड़ों को स्वस्थ बनाए रखता है ।

बाल झड़ने की समस्या में मदद करता है – जैसा कि हमने बताया शरीर में ब्लड सरकुलेशन जरूरी होता है, कपालभाति करने से यह आप की खोपड़ी में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती है, जिससे आपके सर के बालों की जड़ों को मजबूती मिलती है, एवं बाल झड़ने जैसी समस्याओं में मददगार होती है।

गुर्दे की पथरी की समस्या में मदद करता है – पथरी की समस्या आज लगभग आम सी हो गई है, नियमित रूप से कपालभाति करने पर यह excreation system के लिए भी फायदेमंद होती है। कपालभाती से गुर्दे की छोटी मोटी पथरी ठीक हो सकती है। परंतु इसके साथ-साथ आपको अच्छे आहार और इलाज की जरूरत भी पड़ेगी।

नसों की कमजोरी में उपचार – नस की कमजोरी की समस्या भी कई लोगों में देखी जाती है, कपालभाति प्राणायाम नसों की कमजोरी की समस्या को ठीक करने के लिए एक आदर्श श्वास व्यायाम है। इससे आपके शरीर की लगभग सभी नसें सक्रिय और स्थिर हो जाती हैं। नियमित रूप से इसे करते रहने पर यह समस्या पूरी तरह ठीक भी होती है।

हड्डियों की मजबूती में फायदेमंद – हम सभी को यह बात पता है कि हड्डियों के लिए शरीर में कैल्शियम का सही होना जरूरी है, कपालभाती का अभ्यास करते रहने से शरीर में कैल्शियम का स्तर बढ़ता है जिससे हड्डियां मजबूत बनती है। इसके साथ ही यह हड्डियों से संबंधित दूसरे बीमारियों से लड़ने में भी सहायक है।

शरीर की Imunity बढ़ाता है – यदि आपके शरीर पर इम्यून सिस्टम सही है तो बुखार खांसी साइनस जैसी आसानी से होने वाली बीमारी है आपको नहीं होती हैं। कपालभाति करने से शरीर में सरकुलेशन सही बना रहता है जिससे इम्यून सिस्टम स्ट्रांग बनता है। रोजाना इसका अभ्यास आपको दूसरे कैप्सूल या टॉनिक की आवश्यकता नहीं पड़ने देता है।

महिलाओं में मासिक धर्म (mensuration) की समस्या में फायदेमंद – कई महिलाओं को अनियमित माहवारी की समस्या होती है, कभी-कभी वे बहुत तेजी से होते हैं और कभी धीमी गति से यानी पीरियड्स में अनियमितता देखने को मिलती है.कपालभाति इस समस्या में भी फायदेमंद होता है, कई महिलाओं ने इसे आजमा कर भी देखा है।

मुहांसों को ठीक करने में फायदेमंद – मुहासे युवाओं के लिए एक ऐसी समस्या है जिसे वे टाल नहीं सकते हैं, अनियमित कपालभाति करने से आपके चेहरे में भी रक्त का प्रवाह सही बना रहता है जिससे चेहरे की अशुद्धियां साफ होती है एवं इस प्रकार की समस्याओं में निदान मिलता है।

कपालभाती मन को शांत रखता है – आज के समय में शरीर के साथ-साथ मन का भी स्वस्थ रहना उतना ही जरूरी है। मन यानी दिमाग को शांत रखने के लिए धीरे धीरे और लंबी सांस लेने का व्यायाम सबसे अच्छे प्राकृतिक उपचार में आता है। 5 से 10 मिनट तक कपालभाति करने से शांति का अनुभव होता है।

यह सारे कपालभाति प्राणायाम के फायदे थे इनके अलावा कपालभाति और भी कई चीजों में फायदेमंद होता है जैसे यह त्वचा की प्राकृतिक चमक बनाए रखता है, समय से पहले बाल सफेद नहीं होने देता, शरीर में ऊर्जा बनाए रखता है इत्यादि।

Conclusion

आज इस आर्टिकल में हमने कपालभाति के फायदे (Kapalhati ke fayde) कपालभाति प्राणायाम के फायदे (Kapalbhati pranayam ke fayde) कपालभाति के क्या-क्या फायदे हैं? कपालभाति करने के क्या-क्या फायदे हैं? कपालभाति के हर एक फायदे के बारे में विस्तार से जाना है

बहुत से लोग स्वस्थ रहना चाहते हैं आप और स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम करना जरूरी है इसलिए आज हमने व्यायाम के प्रकार कपालभाति के बारे में बताया इस आर्टिकल में कपालभाति के सारे फायदे के बारे में आपको बताया है कि आपकी कपालभाती को करें। अगर आपको हमारा आर्टिकल पढ़कर अच्छी जानकारी मिली हर कपालभाति के सारे फायदे के बारे में जानकारी मिली है तो इसे शेयर जरूर करें और इससे संबंधित कोई राय देना चाहते हैं साथ में कमेंट करके जरूर बताएं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *