पीएचडी (PHD) कितने साल की होती है?

नमस्कार दोस्तों आज मैं आप लोगों को बताने वाला हूं कि पीएचडी कितने साल की होती है कितने वर्ष में हम पीएचडी को पूरी कर सकते हैं तथा पीएचडी पूरी करने के लिए न्यूनतम और अधिकतम समय कितना लग सकता है।

तथा पीएचडी से जुड़ी और भी कुछ जरूरी सवालों के उत्तर में आज आपको देने वाला हूं क्योंकि से पूरे ध्यान से पढ़िए ताकि आपके मन में पीएचडी से जुड़ी कोई भी सवाल ना रहे।

पीएचडी करने के 2 तरीके क्या है?

पीएचडी करने के दो तरीके हैं और आप इन 2 तरीकों में से पीएचडी को कर सकते हैं।

  • फुल टाइम पीएचडी (full time PhD)
  • पार्ट टाइम पीएचडी (Part time PhD)

फुल टाइम पीएचडी

फुल टाइम पीएचडी में आपको कोई कॉलेज में अपना एडमिशन कराना होगा। और आपको हर दिन कॉलेज जाना भी होगा आप बिना कॉलेज जाए पीएचडी को पूरी नहीं कर सकते

इसमें कुछ मिनिमम अटेंडेंस भी होता है और अटेंडेंस की मिनिमम पटेरिया आपको पूरी करनी ही होगी पीएचडी को पूरी करने के लिए।

फुल टाइम पीएचडी कितने साल की होती है?

फुल टाइम पीएचडी कम से कम आप 3 वर्ष में तथा अधिक से अधिक आप 5 वर्ष में पूरी कर सकते हैं।

अगर मैं आपको पहले की बात करूं तो पहले पीएचडी को पूरी करने में 18 महीने का समय लगता था लेकिन अब ऐसा नहीं है अब आपको पीएचडी करने के लिए कम से कम 3 वर्ष का वक्त लगेगा ही लगेगा।

पार्ट टाइम पीएचडी

पार्ट टाइम पीएचडी उसे कहते हैं जहां आपको हर दिन कॉलेज नहीं जाना पड़ता है आप घर बैठे अपनी पढ़ाई करके पीएचडी को पूरी कर सकते हैं।

आज के समय में पार्ट टाइम पीएचडी करना ज्यादा फायदेमंद साबित नहीं होता है क्योंकि पार्ट टाइम पीएचडी को मान्यता कम दी जाती है जिसके चलते भविष्य में विद्यार्थी को काफी परेशानी आती है।

पार्ट टाइम पीएचडी कितने साल की होती है?

पार्ट टाइम पीएचडी को पूरी करने के लिए आपको कम से कम 4 वर्ष का वक्त लगता है 4 वर्षों में ही आप भेज दी को पूरी कर पाएंगे अगर कोई कॉलेज 4 वर्ष से कम समय में भेज दी पूरी करने की वादा करता है तो ऐसे कॉलेज से आपको दूर रहना चाहिए।

फुल टाइम पीएचडी करें या पार्ट टाइम पीएचडी करें?

आपने जाना की फुल टाइम पीएचडी क्या होती है तथा पार्ट टाइम पीएचडी क्या होती है।

अब सवाल यह उठता है कि हमें फुल टाइम पीएचडी करनी चाहिए या पार्ट टाइम पीएचडी करनी चाहिए इन दोनों में क्या अंतर है और हमारे लिए कौन से पीएचडी फायदेमंद साबित हो सकती है।

मेरी राय माने तो आपको अधिक से अधिक कोशिश करनी चाहिए फुल टाइम पीएचडी करने के क्योंकि आजकल पार्ट टाइम पीएचडी को मान्यता कम दी जाती है तथा यह भी हो सकता है कि भविष्य में पार्ट टाइम पीएचडी की मान्यता को समाप्त भी कर दिया जाए।

इसलिए आपको रिक्स नहीं लेनी चाहिए और पार्ट टाइम पीएचडी करने के मुकाबले फुल टाइम पीएचडी करने पर ज्यादा जोर देनी चाहिए ताकि भविष्य में आपको कोई दिक्कत ना हो।

क्या नौकरी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए