MMS (Multimedia messaging) क्या होता है? | Multimedia messaging in hindi

दोस्तों आज के समय में एक दिन में कितने ही बार हमें मैसेज भेजने की आवश्यकता पड़ती है या हम कितने ही message अपने मोबाइल में receive करते हैं। calls और messages हमारी दिनचर्या का एक जरूरी हिस्सा बन चुकी है जिसके बिना कई जरूरी काम नहीं होंगे।

पहले simple mobile हुआ करते थे, जिससे आप सिर्फ कुछ लिखकर मैसेज कर सकते थे, लेकिन आज स्मार्टफोन का जमाना है, आप photos, videos और दुसरे documents भी मैसेज कर सकते हैं। इसे ही आप MMS के नाम से जानते होगें।

हम सभी लोग MMS का इस्तेमाल तो करते हैं पर इसके बारे में सारी जानकारी नहीं जानते आज इस आर्टिकल में मैं आपको MMS क्या होता है?, MMS का fullform क्या होता है?, MMS इस्तेमाल कैसे किया जाता है? इन सब के बारे में विस्तार से जानेंगे।

यहां हम इसी MMS यानी multimedia messaging service के बारे में हिंदी में जानेंगे।

MMS क्या है ? (multimedia messaging in hindi)

जब हम किसी को photos, videos, pdfs, document को भेजते हैं इससे हम MMS के नाम से जानते हैं। एमएमएस (MMS) का ही fullform “Multimedia Messaging Service” होता है, हिंदी में इसे “मल्टीमीडिया संदेश सेवा” कहा जा सकता है। मोबाइल से सन्देश भेजने के लिए SMS का प्रयोग किया जाता है।

जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है, MMS मोबाइल इस्तेमाल करने वाले को multimedia (photos videos pdfs excel sheet) भेजने की अनुमति प्रदान करता है। multimedia के अंतर्गत फोटो, वीडियोस इत्यादि आते हैं। इसे एक special techniques का प्रयोग करके बनाया गया है। इसे multimedia को भेजने के लिए उपयोग किया जाता है, और इसी कारण यह सबसे अधिक लोकप्रिय है।

दूसरी multimedia में आप इसका उपयोग audio, phone contact और video files आदि को भेजने के लिए भी कर सकते है। इससे images, Graphics, Audio files, video clips और अधिक text को आसानी से भेजा जा सकता है।

Simple mobile phones में mms सपोर्ट नहीं करता है, इसका उपयोग केवल उन्हीं उपकरणों में किया जा सकता है, जो mms सपोर्ट कर सकते है| यह तकनीक mobile phone, smartphone , personal computer, laptop में सपोर्ट करती है।

MMS भेजने में कितना समय लगता है

अभी GPRS, 3G और 4G नेटवर्क पर इसका उपयोग किया जा सकता है। MMS भेजने की गति नेटवर्क पर निर्भर करती है, GPRS के द्वारा एमएमएस धीमी गति से जाता है, 3G से यह तेजी के साथ जाता है, 4G से सबसे तेजी के साथ सन्देश भेजा जा सकता है।

पहली बार MMS यानी मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस को Captive Technology के रूप में विकसित किया गया था, इसके द्वारा फोटोज वीडियोस ऑडियो आदि को मोबाइल से भेजना काफी आसान किया गया है। यह वीडियो स्ट्रीमिंग को भी support करता है।

Multimedia messaging service के लिए क्या जरूरी है?

MMS भेजने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। सुनिश्चित कर लें कि image layout लंबवत (vertical),है क्योंकि अधिकांश मोबाइल उपकरण लंबवत (vertical) प्रदर्शित होते हैं।

pictures के लिए JPEG format का उपयोग किया जाता है। Image की file size 420 kb से ज्यादा नहीं होना चाहिए। 327*400 resolution सबसे अच्छा रहता है। GIF भेजने की स्थिति में इसकी size 600 kb से ज्यादा की नहीं होनी चाहिए।

Must read

MMS, SMS से कैसे अलग है?

अगर सोचा जाए तो call के बिना शायद हमारा काम चल भी सकता है लेकिन जब बात आती है किसी ऑफिशियल काम, सूचना या अलर्ट इत्यादि की तो इसके लिए sms का ही इस्तेमाल होता है। Official काम calls से नहीं बल्कि sms से ही होता है।

SMS(एसएमएस) का फुल फॉर्म शार्ट मैसेजिंग सर्विस (short Messaging service) है, sms से आप केवल text ही भेज सकते हैं, इसका अविष्कार 1980 में किया गया था। यह एक पुरानी तकनीक है, जिसका उपयोग अभी तक किया जा रहा है, और वर्तमान समय में इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जा रहा है।

एक standard SMS को 160 अल्फाबेट का भेजा जा सकता है। यदि कोई एसएमएस इससे अधिक हो जाता है, तो वह उसकी लम्बाई के अनुसार 160 अल्फाबेट में कई भागों में विभाजित हो जाता है।

MMS के बारे में तो हम ऊपर जान ही चुके हैं। एमएमएस को मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस कहा जाता है, इस तकनीक के द्वारा एसएमएस उपयोगकर्ताओं को मल्टीमीडिया भेजने की सुविधा मिलती है। आप इससे ऑडियो, फोन संपर्क और वीडियो फ़ाइलों को भेज सकते हैं।

MMS में किसी भी limit का निर्धारण नहीं किया गया है, इसका size इस पर निर्भर करता है कि भेजने वाले का प्राप्त करने वाली की मोबाइल की क्षमता कितनी है। इसमें 300 kb की फाइल को बड़ी फाइल के रूप में जाना जाता है।

MMS और SMS का दुनिया भर में इस्तेमाल

MMS और SMS के इस्तेमाल की बात करें तो शायद ही कोई ऐसा होगा जो sms और mms के बारे में नहीं जानता हो। विश्व के सभी देशों में लोग इनका इस्तेमाल करते हैं। United States of America जैसे देश में sms का इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है।

अपने sim card या network operator को ही ले लीजिए, दिन भर में आपको अपने फोन पर कितने ही sms आते होंगे। मोबाइल नेटवर्क कंपनियां इसकी सुविधा प्रदान करती है। MMS उपयोगकर्ताओं को वीडियो और GIF सहित संदेशों में media को embed करने में सक्षम बनाता है।

MMS के कई इस्तेमाल है उदाहरण के लिए खुदरा विक्रेता MMS का उपयोग कई तरीकों से कर सकते हैं, जैसे डिस्काउंट कोड भेजना, वाउचर, नए उत्पादों की छवियां, बिक्री और अन्य घटनाओं के लिए निमंत्रण भेजना। किसी text के साथ कोई फोटो या वीडियो भेजना mms के द्वारा आसानी से किया जा सकता है।

Entertainment कंपनियां ग्राहकों को अपनी फिल्मों, टेलीविजन शो, प्रदर्शन के short clips के साथ मल्टीमीडिया संदेश भेज सकती हैं। या फिर टिकट विक्रेता ग्राहकों को मोबाइल टिकट देने के लिए एमएमएस तकनीक का उपयोग कर सकते हैं।

ऐसी कंपनियां जो image, videos इत्यादि भेज कर ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर खींचना चाहती है वे mms का इस्तेमाल बेहतर तरीके से कर सकती हैं।

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने mms क्या होता है?, MMS का फुल फॉर्म क्या है इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है इन सब के बारे में विस्तार से जाना है। आज के समय में हम सब media का आदान प्रदान करते हैं इसलिए हमें इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

इसलिए आज इस आर्टिकल में मैंने आपको और मल्टीमीडिया मैसेजिंग के बारे में बताया है मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल में आपको multimedia messages के बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅