मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट?

यदि आप एक डॉक्टर बनाए जाते हैं तो आपको यह जानना अति आवश्यक है कि मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट के अंतर्गत कौन-कौन से कोर्स होते हैं।

आज के इस आर्टिकल मे हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट
  • मेडिकल लाइन MBBS
  • मेडिकल लाइन B.Pharma
  • मेडिकल लाइन D.Pharma
  • मेडिकल लाइन BSc Nursing
  • मेडिकल लाइन BAMS
  • मेडिकल लाइन BUMS
  • मेडिकल लाइन BHMS
  • मेडिकल लाइन BPT

मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट?

जो विद्यार्थी मेडिकल लाइन में career बनाना चाहते हैं उनको दसवीं के बाद science stream लेना अनिवार्य होता है। Science stream में भी उन्हें PCB यानी Physics, Chemistry और Biology लेना अनिवार्य है।

इन विषयों के साथ 12वीं पास करने के बाद वे अपनी इच्छा के अनुसार अलग-अलग मेडिकल कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। इसलिए हम यहां भारत में उपलब्ध सभी मुख्य medical courses के बारे में जानेंगे।

मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट

  • MBBS
  • B Pharma
  • D Pharma
  • BSc nursing
  • BAMS
  • BUMS
  • BHMS
  • BPT

इसे भी जरूर पढ़ें

MBBS देश के सबसे लोकप्रिय कोर्स में एमबीबीएस पहले नंबर पर है। जितने भी विद्यार्थी डॉक्टर बनना चाहते हैं वह सबसे पहले एमबीबीएस कोर्स को ही चुनते हैं। एमबीबीएस कोर्स सभी विद्यार्थियों की पहली पसंद होने के कारण, इस कोर्स को करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होती है।

MBBS का पूरा नाम bachelor of medicine and bachelor of surgery होता है। एमबीबीएस का कोर्स पूरा करने के बाद आप एक एमबीबीएस डॉक्टर बन जाते हो, और लोगों का इलाज कर सकते हो।

एमबीबीएस का कोर्स 5.5 सालों का होता है। जिसमें की 4.5 सालों की एकेडमिक पढ़ाई होती है और 1 साल का इंटर्नशिप होता है। एमबीबीएस का कोर्स पूरा करने के बाद आप आगे चलकर किसी एक क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन का कोर्स भी कर सकते हैं। एमबीबीएस में दाखिला NEET की परीक्षा के द्वारा होता है।

B Pharma कोर्स के माध्यम से आप भारत में एक licence प्राप्त रसायनज्ञ बन सकते हैं। इस कोर्स की अवधि 4 सालों की होती है। यह कोर्स मुख्य रूप से स्वास्थ्य सेवा, जीव विज्ञान, फार्मेसी और रसायन विज्ञान जैसे विषयों पर निर्धारित है।

B.Pharma का पूरा नाम bachelor of pharmacy होता है। B.Pharma का कोर्स करने के बाद उम्मीदवार आसानी से नौकरी पा सकते हैं। इसके बाद उम्मीदवारों के लिए मेडिकल लाइन में ऑप्शन खुलते हैं, जैसे कि वह एक मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

D Pharma और B Pharma दोनों ही अलग-अलग कोर्सेज है। D Pharma का मतलब doctor of pharmacy है। इस कोर्स की अवधि 6 सालों की होती है। मुख्य तौर पर फार्मेसी हेल्थ सेक्टर के अंतर्गत आती है। D Pharma कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थियों को दवाइयों और मेडिकल से संबंधित रिसर्च करवाए जाते हैं। साथ ही दवाइयों के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है।

BSc nursing का कोर्स आपको एक पेशेवर नर्स बनाता है। इस कोर्स की अवधि 3 से 4 सालों की होती है। इस‌ कोर्स में वैसे विद्यार्थी आते हैं जिन्हें नर्स के क्षेत्र में जाना होता है। एक विद्यार्थी जो कि जल्दी जॉब पाना चाहता है, उसके लिए बीएससी नर्सिंग का विकल्प काफी अच्छा है।

BSc nursing का मतलब Bachelor of Science in nursing होता है। यह कोर्स विद्यार्थी को एक नर्स के तौर पर तैयार करता है। BSc nursing में दाखिले के लिए भी आपको सबसे पहले NEET का एग्जाम पास करना होता है। इस कोर्स को अंडर ग्रैजुएट विद्यार्थी भी कर सकते हैं।

BAMS का मतलब bachelor of ayurvedic medicine and surgery होता है। एमबीए के विपरीत, यह कोर्स आयुर्वेद और आयुर्वेदिक चिकित्सा की अवधारणाओं पर केंद्रित है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद एक डॉक्टर आयुर्वेद की उपाधि अर्जित करेगा। इस कोर्स की अवधि साडे 5.5 वर्षों की होती है।

इस कोर्स में हमें 4.5 साल पढ़ाया जाता है और 1 साल की internship करवाई जाती है। Internship के दौरान आप अस्पतालों या दूसरे मेडिकल संस्थाओं में डॉक्टरों के साथ रह कर उन्हें देखकर उनका काम सीखते हैं। इस कोर्स के दौरान मेडिकल विद्यार्थियों को आयुर्वेद के विधियों और दवाओं का उपयोग करके इलाज करने की शिक्षा दी जाती है।

BUMS का मतलब bachelor of Unani medicine and surgery होता है। इस अनुशासन का उद्देश्य यूनानी चिकित्सा पद्धति के रोगियों का उपचार करना होता है। मेडिकल में इस कोर्स के अंतर्गत डॉक्टर बनने वाले विद्यार्थियों को यूनानी तरीके से रोगों का इलाज करना सिखाया जाता है।

इस कोर्स को करने के लिए भी आपको सबसे पहले NEET का एग्जाम पास करना होता है। आपको NEET के एग्जाम में जितने नंबर आएंगे उस हिसाब से आपके कॉलेज का चुनाव होता है। कोर्स की अवधि लगभग 4.5 सालों की होती है। जिसमें 4 वर्षों की पढ़ाई करवाई जाती है और 1 साल का internship करवाया जाता है।

BHMS का मतलब bachelor of homeopathic medicine and surgery होता है। इस अनुशासन का उद्देश्य होम्योपैथिक विधियों और चिकित्सा का उपयोग कर रोगियों का इलाज करना है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद, एक डॉक्टर होम्योपैथिक की उपाधि अर्जित करेगा। इस कोर्स की अवधि 5.5 साल की होती है।

BPT का मतलब bachelor of physiotherapy होता है। यह अनुशासन उन रोगियों के उपचार के लिए व्यायाम, मालिश और मांसपेशियों की गति का उपयोग करता है, जो दुर्घटनाओं से घायल हुए हैं या सर्जरी से उबर रहे हैं। इस कोर्स की अवधि 4.5 वर्षों की होती है।

निष्कर्ष

आज के इस article में हमने जाना मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट के बारे में। साथ ही हमने जाना मेडिकल लाइन MBBS, मेडिकल लाइन B.Pharma, मेडिकल लाइन D.Pharma, मेडिकल लाइन BSc nursing, मेडिकल लाइन BAMS, मेडिकल लाइन BUMS, मेडिकल लाइन BHMS और मेडिकल लाइन BPT के बारे में हमने आज जाना।

आशा है आज के इस article को पढ़ कर आपके मन में मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट को लेकर जो भी सवाल होंगे उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅