एमबीए (MBA) की फ़ीस कितनी है? | MBA ki fees kitni hai

आज के आधुनिक समय में हर कोई अपना कुछ ना कुछ करना चाहता है जिसके लिए वह अलग-अलग क्षेत्र में जानने की सोचता है इसी में से एक क्षेत्र है MBA, यह एक post-graduation लेवल की डिग्री है,जिससे आप business लाइन में एक अच्छी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

इस कोर्स को करने के लिए आपको कम से कम 12 वीं पास करना अनिवार्य है। उसके बाद आप MBA के कोर्स को करने के लिए योग्य हो जाते हैं। MBA के इस कोर्स को masters of business administration के नाम से जाना जाता है।

यह कोर्स हर साल कई सारे बच्चे करने की सोचते हैं और उन सभी के मन में जो एक सामान्य प्रश्न रहता है वह है कि MBA का कोर्स करने में कितना खर्च होगा और एमबीए की फ़ीस कितनी है?(MBA ki fees kitni hai)

आज हम इस आर्टिकल में इसी बात पर चर्चा करेंगे कि एमबीए की फ़ीस कितनी है? (MBA ki fees kitni hai?) क्योंकि विद्यार्थियों का किसी भी कोर्स करने से पहले उस कोर्स के पीछे होने वाले खर्चे की जानकारी होना अनिवार्य है।

एमबीए की फ़ीस कितनी है? (MBA ki fees kitni hai?)

MBA ki fees kitni hai

एमबीए की फ़ीस औसतन सालाना एक लाख रुपया से लेकर 10 लाख रुपया तक हो सकती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस कॉलेज में पढ़ रहे हैं,

अगर आप सरकारी कॉलेज में पढ़ रहे हैं तो आपके MBA फ़ीस कम होगी, वहीं अगर आप प्राइवेट कॉलेज से MBA कर रहे हैं तो एमबीए की फ़ीस अधिक होगी।

यदि हम MBA की fees की बात करें तो यह निश्चित तो नहीं है कि MBA की fees कितनी होगी परंतु एक अंदाज लगा सकते हैं कि इससे कुछ कम या इससे कुछ ज्यादा मे MBA की डिग्री हो सकती है, क्योंकि हर यूनिवर्सिटी जो MBA करवाती होगी उन सभी की fees अलग अलग होगी।

परंतु जो बच्चे पढ़कर अपना एंट्रेंस  exam देकर इस डिग्री को करते हैं उन्हें सुनिश्चित ही पैसों में कुछ परसेंट की छूट मिलती है जिसे हम स्कॉलरशिप भी कहते हैं और उनका खर्च भी सभी बच्चों से कम होता है। यदि आपको किसी कॉलेज की fees की जानकारी चाहिए तो आपको  उस कॉलेज में पता करना होगा।

MBA की पढ़ाई के लिए भी दो तरह के कॉलेज उपलब्ध है पहला है सरकारी कॉलेज और दूसरा है प्राइवेट कॉलेज ।सरकारी कॉलेज में आपका दाखिला entrance exam के जरिए लिया जाता है,

वहीं दूसरी ओर प्राइवेट कॉलेज में आपका दाखिला ऐसे ही बिना किसी  exam के हो जाता है पर प्राइवेट कॉलेज में आपको सरकारी कॉलेज के मुकाबले दोगुना fees देनी पड़ती है। वही सरकारी कॉलेज में entrance  exam देकर दाखिला लेने से आपको पैसों में काफी छूट मिलती है और आपकी fees भी कम लगती है।

और आपकी सुविधाएं भी अधिक होती हैं। इसलिए मैं अपना सुझाव दु तो सभी विद्यार्थियों को अच्छे से पढ़ाई करके कम से कम एक बार सरकारी कॉलेज का entrance  exam देना चाहिए और अगर उनका चयन सरकारी कॉलेज में ना हो सका तो ही उन्हें प्राइवेट कॉलेज में जाना चाहिए।

इसे ज़रूर पढ़ें

सरकारी कॉलेज में एमबीए की फीस कितनी है?

सरकारी कॉलेज में एमबीए की फीस सालाना ₹100000 से लेकर ₹200000 तक हो सकती है। इसके अलावा बहुत से सरकारी कॉलेज में एमबीए की फीस ₹50000 से लेकर ₹100000 सालाना तक हो सकती है।

प्राइवेट कॉलेज में एमबीए की फीस कितनी होती है?

प्राइवेट कॉलेज में एमबीए की फीस औसतन सालाना ₹200000 से लेकर ₹500000 तक हो सकती है जबकि बड़ी-बड़ी प्राइवेट कॉलेज में एमबीए की फीस सालाना ₹1000000 से लेकर 1500000 रुपए तक हो सकती है।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में एमबीए की फीस कितनी है?

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की fees तकरीबन 310000 है। और यह कॉलेज चंडीगढ़ में स्थित है।

एमआईटी पुणे में एमबीए की फीस कितनी है?

MIT पुणे में MBA की फीस तकरीबन 350000 है। और यह कॉलेज पुणे में स्थित है।

आईआईटी खड़कपुर में एमबीए की फीस कितनी है?

IIT kharagpur में MBA की fees तकरीबन 620000 है। और यह कॉलेज खड़कपुर, पश्चिम बंगाल में स्थित है।

आईआईटी बॉम्बे में एमबीए की फीस कितनी है?

IIT bombay में MBA की fees तकरीबन 850000 है। और यह कॉलेज मुंबई में स्थित है।

महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी में एमबीए की फीस कितनी है?

महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी में MBA की fees तकरीबन ₹100000 है। और यह कॉलेज रोहतक में स्थित है।

BK school of business management में एमबीए की फीस कितनी है?

B K School of business management कॉलेज में MBA की fees तकरीबन₹80000 है। और यह कॉलेज अहमदाबाद में स्थित है।

क्रिस्ट यूनिवर्सिटी बेंगलुरु में एमबीए की फीस कितनी है?

Christ University Bangalore कॉलेज में MBA की fees तकरीबन 310000 है। कॉलेज बेंगलुरु में स्थित है।

तो यह सभी कुछ कॉलेज है जिसमें आप अपने MBA की पढ़ाई बड़े अच्छे तरीके से कर सकते हो। ऊपर हमने एक आकलन बताया है कि कॉलेजों में कहां से कहां तक की fees लग सकती है।

इसके अलावा आपके कॉलेज पर निर्भर करता है कि आप कौन सा कॉलेज चुनते हो कुछ कॉलेजों में कम पैसे लगते हैं और कुछ में ज्यादा, इसका कारण यह है कि कुछ सरकारी कॉलेज होते हैं और कुछ प्राइवेट सरकारी कॉलेज में आपको entrance exam देना होता है जिससे कि केवल योग्य विद्यार्थी ही पार कर पाते है,

इसलिए इन कॉलेजों में कम fees लगती है। परंतु यदि बात कीजिए प्राइवेट कॉलेज में तो प्राइवेट कॉलेज में सरकारी कॉलेज के मुकाबले बहुत अधिक पैसे लगते हैं क्योंकि इसमें कोई entrance exam नहीं होता तो इन कॉलेजों में सभी बच्चे अप्लाई कर सकते हैं। इसलिए इनकी fees थोड़ी ज्यादा होती है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि MBA कोर्स एक business से संबंधित कोर्स है जिसमें हमें मार्केट लाइन की जानकारी दी जाती है। इसमें कई सारे सब्जेक्ट होते हैं जिनमें से हम कोई भी एक सब्जेक्ट चुनकर उसमें विशेष रुप से अपने डिग्री प्राप्त कर सकते हैं और एक अच्छी नौकरी पा सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि MBA  कौन कौन कर सकता है।

MBA करने के लिए योग्यता

कई सारे लोग ऐसे हैं जो यह सोचते हैं कि MBA केवल वही लोग करते हैं जिन्हें आगे चलकर कोई business करना हो, परंतु ऐसी कोई बात नहीं है MBA कोई भी कर सकता है जिसे आगे अपना भविष्य बनाना है।

MBA करने से ना केवल आप एक अच्छा business कर सकते हैं,इसके अलावा आप किसी भी बड़ी कंपनी में किसी अच्छे पोस्ट पर या मैनेजर की पोस्ट पर नियुक्त हो सकते हैं।

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल में एमबीए की फीस कितनी है? (MBA ki fees kitni hai?) उसके बारे में जाना। MBA क्या होता है? और हमने जाना MBA की पढ़ाई दो तरह की कॉलेजों में होती है सरकारी में MBA की फीस कितनी है? और प्राइवेट में MBA की फीस कितनी होती है?

साथ ही साथ हमने कुछ कॉलेजों के बारे और उसकी fees के बारे में भी चर्चा की है। आशा है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको MBA की fees से जुड़ी सारी जानकारी मिल गई होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅