ओप्पो किस देश की कंपनी है? | oppo kis desh ki company hai

आज हम जानेंगे कि ओप्पो किस देश की कंपनी है? (oppo kis desh ki company hai) या ओप्पो कहां की कंपनी है? (oppo kaha ki company hai)

ओप्पो किस देश की कंपनी है? (oppo kaha ki company hai)

मूल रूप से ओप्पो (Oppo) ‘चाइना’ की कंपनी है।

जैसे-जैसे स्मार्ट फोन का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है वैसे वैसे अलग-अलग देश के अलग-अलग कंपनियां भारत के बाजार में अलग-अलग स्मार्टफोन लॉन्च करती जा रही है। जिससे की मोबाइल फोन खरीदने वाले ग्राहकों के पास ढेर सारे विकल्प मौजूद होते हैं जिनमें से वह अपनी इच्छा और अपनी आवश्यकता के अनुसार चुनाव कर सकते हैं। अलग-अलग स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां भारतीय बाजार में आए दिन नए नए स्मार्टफोन लॉन्च कर रही है जिससे कि वह ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों को आकर्षित करके अपनी कंपनी के ज्यादा से ज्यादा स्मार्ट फोन बेच सकें।

अभी कुछ समय पहले हमारे देश में ‘बॉयकॉट चाइना’ की लहर चली थी जिसमें चाइना के जितने भी सामान भारतीय बाजार में बिकते हैं उनका बहिष्कार करने को कहा जा रहा था, इनमें मुख्य रूप से इलेक्ट्रॉनिक सामान ही थे और इलेक्ट्रॉनिक सामानों में भी ज्यादातर चाइना आधारित कंपनियों के मोबाइल और स्मार्टफोंस। वर्तमान में भारत पूरी दुनिया के सबसे बड़े स्मार्ट फोन बाजार में आता है जिस कारण स्मार्टफोन कंपनियों के लिए इसमें बने रहना फायदेमंद होता है। ऐसे में स्मार्टफोंस कंज्यूमर्स के लिए इस बात का पता होना जरूरी होता है कि वह जिस कंपनी का स्मार्टफोन यूज कर रहे हैं वह किस देश की कंपनी है, जिससे कि उन्हें अपने लिए एक स्मार्टफोन चुनने में मदद मिले।

वर्तमान समय में भारत देश के स्मार्टफोन बाजार में जो प्रमुख कंपनियां है उनमें से एक ओप्पो कंपनी का नाम भी आता है। वर्तमान समय में ओप्पो के फ़ोन भारत के लोगों द्वारा काफी इस्तेमाल किया जाता है, जिस कारण वर्तमान में यह एक बड़ी और लोकप्रिय स्मार्टफोन कंपनी है। ऐसे में स्मार्टफोन यूजर्स के मन में यह सवाल कई बार आता है कि ओप्पो किस देश की कंपनी है इसकी स्थापना कब, किसके द्वारा और कहां कि गई थी इत्यादि।

आज इस लेख में हम ओप्पो कंपनी से जुड़ी हुई कुछ जरूरी बातें जानेंगे, जैसे ओप्पो किस देश की है (oppo kaha ki company hai), इसकी स्थापना कब की गई थी? यह कंपनी और क्या-क्या बनाती है? इत्यादि

Oppo किस देश की कंपनी है?

oppo kis desh ki company hai

सीधे तौर पर कहा जाए तो ओप्पो एक चाइनीस कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइल कम्युनिकेशंस कंपनी है। चाइना की बड़ी इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों में से एक BBK electronics कॉरपोरेशन,  की ओपो एक सहायक कंपनी है।

यानी कि ओप्पो की पैरंट कंपनी बीबीके इलेक्ट्रॉनिक्स हीं है। ओप्पो के अलावा भारतीय स्मार्टफोन मार्केट के कुछ और नामी कंपनियां जैसे रियलमि, vivo, वनप्लस इत्यादि भी बीबीके इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन की ही सहायक कंपनियां है। ओप्पो कंपनी का पूरा नाम Guangdong Oppo Mobile Telecommunications corporation limited है। ओप्पो एक चीनी मोबाइल कंपनी है जिसका मुख्यालय यानी हेड क्वार्टर चीन के गुआंगडोंग नाम के क्षेत्र में स्थित है।

यदि बात की जाए ओप्पो कंपनी की स्थापना की तो oppo इस नाम को सबसे पहले साल 2001 में चाइना में रजिस्टर करवाया गया था जिसके बाद साल 2004 में इस कंपनी की शुरुआत की गई थी। साल 2008 में ओप्पो कंपनी के द्वारा इस कंपनी का पहला मोबाइल लांच किया गया था। स्थापना के समय ओप्पो की लोकप्रियता आज की जितनी नहीं थी। कंपनी का स्थापना के बाद ओप्पो कंपनी ने अपनी ब्रांड की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए अपने ब्रांड का कई सारे प्रमोशन किए, जैसे कि साल 2010 में थाईलैंड में, उसके बाद 2015 में बार्सिलोना फुटबॉल क्लब में और 2016 में फिलीपींस बास्केटबॉल एसोसिएशन से जुड़कर अपने ब्रांड का प्रमोशन किया। 2016 में ओप्पो चाइना की दूसरी बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को पीछे छोड़ करचाइना की नंबर वन स्मार्टफोन निर्माता कंपनी बनी थी।

इसे जरूर पढ़ें?

अपने फ्रेंड प्रमोशन के क्रम में इसी तरह साल 2017 में ओप्पो कंपनी ने भारत देश के क्रिकेट टीम के साथ अपने ब्रांड प्रमोशन के लिए एग्रीमेंट किया था जिससे ओप्पो कंपनी का Logo भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने वाले खिलाड़ी साल 2017 से लेकर 2022 तक अपने किट पर इस्तेमाल करने वाली है।

इसी कारण आज के समय में यदि आप इंडिया का कोई मैच देखते हैं तो इंडिया के जर्सी पर आपको ओप्पो का Logo देखने को मिलेगा।

साल 2019 तक ओप्पो स्माटफोन ब्रांड भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में भारत देश के प्रमुख स्मार्टफोन ब्रांड में से एक बन गया था। साल 2016 में जियो के आने के बाद सभी लोगों तक सस्ता इंटरनेट उपलब्ध हुआ जिससे स्मार्टफोन की मांग भारतीय बाजार में काफी बढ़ गई, इसी में ओप्पो ने अपनी कंपनी के कई स्मार्टफोन भारतीय बाजार में लॉन्च किए जिससे धीरे-धीरे इसकी लोकप्रियता भारतीय बाजार में बढ़ने लगी। आज के समय में ओप्पो कंपनी पूरी दुनिया के बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के बीच अपना नाम रखता है पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा खरीदे जाने वाले स्मार्टफोन ब्रांड में यह पांचवें नंबर पर आता था।

Oppo कंपनी का मालिक कौन है?

बात की जाए ओप्पो कंपनी के फाउंडर यानी संस्थापक की तो इस कंपनी की स्थापना टोनी चैन (Tony chen) के द्वारा की गई थी जो ओपो कंपनी के ग्लोबल सीईओ यानी चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर है।

वर्तमान समय में टोनी चैन ओप्पो कंपनी के ग्लोबल सीईओ है यानी के विश्व स्तर पर होने वाली इस कंपनी की सारी  गतिविधियों  की निगरानी यही करते हैं। वर्तमान में ओप्पो कंपनी विश्व भर में कार्य करती है, अलग-अलग महाद्वीपों और अलग-अलग देशों में इसके हेड अलग-अलग होते हैं।

हमारे भारत देश में ओप्पो कंपनी के सीईओ चार्ल्स वांग (charles wong) हैं। इस कंपनी का भारत में ग्रेटर नोएडा में 110 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट है। कंपनी द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक इस manufacturing प्लांट से हर महीने लगभग 4000000 स्मार्टफोन बनाए जाते हैं जिसके लिए लगभग इसमें लगभग 10000 लोग कार्यरत हैं।

देश में स्थापित इस मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में स्मार्टफोंस बनाए नहीं जाते सिर्फ स्मार्टफोंस की असेंबलिंग की जाती है। आज के समय में इस कंपनी का भारत में कोई भी स्मार्टफोन पूरी तरह से निर्मित नहीं होता दूसरे देशों से(मुख्य तौर पर चाइना से) स्मार्टफोन के पार्ट्स और पुर्जे मंगवा कर यहां उन पार्ट्स को एक साथ मिलाकर, असेंबल करके स्मार्टफोन तैयार किया जाता है।

आज के समय में विभिन्न मोबाइल कंपनियां जो मेड इन इंडिया कहकर स्मार्टफोंस बेचती है, वे सभी इसी प्रकार सिर्फ मोबाइल फोन की असेंबली में इंडिया में करती है ना की पूरी तरह से उनका निर्माण इंडिया में होता है।

Oppo कंपनी क्या क्या बनाती है?

oppo kaha ki company hai

आज के समय में भारत के ज्यादातर लोग ओप्पो कंपनी का नाम सिर्फ एक स्मार्टफोन निर्माता कंपनी के तौर पर जानते हैं। परंतु यह कंपनी स्मार्टफोन के साथ-साथ और भी कई सारे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज बनाती है। कंपनी के स्थापना के शुरुआती के दिनों में यह कंपनी डाटा स्टोर करने वाली ब्लू रे डिस्क बनाती थी।

ओप्पो कंपनी के द्वारा इसका पहला फोन 2008 में लांच किया गया था। उस कंपनी के फोन को चाइना के 200000 से भी अधिक इलेक्ट्रॉनिक स्टोरों में बेचा गया था।

वर्तमान में इस कंपनी के प्रमुख उत्पादन में स्मार्टफोंस, ऑडियो डिवाइसेज, पावर बैंक्स, और कुछ अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज शामिल है। ऑफर कंपनी के बजट स्मार्टफोन से लेकर महंगे फ्लैगशिप स्मार्टफोन तक फोन आते हैं जिनकी कीमत उसी अनुसार होती है। Audio devices में ओप्पो के वायर्ड हेडफोंस से लेकर नेक बैंड स्टाइल एयर फोंस और ट्रू वॉयरलैस  हेडफोंस भी आते हैं। ओप्पो अलग-अलग कैपेसिटी के पावर बैंक भी बनाती है।

Conclusion

दोस्तों आज के समय में मोबाइल फोन या विशेष करके स्मार्टफोन हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुकी है। देश का लगभग हर नागरिक आज के समय में एक स्मार्टफोन या कम से कम एक मोबाइल फोन तो इस्तेमाल करता ही है। वर्तमान में एक स्मार्टफोन का इस्तेमाल एक बच्चे से लेकर एक बुजुर्ग तक हर कोई करता है। एक स्मार्ट फोन के इस्तेमाल से हमारी जिंदगी कई तरह से आसान बनती है। दैनिक जीवन में हम स्मार्टफोन का इस्तेमाल कई तरह के कार्यों को करने के लिए करते हैं चाहे वह दूर किसी से किसी भी समय फोन पर बात करना हो या व्हाट्सएप इत्यादि द्वारा मैसेज फोटो या वीडियो शेयर करना हो, चाहे जब चाहे इंटरनेट का इस्तेमाल करना हो इन सभी कार्यों के लिए हम एक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं।

जिस प्रकार किसी भी  चीज के दो पहलू होते हैं उसी प्रकार एक स्मार्टफोन के इस्तेमाल के भी दो पहलू हो सकते हैं। पहला अच्छा पहलू और दूसरा बुरा। अच्छे पहलू में जैसा कि हम सभी को पता है कि एक स्मार्टफोन अपने आप में एक बहुत ही काम की चीज है हम घर बैठे ही स्मार्टफोन से बहुत से जरूरी कार्य पूरे कर सकते हैं पहले जिन्हें करने के लिए हमें घर से बाहर जाना पड़ता था। और वही है दूसरे पहलू में स्मार्टफोन को सिर्फ एक मनोरंजन और टाइमपास करने के लिए इस्तेमाल होने वाले गैजेट की तरह देखा जाता है। एक स्मार्टफोन  अपने आप में बहुत काम की चीज है वही इसका सिर्फ टाइमपास के लिए इस्तेमाल करना और इसकी लत लग जाना इसका बुरा प्रभाव भी है।

इस लेख में हमने भारतीय स्मार्टफोन बाजार की एक प्रमुख कंपनि ओप्पो के बारे में जाना कि यह किस देश की कंपनी है (oppo kaha ki company hai), इस कंपनी के स्थापना कब और किसके द्वारा की गई थी, किस प्रकार इस कंपनी का विकास हुआ, ओप्पो कंपनी क्या-क्या इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स बनाती है इत्यादि।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *