साइंस लेकर क्या-क्या बन सकते हैं? Science lekar Kya Kya ban sakte hain

यदि आप एक साइंस के विद्यार्थी है और आगे चलकर साइंस स्ट्रीम में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको यह जानना अति आवश्यक है की साइंस लेकर क्या-क्या बन सकते हैं?

आज के इस आर्टिकल में हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • साइंस लेकर क्या-क्या बन सकते हैं?
  • साइंस में PCM चुनने वालों के लिए कैरियर ऑप्शन?
  • साइंस में PCB चुनने वालों के लिए कैरियर ऑप्शन?

साइंस लेकर क्या-क्या बन सकता है?

विद्यार्थियों के बीच 10वीं के बाद साइंस स्ट्रीम के साथ आगे की पढ़ाई करना बहुत ही प्रचलन में है। इसकी मुख्य वजह है साइंस स्ट्रीम हर तरह के कैरियर बनाने में बहुत ही मददगार साबित हुआ है। साइंस स्ट्रीम में दो ग्रुप होते हैं। PCM और PCB यह दो ग्रुप में साइंस स्ट्रीम को बांटा गया है। ऐसी बहुत सी नौकरियां ऐसी होती हैं जिसमें की PCB और PCM दोनों ग्रुप के विद्यार्थी कैरियर बना सकते हैं।

परंतु कुछ ऐसे भी जॉब प्रोफाइल है जो कि मैथ और बायोलॉजी ग्रुप के छात्रों के बीच विभाजित है। उन job profile के लिए विशेष course और knowledge की जरूरत होती है। Science stream की बात करें तो इसका चुनाव करने का विकल्प विद्यार्थियों को दसवीं के बाद मिलता है।

वे science, commerce या arts stream मे से किसी एक का चुनाव करते हैं, क्योंकि हम साइंस स्ट्रीम की बात कर रहे हैं तो इस के लिए साइंस स्ट्रीम में विद्यार्थी मैथ या बायोलॉजी में से कोई एक विषय चुनते हैं। Physics और Chemistry सामान्य होते हैं, यानी कि Physics, Chemistry और Mathematics या फिर Physics, Chemistry और Biology दोनों में से किसी का भी चुनाव करने के बाद विद्यार्थी के लिए कैरियर के भरपूर विकल्प मिलते हैं।

इसमें भी दो विकल्प होते हैं। एक तो mathematics का और दूसरा biology का। Technical field से संबंधित क्षेत्रों में कैरियर बनाने की सोचने वाले विद्यार्थी PCM यानी physics, chemistry और maths का चयन करते हैं। इसके अलावा medical और इससे संबंधित क्षेत्रों में कैरियर बनाने की सोचने वाले विद्यार्थी PCB यानी physics, chemistry और biology का चयन करते हैं।

इसे भी जरूर पढ़ें

कैरियर का नाम लेने पर जितने भी मुख्य नाम हमारे दिमाग में आते हैं, जैसे कि इंजीनियर, डॉक्टर, टीचर, बिजनेसमैन इसके अलावा गवर्नमेंट एंप्लॉय आदि सभी में से कुछ भी आप साइंस स्ट्रीम लेने के बाद बन सकता है। साइंस स्ट्रीम विद्यार्थियों को बहुत से कैरियर विकल्प प्रदान करता है, जो कि साइंस स्ट्रीम के इतने लोकप्रिय होने का एक मुख्य कारण है।

साइंस में PCM चुनने वालों के लिए कैरियर ऑप्शन?

साइंस स्ट्रीम में PCM यानी कि Math का चुनाव कौन करता है,आइए जानते हैं।

  • इंजीनियर

साइंस मैथ ग्रुप के ज्यादातर विद्यार्थियों का पहला ऑप्शन होता है, अपने इंटरेस्ट के फील्ड में इंजीनियरिंग कोर्स करके गवर्नमेंट या प्राइवेट इंजीनियरिंग जॉब करना। 12वीं के बाद इंजीनियरिंग कोर्स जैसे Bachelor of Engineering (B.E), Bachelor of Technology(B.Tech) यह सभी कोर्स करके आप इंजीनियर बन सकते हैं।

  • आर्किटेक्चर

इंजीनियरिंग के पश्चात साइंस मैथ के छात्रों की दूसरी पसंद होती है। यदि आपको कंस्ट्रक्शन वर्क, पुल और बिल्डिंग आदि के ब्लूप्रिंट डिजाइनिंग में इंटरेस्ट है, तो 12वीं के बाद आप (B.arch) का कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप building constructor, interior designer, Architecture engineer, art director जैसे जॉब प्रोफाइल पर जॉब कर सकते हैं।

  • रिसर्च एंड टीचिंग

12वीं में साइंस स्ट्रीम से मैथ्स कर लेने के बाद टीचिंग फील्ड एक अच्छा करियर ऑप्शन है। यदि आप टीचिंग में कैरियर बनाना चाहते हैं, तो आपको बैचलर डिग्री के बाद मास्टर डिग्री भी प्राप्त करना आवश्यक है। इसके साथ ही आपको टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट भी क्लियर करना होता है। उसके बाद आप अपने योग्यता और एलिजिबिलिटी के अनुसार सरकारी या प्राइवेट टीचर बन सकते हैं।

  • कंप्यूटर एप्लीकेशन एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी

यदि आपको कंप्यूटर में रुचि है तो आप अपनी पसंद के स्पेशलाइजेशन वाले कंप्यूटर कोर्स को को करके एक अच्छा कैरियर बना सकते हैं। आप वेब डिजाइनर, सिस्टम एनालिस्ट, सॉफ्टवेयर डेवलपर, नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर, एप डेवलपर जैसी जॉब प्रोफाइल पर जॉब पा सकते हैं।

साइंस में PCB चुनने वालों के लिए कैरियर ऑप्शन?

साइंस स्ट्रीम में PCB यानी कि Biology का चुनाव कौन करता है, आइए जानते हैं।

  • Forensic science

फॉरेंसिक साइंस एक अच्छा करियर ऑप्शन है, यदि आपको साइंस में विभिन्न क्षेत्रों का ज्ञान प्राप्त करना अच्छा लगता है तो आप फॉरेंसिक साइंस मे कैरियर बना सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप क्राइम सीन इन्वेस्टिगेटर, फॉरेंसिक साइंटिस्ट, डिजिटल फॉरेंसिक एक्सपर्ट आदि जैसे जॉब पर जॉब कर सकते हैं।

  • B.Sc nursing

BSc nursing का कोर्स आपको एक पेशेवर नर्स बनाता है। इस कोर्स की अवधि 3 से 4 सालों की होती है। इस‌ कोर्स में वैसे विद्यार्थी आते हैं जिन्हें नर्स के क्षेत्र में जाना होता है। एक विद्यार्थी जो कि जल्दी जॉब पाना चाहता है, उसके लिए बीएससी नर्सिंग का विकल्प काफी अच्छा है।

BSc nursing का मतलब Bachelor of Science in nursing होता है। यह कोर्स विद्यार्थी को एक नर्स के तौर पर तैयार करता है। BSc nursing में दाखिले के लिए भी आपको सबसे पहले NEET का एग्जाम पास करना होता है। इस कोर्स को अंडर ग्रैजुएट विद्यार्थी भी कर सकते हैं।

  • B Pharma

B Pharma कोर्स के माध्यम से आप भारत में एक लाइसेंस प्राप्त रसायनज्ञ बन सकते हैं। इस कोर्स की अवधि 4 सालों की होती है। यह कोर्स मुख्य रूप से स्वास्थ्य सेवा, जीव विज्ञान, फार्मेसी और रसायन विज्ञान जैसे विषयों पर निर्धारित है।

B.Pharma का पूरा नाम bachelor of pharmacy होता है। B.Pharma का कोर्स करने के बाद उम्मीदवार आसानी से नौकरी पा सकते हैं। इसके बाद उम्मीदवारों के लिए मेडिकल लाइन में ऑप्शन खुलते हैं, जैसे कि वह एक मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल मे हमने जाना साइंस लेकर क्या-क्या बन सकते हैं। साथी हमने यह भी जाना कि साइंस में PCM चुनने वालों के लिए career option क्या-क्या हो सकते हैं। इसके साथ ही हमने साइंस में PCB चुनने वालों के लिए career option क्या-क्या हो सकते हैं, इसके बारे में भी चर्चा की।

आशा है आज के इस आर्टिकल को पढ़कर आपके मन में साइंस लेकर क्या-क्या बन सकते हैं इससे जुड़े जो भी सवाल होंगे, उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅