पायलट बनने के लिए कौन सा कोर्स करना पड़ता है? Pilot banne ke liye kaun sa course karna padta hai

आज के समय में हर कोई अपना career बनाना चाहता है और इस career को बनाने के लिए अब विद्यार्थी के पास काफी सारे Option मौजूद है।

अब के विद्यार्थी अपना career अपनी रूचि के हिसाब से बनाते हैं, जैसे कि कई सारे विद्यार्थियों को medical line में रूचि होती है तो कईयों को engineering line में, वैसे ही कई सारे विद्यार्थी ऐसे भी हैं जो कि pilot बनने का सोचते हैं।

एक विद्यार्थी यदि शुरू से ही यह सोच ले की उसे pilot ही बनना है तो वह एक pilot की योग्यता अनुसार अपनी पढ़ाई करना शुरू कर सकता है, जिससे कि वह आगे चलकर भविष्य में एक अच्छा pilot बन सके।

परंतु एक pilot बनने के लिए उन्हें इसकी पूरी जानकारी होना अनिवार्य है। यदि किसी विद्यार्थी को pilot बनना है और उसे यह नहीं पता कि pilot बनने के लिए कौन सा course करना चाहिए, तो उससे आगे चलकर कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

आज के इस article में मैं आपको pilot बनने के लिए कौन सा course करना पड़ता है इसके बारे में पूरी जानकारी दूंगी। साथ ही इससे जुड़ी कई अन्य बातें भी इस article के द्वारा आप तक पहुंचाऊंगी। तो इसलिए इस article को बड़े ही ध्यान पूर्वक पढ़ें और हमारे साथ अंत तक बने रहे।

 

pilot बनने के लिए कौन सा course करना पड़ता है?

 

Pilot बनने के लिए विद्यार्थी को कम से कम 12वी पास करना अनिवार्य है। flight training अध्ययन एक course है जिसका उपयोग किसी विमान को pilot करना सीखते समय किया जाता है।

प्राथमिक और मध्यवर्ती उड़ान प्रशिक्षण का समग्र उद्देश्य basic avionics skills का अधिग्रहण और सम्मान करना है। flight training के महत्वपूर्ण top courses करना होता है यानी कि pilot training लेनी होती है। अब हम कुछ training के बारे में जानेंगे ,

  • Aviation में b.sc
  • Aeronautical engineering में B.Tech
  • Commercial pilot training
  • Ground staff में diploma और cabin crew training

इसे भी जरूर पढ़ें 

आज के इस article में हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • Aviation में b.sc ?
  • Aeronautical engineering में B.Tech ?
  • Commercial pilot training ?
  • Ground staff में diploma और cabin crew training ?

अब हम इन सभी courses के बारे में विस्तार से जानेंगे,

Aviation में b.sc ?

 

BSc Aviation 3 साल की अवधि का Aviation में Undergraduate degree course है। मुख्य रूप से syllabus उड़ने वाले airplane, helicopter आदि से संबंधित है।

पूर्णकालिक पाठ्यक्रम के लिए कुल अवधि 3 वर्ष है। किसी मान्यता प्राप्त board से किसी भी विषय में कक्षा 10 और कक्षा 12 में न्यूनतम कुल अंक और चिकित्सकीय रूप से फिट प्रमाण पत्र (पूर्ण दृष्टि, ऊंचाई और वजन) aviate का पीछा करने के लिए पात्रता criteria हैं।

 

Aeronautical engineering में B.Tech ?

 

Aeronautical Engineering में b.tech 4 साल का Undergraduate aerospace engineering Course है। इसके लिए the minimum योग्यता (10+2) science subjects जैसे biology, maths और chemistry के साथ परीक्षा है।

भारत में syllabus के लिए लिया जाने वाला औसत शिक्षण शुल्क 4 साल की अवधि के लिए 5000 रुपय से 2 लाख रुपये के बीच है। engineers को सरकारी क्षेत्रों में नौकरी का प्रस्ताव मिल सकता है जिनका भुगतान आधिकारिक वेतनमानों द्वारा किया जाता है।

aeronautical engineers को विस्तार पर नजर रखनी चाहिए और समस्या-समाधान में अच्छा होना चाहिए। उनके पास mathematical accuracy और computer skills, design skills और अच्छी तरह से वार्ता करने की क्षमता होनी चाहिए। B.Tech Aeronautical Engineering भारत में सबसे रोमांचक career संभावनाओं में से एक है।

यह course top companies में न केवल रोमांचक नौकरी की संभावनाएं प्रदान करता है बल्कि साथ ही, यह जीवन भर pilot बने रहने और अंतरिक्ष में घूमने का यह जीवन भर का रोमांच मिलता है। इनमें से अधिकांश उत्तीर्ण aeronautical engineers को इसरो द्वारा काम पर रखा गया है।

Commercial pilot training?

 

यह कोर्स 200 घंटे का flight training प्रदान करता है यह 8-10 महीने का Course Dual/single, normal flight, circuit और landing sorties प्रदान करता है।

DGCA की आवश्यकता के अनुसार Device और Cross Country Flights, Skill Test, Route Check and Night Flying Rating। 10+2 (Physics और Mathematics) की न्यूनतम योग्यता के साथ अपने commercial pilot licence जारी करने के समय उम्मीदवार की आयु 18 वर्ष होनी चाहिए।

commercial pilot training diploma level का एक licensing Course है जो नागरिक aviation course के अंतर्गत आता है। यह syllabus उम्मीदवार को Solo pilot विमान में command में pilot के रूप में या Multiple-pilot विमान के रूप में co-pilot के रूप में कार्य करने की अनुमति देता है। इस syllabus के लिए औसत syllabus charge 3 लाख से 12 लाख है और वे average salary 10 लाख से 30 लाख तक कमाते हैं।

वे airports, pilot training centres, airlines, aviation industry, flying clubs, security services, flying academies, military और paramilitary services आदि जैसे क्षेत्रों में तैनात हैं।

Ground staff में diploma और cabin crew training?

 

ground staff वे व्यक्ति होते हैं जो पूरे हवाई अड्डे पर तैनात होते हैं और उड़ानों से पहले और बाद में यात्रियों की विभिन्न जरूरतों को पूरा करते हैं।

वे उड़ानों के बारे में यात्रियों के सवालों के जवाब देने, आरक्षण करने, सामान की जांच करने आदि के प्रभारी हैं। IBEF के अनुसार, ground crew member career के रूप में भविष्य में एक आकर्षक अवसर हो सकता है, क्योंकि Indian aviation market 2024 तक दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा होने की उम्मीद है। ground staff के रूप में काम करने के इच्छुक उम्मीदवारों को Diploma, UG और PG levels पर विभिन्न aviation management courses को पूरा करना होगा।

भारत के Top Aviation Colleges में entry पाने के लिए, उम्मीदवारों को अपनी 12 वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी करनी होती है। College के आधार पर, entrance examinations या merit list के आधार पर admission होता है। भारत में कई संस्थान उम्मीदवारों को ground staff training course प्रदान करते हैं।

निष्कर्ष

आज के इस article में हमने जाना pilot बनने के लिए कौन सा course करना पड़ता है। साथ ही हमने जाना Aviation में b.sc, Aeronautical engineering में B.Tech, Commercial pilot training और Ground staff में diploma और cabin crew training, हमने इन सभी के बारे में जानना।

आशा है आज की इस article को पढ़कर आपके मन में pilot बनने के लिए कौन सा course करना पड़ता है से संबंधित जो भी सवाल होंगे, उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅