श्रमिक कार्ड (Labour card) के फायदे | Labour card ke fayde

Advertisements

आज इस आर्टिकल में हम श्रमिक कार्ड (Labour Card) के फायदे,श्रमिक कार्ड (Labour Card)के क्या -क्या फायदे है?श्रमिक कार्ड (Labour Card) के लाभ के बारे में जानेंगे।

हमारे देश में बहुत ऐसे योजनाएं सरकारी चला रही हैं जो कि श्रमिकों को बहुत ही फायदा पहुंचाती हैं पर बहुत से श्रमिक जानकारी का अभाव के कारण योजनाओं का का फायदा उठा नहीं पाते हैं। आज इस आर्टिकल में हम श्रमिक कार्ड के फायदे के बारे में जानेंगे सरकारी योजना श्रमिकों के लिए लाइए जो भी असंगठित श्रमिक मर्जी से काम करते हैं।

उन सभी के लिए एक श्रमिक कार्ड बनता है और इनके जरिए उन्हें सरकार बहुत से सुविधाओं का लाभ देती हैं पर बहुत श्रमिक इस सुविधा का लाभ नहीं उठा पाते कारण है कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है आज इस आर्टिकल में हम श्रमिक कार्ड के फायदे श्रमिक कार्ड कौन बना सकता है इन सब के बारे में विस्तार से जानेंगे अगर आप भी श्रमिक कार्ड के क्या-क्या फायदे हैं इसके बारे में जानना चाहते हैं हमारे इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़ें।

benefits of labour card

दोस्तों भारत सरकार द्वारा आज के समय में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने वाले असंगठित मजदूरों के लिए श्रमिक कार्ड बनवाने को कहा गया है। इसके माध्यम से भारत सरकार असंगठित मजदूरों को कई प्रकार की योजनाओं का लाभ देती है। सरकार द्वारा मजदूरों को हित को ध्यान में रखते हुए कई प्रकार की योजनाएं बनाई जाती है। दोस्तों कोई भी व्यक्ति जो निर्माण मजदूर हो या जो पेंटर हो या कोई मकान बनाने वाला मिस्त्री हो या कोई रोड निर्माणकर्ता हो चाहे कोई प्लंबर हो या कोई बिजली मिस्त्री या फिर और कोई भी अन्य कार्यकर्ता हो जो मजदूर की श्रेणी में आते हैं वह वह अपना श्रमिक यानी मजदूर कार्ड बनवा कर सरकार द्वारा दी जाने वाली कई प्रकार की योजना का लाभ ले सकते हैं।

श्रमिक कार्ड के फायदे (benefits of labour card)

Advertisements

दोस्तों आज इस लेख में मुख्यतः इस बात पर चर्चा करेंगे की श्रमिक यानी मजदूर कार्ड बनवाने के क्या-क्या फायदे हैं। दोस्तों जानकारी के अभाव के कारण बहुत सारे श्रमिकों को मजदूर कार्ड का पूरा लाभ नहीं मिल पाता है। अतः यह बहुत ही आवश्यक है की मजदूरों को मजदूर कार्ड से होने वाली मिलने वाली हर प्रकार के लाभ और सुविधाओं की जानकारी हो। अलग अलग राज्य की सरकारें मजदूर कार्ड के माध्यम से अपने राज्य के श्रमिकों को अलग-अलग सुविधाएं मुहैया कराती है इसीलिए अलग अलग राज्य में मिलने वाले  लाभों में कुछ अंतर हो सकता है परंतु ज्यादातर सुविधाए एक होती है।मजदूर कार्ड से श्रमिकों को अनेक प्रकार की सुविधाएं मिलती हैं जिनमें से कुछ निम्नलिखित है-

  • पेंशन
  • स्वास्थ सुविधा
  • शिक्षा में सहायता
  • बिजली बिल में सब्सिडी
  • बच्चों के जन्म में दी जाने वाली सुविधा राशि
  • बेटियों के लिए सुविधा
  • बेरोजगारी भत्ता
  • मकान की वयवस्था
  • उपकरण खरीदने के लिए सब्सिडी

अब हम इन सारे सुविधा के बारे में विस्तार से जानेंगे इन में आपको क्या क्या लाभ प्राप्त होता है इन सब के बारे में विस्तार से अब जानेंगे।

  • पेंशन

यदि आप एक मजदूर कार्ड धारी है तो आपको सरकार द्वारा पेंशन की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। अगर किसी मजदूर की आयु 60 वर्ष से अधिक की हो जाती है तो सरकार द्वारा हर माह उसके खाते में कुछ हजार रुपए की धनराशि भेजी जाती है। बिना मजदूर कार्ड वाले श्रमिकों को पेंशन की सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती है।

  • इलाज के लिए चिकित्सा राशि

अगर आपके पास मजदूर कार्ड है तो किसी भी प्रकार की दुर्घटना या कोई अन्य मेडिकल स्थिति होने पर आपको सरकार द्वारा इलाज के लिए राशि उपलब्ध कराई जाती है। यदि आप किसी प्रकार के दुर्घटना के शिकार होते हैं तो आपको सरकार द्वारा 30000 से 300000 तक की राशि इलाज के लिए मुहैया हो सकती है। एवं यदि उस दुर्घटना से आप की मृत्यु हो जाती है तो सरकार आपके परिवार को ₹500000 देती है। यही नहीं यदि आपकी समान्य मृत्यु भी होती है तो सरकार द्वारा आपके परिवार को ₹200000 तक दिए जाते हैं।

  • शिक्षा सहायता

मजदूर कार्ड धारियों को के बच्चों को पढ़ाई के क्षेत्र में छात्रवृत्ति दी जाती है। कक्षा छठी से आठवीं तक सरकार द्वारा ₹8000 दिए जाते हैं । नौवीं से बारहवीं तक ₹9000 दिए जाते हैं, इसके बाद आईटीआई के लिए ₹9000 की छात्रवृत्ति दी जाती है एवं डिप्लोमा के लिए  ₹10000 की छात्रवृत्ति दी जाती है। उसके बाद b.a. की पढ़ाई के लिए 13000 की छात्रवृत्ति एवं m.a. के लिए ₹15000 की छात्रवृत्ति निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना के अंतर्गत श्रमिकों के बच्चों को प्रदान की जाती है। वही लड़की होने पर ₹1000 अधिक दिए जाते हैं।

  • बिजली बिल में सब्सिडी

कई राज्यों में बिजली बिल काफी ज्यादा आता है एवं मजदूरों को बिजली बिल चुकाने में असुविधा होती है वहीं मजदूर कार्ड के माध्यम से सरकार मजदूरों को बिजली बिल में सब्सिडी देती है जिससे उनका बिजली बिल कम आता है। सरकार मजदूरों को सस्ती बिजली देती है जिसका वे आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकें।

  • गर्भवती महिलाओं को सुविधा
Advertisements

किसी महिला के मजदूर कार्ड धारी होने पर सरकार द्वारा, गर्भवती होने पर सही पोषण और आहार के लिए ₹4000 तक उसके अकाउंट में दिए जाते हैं । इसके लिए नजदीकी आंगनबाड़ी में जाकर कुछ दस्तावेज जमा करने होते हैं। इसके अलावा प्रसव के बाद महिला के अकाउंट में आमतौर पर ₹12000 तक सरकार द्वारा भेजे जाते हैं। यह राशि अलग-अलग राज्यों में कुछ अलग अलग हो सकती है।

  • बच्चों के जन्म के समय दी जाने वाली राशि

सिर्फ दो बच्चे रखने पर सरकार द्वारा लड़के के जन्म पर ₹20000 और लड़की के जन्म पर ₹21000 दिए जाते हैं। यह जनसंख्या नियंत्रण के लिए सरकार द्वारा निर्धारित की गई है।

  • भूमिहीन श्रमिकों के लिए मकान की व्यवस्था

ऐसा कोई श्रमिक जो भूमिहीन है और उसके पास रहने के लिए कोई स्थान नहीं है तो सरकार ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा भूमिहीन श्रमिकों मकान बनाने के लिए कुछ राशि के साथ साथ भूमि भी मुहैया कराई जाती है।  यह सुविधा केवल भूमिहीन और जिनके पास रहने के लिए कोई घर नहीं है उन्हें ही प्रदान की जाती है।

  • बेटियों के लिए सुविधा

सरकार द्वारा शुभशक्ति योजना की शुरुआत की गई है जिसके अंतर्गत लड़की की उम्र 18 वर्ष की होने पर तथा आठवीं पास होने पर ₹55000 की सरकारी  सहायता प्रदान की जाएगी। लड़की के आठवीं पास होने, उम्र 18 साल होने एवं श्रमिक कार्ड बने हुए 6 माह हो जाने के बाद ही यह सुविधा दी जाती है। यह सुविधा अधिकतम दो लड़कियों को मिलेगी।18 वर्ष पूर्ण हो जाने के बाद लड़कियों की शादी  करने के लिए 55000 दिए जाते हैं।

  • उपकरण खरीदने के लिए सब्सिडी

बहुत से श्रमिकों को उनके कार्य से संबंधित उपकरण खरीदने के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है। इसके अलावा यदि कोई श्रमिक ई रिक्शा भी खरीदना चाहते हैं तो इसके लिए भी उन्हें सरकार से सहायता प्रदान की जाती है। साइकिल और अन्य औजार खरीदने के लिए भी सब्सिडी दी जाती है।

इन सभी के अलावा अन्य और भी कई प्रकार की सुविधाएं मजदूर कार्ड धारी को दी जाती है।

श्रमिक कार्ड कौन बना सकता है (eligibility for labour card)

दोस्तों हर राज्य की सरकार अपने राज्य में श्रमिकों को अलग-अलग प्रकार की योजनाओं का लाभ देते हैं। एक मजदूर को श्रमिक कार्ड और उससे होने वाले लाभ के बारे में जानकारी होना बहुत ही जरूरी हो जाता है। सबसे पहले, श्रमिक कार्ड यानी मजदूर कार्ड उन लोगों के लिए बनाया जाता है जो प्रतिदिन मजदूरी का काम करते हैं जिसके अंदर राजमिस्त्री कारपेंटर पेंटर लोहार प्लंबर और लेबर जो प्रतिदिन मजदूरी का काम करते हैं। 18 से 60 वर्ष की उम्र तक का कोई भी महिला या पुरुष जो निर्माण संबंधित कार्य या नरेगा आदि के अंतर्गत  कार्य करता हो वह श्रमिक कार्ड बनवा सकते हैं। इसके लिए उन्हें सरकार की श्रमिक विभाग की वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। Registration करवाने के लिए कुछ डाक्यूमेंट्स जैसे आधार कार्ड बैंक पासबुक पासपोर्ट साइज फोटो कोई प्रमाण पत्र जिसमें मजदूर के आयु का उल्लेख हो भारत साथ ही 1 वर्ष में कम से कम 90 दिन निर्माण श्रमिक का कार्य करने का प्रमाण पत्र चाहिए होते हैं।

Conclusion

दोस्तों आज का यह आर्टिकल श्रमिक के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है इस आर्टिकल में हमने श्रमिकों को दी जाने वाली सरकारी योजनाओं की जानकारी दी है इस आर्टिकल में हमने यह जानना है कि श्रमिक कार्ड के द्वारा श्रमिकों को सरकार से कौन से फायदे प्राप्त होते हैं इस आर्टिकल में श्रमिक कार्ड के फायदे और श्रमिक कार्ड कौन बना सकता है।इसके बारे में विस्तार से जाना है।

मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको श्रमिक कार्ड के फायदे के बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा तो हमारे आर्टिकल को शेयर करें ताकि यह जानकारी अधिक से अधिक श्रमिकों को मिल सके और वह इन योजनाओं का लाभ उठा सकें।

आर्टिकल से संबंधित अगर कोई सुझाव और राय देना चाहते तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *