SSC CHSL में कितनी पोस्ट होती है? (2022) | SSC CHSL me kitni post hoti hai?


अगर आप 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद एक अच्छी व उच्च पोस्ट पर नौकरी करना चाहते हैं तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए काफी जानकारी भरा हो सकता है ;क्योंकि आज मैं आपको higher secondary exam clear करके दिए जाने वाले प्रमुख परीक्षा के बारे में बताने जा रही हूं।

जिसे आज के समय में काफी tough परीक्षा में से एक माना जाता है। इसे clear करके आप आसानी से एक अच्छा -खासा जॉब कर सकते हैं और अपना भविष्य उज्जवल बना सकते हैं। आज मैं आपको इस आर्टिकल में SSC CHSL में कितनी पोस्ट होती है? इसके बारे में बताने जा रही हूं; जिससे आपको SSC CHSL के पदों को जाने में काफी मदद मिलेगी और आप उस हिसाब से अपना बेहतर तैयारी कर पाएंगे।

SSC CHSL क्या है?

SSC CHSL  एसएससी के द्वारा conduct कराया जाने वाला एक परीक्षा  है; जिसे क्वालीफाई करके आप SSC के अंतर्गत सरकारी जॉब पा सकते हैं ।अगर आप बारहवीं कक्षा pass  कर लिए हैं और एक अच्छी नौकरी की तलाश में हैं और एक उच्च पद पर नौकरी करना चाहते हैं तो SSC CHSL उनमें से एक है ।

उच्च पद होने के कारण इसका परीक्षा  भी काफी कठिन होता है। जिसके लिए हर साल लाखों बच्चे ना जाने कितनी संख्या में मेहनत करते हैं और उसमें से कुछ इस सफल हो पाते हैं। इसीलिए अगर आप SSC CHSL एक्जाम crack करना चाहते हैं तो आपके अंदर मेहनत करने की ताकत और लगन दोनों होना काफी आवश्यक है,

तभी आप परीक्षा  को क्लियर कर सकते हैं पर एक अच्छी बात आपके पास यह भी है कि एसएससी द्वारा हर साल यह फॉर्म निकाला जाता है। अगर आप पहले साल अच्छी तरह परफॉर्म नहीं कर पाते तो आप अगले साल अपने आप को ओर improve  करके अच्छे ढंग से परीक्षा दे सकते हैं और अपने आप को भी एक सरकारी नौकरी पाने के काबिल बना सकते हैं।

SSC CHSL में कितनी पोस्ट होती है? (2022)

SSC CHSL में कितने पोस्ट होते हैं?

अगर आप SSC CHSL परीक्षा  देने के लिए काफी इच्छुक है तो यह आर्टिकल आपके लिए काफी अहम होने वाला है; क्योंकि आज मैं आपको इसमें SSC CHSL से संबंधित उसके पोस्ट के बारे में विस्तार पूर्वक बताने जा रही हूं।

SSC जिसे हम विस्तारपूर्वक Staff Selection Commission कहते हैं और CHSL जिसका मतलब ही होता Combined Higher Secondary Level  यानी यह परीक्षा उन्हीं अभ्यर्थियों के लिए होता है, जिन्होंने 12वीं की परीक्षा पास कर लिया हो। वह SSC CHSL के विभिन्न पदों पर आयोजित किए गए परीक्षा के form को भर सकते हैं;

और इस परीक्षा  को क्लियर करके आप इन्हीं में से किसी एक को चुन सकते हैं और उसमें कार्यरत हो  सकते हैं; किंतु आपको यह पहले  बता दें कि SSC CHSL एक ऐसा पोस्ट है ; जिसमें आपका ट्रांसफर नहीं होता मतलब कि आप अपनी पूरी जॉब उसी स्थान पर करते हैं, जहां पर आप की पोस्टिंग शुरुआती समय पर होती हैं।

SSC CHSL के पोस्ट निम्नलिखित हैं जैसे:-

  1. DEO (Data Entry Operator)
  2. LDC (Lower Division Clerk)
  3. PA (Postal Assistant)
  4. Court Clerk 

आइए इन पदों के बारे में विस्तारपूर्वक जानते हैं:-

DEO (Data Entry Operator)

डाटा एंट्री ऑपरेटर के विषय में आपलोगों में से अधिकतर ने अवश्य सुना होगा और जिसकी हम आए दिन इंटरनेट पर तलाश करते रहते हैं या तो पार्ट टाइम जॉब के लिए या फिर फुल टाइम जॉब के लिए ;किंतु आपको यह बता दें कि SSC  के द्वारा आयोजित की गई परीक्षाओं में एक post डाटा एंट्री ऑपरेटर का भी होता है।

जिसे आज के समय में एसएससी द्वारा आयोजित किए गए परीक्षा में से सबसे पसंदीदा पोस्ट माना जाता है और अधिकांश लोग इस पोस्ट को पाना चाहते हैं और उसके लिए कड़ा कंपटीशन भी करते हैं।

डाटा एंट्री ऑपरेटर का मुख्य कार्य डाटा की एंट्री करना होता है; समय-समय पर उन्हें कुछ कार्य दिए जाते हैं जिन्हे उन्हें enter करके डाटा maintenance करते रहना होता है यानी अगर आम भाषा में कहें तो आप अपने किसी सब्जेक्ट के नोट्स को लिखते हैं और अगले दिन उस नोट्स को फिर से अपडेट करते हैं और आगे निरंतर बढ़ते जाते हैं।

जब तक की किताब खत्म ना हो जाए। उसी प्रकार आप को data दिए जाते हैं और आपको कंप्यूटर सिस्टम के अंदर उसे दर्ज करना होता है और उसे समय-समय पर अपडेट करते रहना होता है या कभी-कभी आपको प्रूफ के तौर पर भी उसका इस्तेमाल करना पड़ सकता है। 

कभी-कभी आप से ऊपर के पोस्ट के अधिकारी आपसे किसी चीज के आवेदन या फिर किसी जांच से संबंधित अगर कोई महत्वपूर्ण बात कहते हैं तो आपको उसका जवाब ईमेल के द्वारा देना होता है ;वह भी आपको रिकॉर्ड रखना होता है, क्योंकि आपका सबसे महत्वपूर्ण कार्य यही है कि आप हर चीज को नोट करें यानी डाटा को दर्ज करते रहें ताकि आपके पास कंप्यूटर विभाग के कार्यो की रिपोर्ट हमेशा maintain रहे।

इसके अलावा आपको कंप्यूटर से संबंधित कुछ अन्य ओर कार्य भी करने होते हैं:- जैसे रिपोर्ट तैयार करना, डाटा शीट बनाना, presentation तैयार करना, किसी दस्तावेज को तैयार करना, यह सभी भी डाटा एंट्री ऑपरेटर का ही कार्य होता है।

ज़रूर पढ़ें? (Must Read)

अगर आप डाटा एंट्री ऑपरेटर के तौर पर कार्य करते हुए अपना विकास यानी प्रमोशन करना चाहते हैं तो इसके बाद आप विभिन्न पदों पर प्रमोशन पाते हैं जो इस प्रकार है:-

  1. Data Entry Operator Grade B
  2. Data Entry  Operator Grade C
  3. Data Entry Operator Grade F ( इस पोस्ट पर कार्यरत होकर आप एक System Analyst बन जाते हैं)

LDC (Lower Division Clerk):-

इस पोस्ट को हम जूनियर सचिवालय सहायक (Junior Secretariat Assistant) के नाम से भी जानते हैं। जिसे आप किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होने के पश्चात दे सकते हैं।

LDC  जो कि एक  Clerk की पोस्ट होती है;इस पोस्ट पर कार्यरत व्यक्ति को कागजात,फाइलों और अभिलेखों से निपटना होता है और अपने वरिष्ठ अधिकारियों को समय-समय पर जानकारी देते रहना होता है और फाइल, रिकॉर्ड और अन्य विवरण उन्हें प्रदान करना होता है।

इसके अलावा उन्हें अन्य कर्मचारियों के दस्तावेजों ,बिल और उनके वेतन की रसीदो को भी तैयार करना होता है, तैयार की गई रिपोर्ट को अपने वरिष्ठ अधिकारियों के पास जमा करना और उन्हें दिखाना और उसे approve कराने का कार्य भी उन्हीं का होता है; यानी अगर आम भाषा में कहें तो यह पोस्ट काफी जिम्मेदारी भरा है। अगर आपने potential तो आप इस पोस्ट पर आसानी से कार्यरत होकर कार्यभार संभाल सकते हैं।

अगर आप इस पोस्ट से प्रमोशन पाते हैं तो आप विभिन्न पदों पर कार्यरत हो सकते हैं जो इस प्रकार है:-

  1. Assistant ( जिसे हम Upper Division Clerk के नाम से भी जानते हैं).
  2. Division Clerk ( जो कि Upper Division Clerk से बड़ा पद होता है).
  3. Section Clerk( अगर आप Upper Division Clerk या Division Clerk के पद पर कार्यरत होते हैं;उसके तत्पश्चात आप Section Clerk बन सकते हैं).

PA (Postal Assistant):-

SSC CHSL  परीक्षा में सहायक के पद में से एक पद पोस्टल असिस्टेंट (PA)  का होता है । जिसका विभाग भारत सरकार के डाक विभागों में होता है।

जब आप Postal Assistant के तौर पर नियुक्त किए जाते हैं तो आप निम्नलिखित विभागों में से किसी एक विभाग के लिए चुने जाते हैं जो कुछ इस प्रकार है:-

  1. Army Postal Service 
  2. Post Office 
  3. Regional Office
  4. Foreign Post Office 
  5. Saving Bank Control Organizations 
  6. Mail Motor Service 
  7. Postal Stores Service 
  8. Circle Office 
  9. Railway Mail service 

इन सभी पदों को desk जॉब कहा जाता है ;क्योंकि इसके अंतर्गत आपको desk  में बैठकर अपने कार्य को करना और कार्यभार को संभालना होता है  

अगर आप पोस्टल असिस्टेंट के तौर पर चुने जाते हैं तो आप का मुख्य कार्य दस्तावेजों को अप्रूव कराना ,कंप्यूटर अथवा रजिस्टर्ड में डाटा बेस  ready करना ,डाटा की रिपोर्ट तैयार करना, प्राप्त किए गए मेल का पता लगाना, प्राप्त किए गए मेल को disposal के लिए छांट कर अलग करना, कंप्यूटर को समय-समय पर अपडेट करना, कस्टंबर के प्रश्नों को सुनना और उसके सहायता तथा समाधान करना, डाकघर के माध्यम से विदेशी लिखो का प्रसारण करना इत्यादि एक पोस्टल असिस्टेंट का कार्य होता है।

Postal Assistant के पद के बराबर ही एक पद आता है Sorting Assistant (SA)का जिन का कार्य भी पोस्टल असिस्टेंट के जैसा ही होता है; किंतु इनका कार्य का समय कुछ अलग होता है ।

जैसे कि आपको बता दें इन्हें शिफ्ट में काम करना होता है। अगर यह 6:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक कार्य कर सकते हैं या दोपहर 2:00 बजे से रात 10:00 बजे तक या फिर शाम 6:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक किसी भी समय यह चुनकर अपने कार्य को कर सकते हैं। 

अगर Sorting Assistant रात की शिफ्ट को चुनते हैं तो इसकी कार्य अवधि 12 घंटे की होती है; किंतु आपको इस दौरान weeks में सिर्फ 3 दिन ही काम करना होता है।

इस पोस्ट की एक खास बात यह है कि आपकी पोस्ट है लगभग आपके होम टाउन में होती हैं।

इस पोस्ट के promotion के बाद आप विभिन्न पदो पर आगे का कार्य कर सकते है:-

  1. Supervisor ( जोकि postal असिस्टेंट और sorting असिस्टेंट से ऊंचा पद होता है)।
  2. Senior Supervisor ( यह सुपरवाइजर से उच्च पद होता है जिसे आप सुपरवाइजर बनने के बाद अपनी काबिलियत पर हासिल कर सकते हैं)।
  3. Chief Supervisor ( जिसे हम Higher Selection Grade lll के नाम से भी जानते हैं ,यह एसएससी के अंतर्गत सबसे उच्च पदों में से एक है)।
  4. Court Clerk:-

इसके  नाम से ही आपको साफ पता चल रहा है कि यह एक ऐसा पोस्ट है जिसके अंतर्गत आपको अदालत के प्रशासन की सहायता करना होता है; जो आमतौर पर वकील,न्यायधीश इत्यादि के लिए यह कार्य करते है।

इनका job का nature भी desk job की तरह ही होता है। इन्हें आमतौर पर कोर्ट के रिकॉर्ड बनाने होते हैं। कोर्ट सुनवाई के दौरान शपथ लेना, अदालतों के आदेश पर निर्णयों की प्रतियां तैयार करना, मीटिंग एजेंडा तैयार करना, लेख बनाना इत्यादि कार्य इन्हें अदालत के अनुरूप करना होता है।

अगर आप इस पोस्ट के लिए परीक्षा देते हैं तो इस पोस्ट के लिए आपकी नौकरी भारत के किसी भी राज्य में हो सकती है अगर आप इस पद के आगे प्रमोशन पाकर अपना ब्रांच बढ़ाना चाहते हैं तो आप विभिन्न पदों पर अपना पोस्ट बढ़ा सकते हैं जैसे:-

  1. Assistant Clerk 
  2. Bench Clerk 
  3. Head Clerk ( यह पोस्ट higher secondary exam clear कर लेने के बाद सबसे higher पोस्ट में से एक है)।

Conclusion 

आशा है कि आप को हमारा आज का आर्टिकल एसएससी सीएचएसएल के विभिन्न पदों के बारे में जानकारी अधिकतर जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको यह जानकारी लाभप्रद लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य साझा कीजिएगा और अगर आपके मन में इससे संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो आप हमें बेझिझक कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं ।

धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅