M.ed के बाद क्या करें? what to do after M.ed

­यदि बात की जाए M.ed के बाद क्या करें या M.ed का course करके आगे क्या करें तो यदि आप m.ed करना चाहते हैं या m.ed कर चुके हैं और आपके मन में यह सवाल है कि m.ed course करने के बाद क्या करें। M.ed course वही लोग करते हैं जिन्हें आगे चलकर टीचर बनना होता है।

M.ed का course एक master’s degree है। जो भी लोग शिक्षक बनना चाहते हैं उनके लिए यह course करना बहुत अच्छा विकल्प है।

तो आज के इस article में हम जानेंगे m.ed के बाद क्या करें। साथ ही इससे जुड़ी कई अन्य जानकारियां भी मैं आज आपको इस article के द्वारा दूंगी। तो इस article को बड़े ही ध्यान पूर्वक पढ़ें और हमारे साथ अंत तक बने रहे।

आज हम जानेंगे?

M.ed के बाद क्या करें?

यदि बात की जाए m.ed करने के बाद क्या करें तो m.ed करने के बाद आपके पास बहुत से career options होते हैं। M.ed का course करने के बाद अलग-अलग job profile में आप अपना career बना सकते हैं। अभी के समय में m.ed course बहुत से विद्यार्थी कर रहे हैं।

यदि आप भी m.ed का course करते हैं तो आपके पास भी career के कई सारे options मौजूद होते हैं। M.ed course करने के बाद आप बहुत से field में job प्राप्त कर सकते हैं।

  • Researcher
  • Professor
  • Lecturer
  • Administrator
  • As a counsellor
  • Principal

आज हम इस आर्टिकल में इन्हीं के बारे में जानेंगे।

Researcher

इस course में आपको किसी एक subject से अपना b.ed और m.ed करना होता है। इस course में आपको किसी एक विषय के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी दी जाती है।

जिससे कि आप उस विषय के ज्ञानी बन जाते हो और उस विषय में research भी कर सकते हो। एक researcher वह होता है जिसको की किसी एक विषय की पूरी जानकारी होती है।

इसका मतलब यह है कि वह किसी एक विषय में practical knowledge भी रखते हैं और उस पर research करते हैं। किसी विषय का इतना ज्ञान रखने के बाद आप एक researcher के रूप में अपने career को ऊंचाइयों तक ले जा सकते हैं।

Professor

M.ed course करके आप professor भी बन सकते हैं। यह शिक्षा के संदर्भ में एक उच्च पद माना जाता है। एक Professor College और University का टीचर होता है जो कि College और Institute में पढ़ाता है।

हर Professor एक विषय में specialist होता है। एक Professor 11वीं, 12वीं, Graduation और PG, PhD की कक्षा में शिक्षा प्रदान करता है। एक Professor बनने के लिए आपको बहुत ही कड़ी मेहनत करनी होती है और बहुत ही अच्छे से पढ़ाई करनी होती है।

Lecturer

Lecturer एक High School का शिक्षक होता है जो कि कक्षा 11वीं और 12वीं के छात्रों को शिक्षा प्रदान करता है। Lecturer भी किसी एक विषय का specialist होता है।

lecturer बच्चों को अपने specialized subject के बारे में ज्ञान प्रदान करते हैं। एक lecturer बनने के लिए आपको b.ed और m.ed के बाद UGC NET qualify करना होता है।

UGC NET का exam हर साल 2 बार आयोजित करवाया जाता है। यदि आप इस exam को पास कर लेते हैं तो आप किसी भी school में एक lecturer के रूप में कार्य कर सकते हैं।

Administrator

Administration schools और colleges में प्रभावी और सुव्यवस्थित शिक्षण और सीखने के लिए कार्यबल और सामग्री के उचित उपयोग की एक प्रणाली है। शिक्षण संस्थानों के कुशल संचालन में administration एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। Administrator शिक्षकों और प्रबंधन के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य कर सकते हैं।

वे संस्था की ढांचागत जरूरतों को पूरा कर सकते हैं और वित्तीय प्रबंधन की ओर बेहतर ध्यान दे सकते हैं। वे समुदाय के साथ सकारात्मक संबंध बना सकते हैं और माता-पिता-संस्था संबंधों को मजबूत कर सकते हैं।

Administrator अधिक निष्पक्ष तरीके से अपने शिक्षकों के बारे में छात्रों की प्रतिक्रिया का आकलन कर सकते हैं और इसे सुधारने की दिशा में काम कर सकते हैं।

As a counsellor

M.ed course करके आप counsellor भी बन सकता है। career counseling वो होता है जो की सलाह देता है और समर्थन करता है, जो career counsellors द्वारा अपने ग्राहकों को प्रदान किया जाता है, ताकि ग्राहकों को जीवन, सीखने और work change (करियर) के माध्यम से अपनी यात्रा का प्रबंधन करने में सहायता मिल सके।

इसमें career की खोज career choice making, career change management, जीवन भर career development and other career related issues से निपटना शामिल है।

Principal

यदि आप m.ed का course कर चुके हैं तो आगे चलकर आप एक principal भी बन सकते हैं। आप आज तक जहां भी पढ़े होंगे वहां आपने principal का नाम जरूर सुना होगा।

एक principal वह होता है जो कि स्कूल में सभी शिक्षकों को रखता है और मुख्य स्कूल का कार्य वही करता है। एक प्रिंसिपल के होने के बाद आपको मुख्य भूमिकाएं निभानी होती है।

जैसे कि शिक्षकों के साथ मिलकर स्कूल में होने वाली गतिविधियों पर गौर करना और उसे प्रोत्साहित करना। स्कूल का कार्यालय सही ढंग से चल रहा है या नहीं, शिक्षक विद्यार्थियों को सही तरीके से पढ़ा रहे हैं या नहीं इन सभी चीजों की देखरेख करना principal का कार्य होता है।

M.ed के बाद कौन सा job करें।

यदि बात करें m.ed के बाद कौन सा job करें तो अभी हमने m.ed का course करने वाले कइ सारे subject के बारे में बताया। आप m.ed करने के बाद इनमें से कोई भी job कर सकते हैं, जिस भी job को करने की इच्छा आपको है।

इस article में आपको जितने भी job profiles के बारे में बताया गया है, वह सभी job profiles काफी अच्छी और high level की है।

निष्कर्ष

आज के इस article में हमने जाना M.ed के बाद क्या करें। साथ ही हमने इससे जुड़ी कई job के बारे में जाना। Researcher, Professor, Lecturer, Administrator, As a counsellor और Principal हमने इन सभी के बारे में चर्चा की।

आशा है आज के इस article को पढ़कर आपके मन में m.ed के बाद क्या करें से लेकर जो भी सवाल है उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅