एमबीबीएस की फीस कितनी है | MBBS ki fees kitni hai

Advertisement

आज इस आर्टिकल में हम एमबीबीएस की फीस कितनी है? (MBBS ki fees kitni hai?), एमबीबीएस करने में कितना पैसा लगता है?, एमबीबीएस में कितना खर्चा होता है?, एमबीबीएस की फीस (MBBS ki fees), सरकारी कॉलेज में एमबीबीएस की फीस (Government college me MBBS ki fees) प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस की फीस (Private college me MBBS ki fees) इन सब के बारे में विस्तार से जानेंगे।

दोस्तों किसी भी छात्र के लिए आज के समय में जब बात आती है अपने लिए एक बेहतर करियर विकल्प चुनने की, तो उसमें दो सबसे पहले विकल्प engineering course और medical course की पढ़ाई ही होती है। लाखों करोड़ों की संख्या में युवा मेडिकल की पढ़ाई करते हैं। जाहिर तौर पर, जो विद्यार्थी मेडिकल क्षेत्र को अपने professional के रूप में चुनना चाहते हैं वह भविष्य में अपने आप को एक डॉक्टर के रूप में देखते हैं। तथा इसके लिए MBBS course अनिवार्य सा होता है। चिकित्सा क्षेत्र देश में सबसे अधिक मांग वाले course में MBBS है। मेडिकल के क्षेत्र में MBBS जैसी महत्वपूर्ण कोर्स में दाखिला पाने की इच्छा रखने वाले Student के लिए यह जरूरी हो जाता है कि उन्हें भारत के विभिन्न Medical college fees structure की जानकारी हो।

आज इस लेख में हम मुख्यत: इसी बात पर चर्चा करेंगे कि एमबीबीएस की फीस कितनी होती है? (MBBS ki fees kitni hoti hai) यानी MBBS करने में कितना खर्चा आता है। MBBS ki fees government colleges में और MBBS ki fees private colleges में कितनी होती है।

एमबीबीएस की फीस कितनी होती है? (MBBS ki fees kitni hoti hai)

Advertisement

यदि बात करें आपके संस्थान यानी कॉलेज फीस की तो सभी कॉलेजों में यह एक समान नहीं होती है। देश में एमबीबीएस का कोर्स कराने के सरकारी संस्थान, निजी संस्थान , सरकारी सहायता प्राप्त संस्थान होते हैं तथा इन सभी में mbbs की फीस अलग-अलग होती है। Government medical college में mbbs ki fees औसतन 50 हजार से लेकर 5 लाख तक प्रतिवर्ष होती है जबकि Private medical college में mbbs ki fees औसतन 5 लाख से लेकर 15 लाख रूपए तक होती है।

Advertisement

जाहिर तौर पर, सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज की फीस की तुलना में कम होगी, जबकि अर्ध सरकारी यानी सरकारी सहायता प्राप्त संस्थानों में पूर्ण सरकारी संस्थानों की तुलना में फीस अधिक हो सकती है। इसीलिए अभ्यार्थी के लिए यह जरूरी हो जाता है कि वह अपने सामर्थ्य के अनुसार अपने लिए कॉलेज का चुनाव करें।

सरकारी मेडिकल कॉलेज की फीस (Government medical college feess)

यदि आप एक आम अभ्यार्थी हैं एवं कम खर्च में अपनी एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी कर लेना चाहते हैं तो आपके लिए सबसे बेहतर विकल्प एक सरकारी मेडिकल कॉलेज में दाखिला लेना ही होता है। Goverment medical college में MBBS ki fees के लिए subsidy भी दी जाती है, और इसी कारण Government medical college fees सबसे कम होती है। सरकारी कॉलेजों में भी All India और state quota कोटा की सीटों के लिए स्कूल की फीस अलग-अलग है। इस फीस में सिर्फ आपकी medical course fees यानी कि tution fees ही शामिल है, इसके अलावा registration fees, examination fees, एवं हॉस्टल में रहने पर hostel fees अलग से देनी पड़ सकती है।

यदि बात की जाए एक लगभग में, तो 50000 से 5 लाख प्रतिवर्ष या 10 लाख प्रतिवर्ष तक भी सरकारी कॉलेज की फीस हो सकती है। इसके अलावा all india quota seat भी एक विकल्प है, अखिल भारतीय कोटे की सीटों के लिए एमबीबीएस कोर्स की वार्षिक ट्यूशन फीस मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में सबसे कम ( 240 रु प्रति वर्ष) एवं सबसे अधिक ₹89500 प्रति वर्ष गोवा मेडिकल कॉलेज पणजी की है।

उदाहरण के लिए देश के कुछ मेडिकल संस्थान के नाम और उनकी फीस कुछ इस प्रकार है – आंध्र मेडिकल कॉलेज विशाखापट्टनम की फीस दाखिले के समय 31600, उसके बाद सालाना फीस 10250 एवं हॉस्टल फीस 3000 है। Indira Gandhi institute of medical science Patna की फीस दाखिले के समय 90000 उसके बाद 50000 प्रति वर्ष एवं हॉस्टल फीस 1500 के करीब है। वहीं नालंदा मेडिकल कॉलेज पटना की फीस दाखिले के समय 12000 उसके बाद 7000 प्रतिवर्ष एवं हॉस्टल फीस ₹350 है। देश के कुछ शीर्ष Government top Medical college निम्नलिखित है :-

  • King George’s Medical University, Lucknow.
  • JIPMER Puducherry.
  • BHU Varanasi.
  • Institute of Liver and Biliary Sciences, New Delhi.
  • Jawaharlal Nehru Medical College, Aligarh.
  • Vardhman Mahavir Medical College & Safdarjung H
  • ospital, New Delhi.
  • King George’s Medical University, Lucknow.
  • JIPMER Puducherry.
  • BHU Varanasi.
  • Institute of Liver and Biliary Sciences, New Delhi.
  • Jawaharlal Nehru Medical College, Aligarh.
  • Vardhman Mahavir Medical College & Safdarjung Hospital, New Delhi.
  • AIIMS New Delhi.
  • PGIMER, Chandigarh.

प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की फीस (Private medical college ki fees)

Private Medical College ki fees आम तौर पर काफी ज्यादा होती है। यदि एक लगभग में बात की जाए तो एक प्राइवेट कॉलेज से एमबीबीएस करने के लिए सिर्फ संस्थान के लिए फीस 3000000 से एक करोड़ या उससे भी ऊपर तक हो सकती है। कुछ प्राइवेट कॉलेजेस में MBBS ki fees सालाना फीस 210000 से 2250000 तक भी जाती है। इसीलिए किसी आम छात्र के लिए एक private कॉलेज से इस कोर्स को कर पाना सहज नहीं हो सकता है।

उदाहरण के लिए कुछ ऐसे संस्थानों के नाम और उनका फीस स्ट्रक्चर कुछ इस प्रकार हैै – mm institute of medical science and research, mullana में दाखिले के समय 15 लाख 60 हजार, उसके बाद 1500000 प्रतिवर्ष एवं हॉस्टल फीस 15 हजार के करीब है। जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज बेलागावी की फीस भी 15 लाख 25 हजार दाखिले के समय उसके बाद 15 लाख 25 हजार प्रतिवर्ष एवं हॉस्टल फीस 10000 है। भारत के कुछ शीर्ष प्राइवेट एमबीबीएस कॉलेज निम्नलिखित हैं –

  • Christian Medical College, Vellore
  • Kasturba Medical College, Manipal,
  • Sri Ramachandra Medical College and Research Institute, Chennai
  • Hamdard Institute of Medical Sciences and Research, New Delhi
  • Kalinga Institute of Medical Sciences,Bhubaneshwar
  • Kempegowda Institute of Medical Sciences, Bangalore
  • Dayanand Medical College and Hospital, Ludhiana
  • Mahatma Gandhi Medical College and Research Institute, Pondicherry

केंद्रीय विश्वविद्यालयों में एमबीबीएस की फीस

चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश देने वाले तीन केंद्रीय विश्वविद्यालयों में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय यानी कि एएमयू , बनारस हिंदू विश्वविद्यालय यानी की बीएचयू एवं दिल्ली विश्वविद्यालय यानी DU का नाम आता है।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़ तथा जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में MBBS ki fees मैनेजमेंट कोटा के लिए लगभग 40,000 प्रतिवर्ष एवं एनआरआई कोटे के लिए 75600 अमेरिकन डॉलर के करीब की है। BHU बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में MBBS fees मैनेजमेंट कोटा के लिए लगभग 15000 की है। दिल्ली विश्वविद्यालय के अंतर्गत एक एफिलिएटिड मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की फीस surety bond के साथ ₹300000 प्रति वर्ष तक की है।

Conclusion

आज इस आर्टिकल में हमने एमबीबीएस की फीस कितनी है? (MBBS ki fees kitni hai) एमबीबीएस की फीस? एमबीबीएस करने में कितना खर्चा होता है? सरकारी कॉलेज में एमबीबीएस की फीस (government medical college ki fees) प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस की फीस (Private medical college fees) इन सब के बारे में विस्तार से जाना है।

जो भी छात्र 12वीं के बाद डॉक्टर की पढ़ाई करना चाहते हैं उन्हें एमबीबीएस करना होता है। तो हर एक छात्र जो डॉक्टर बनना चाहते हैं उनके मन में MBBS ki fess से संबंधित प्रश्न रहते हैं आज इस आर्टिकल में मैंने कोशिश किया कि आपको एमबीबीएस की फीस की सारी जानकारी दे सकूं मुझे उम्मीद है कि आर्टिकल को पढ़कर आपको इसके बारे में सारी जानकारी मिल गई होगी फिर भी आप कमेंट करके जरूर बताएं आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया और हमारे आर्टिकल से आपको अच्छी जानकारी मिली है हमारे आर्टिकल को शेयर जरूर करें।

धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *