स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने?

यदि आप एक स्त्री विशेषज्ञ डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपको यह जानना अति आवश्यक है कि स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने?

आज के इस आर्टिकल में हम इन सवालों के जवाब ढूंढेंगे।

  • स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने?
  • गायनेकोलॉजिस्ट कौन होता है?
  • स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के तरीके?
  • स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के लिए कुछ जाने-माने कोर्सेज

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने?

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले आपको मेडिकल में बैचलर डिग्री और फिर मास्टर डिग्री लेनी होती है। स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर को हम gynaecologist के नाम से भी जानते हैं।

Specialisation के रूप में Gynecologist को आपको अपने पीजी कोर्स में चुना होता है। इसके बाद आप अपना पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल कोर्स पूरा करने के बाद एक स्त्री रोग विशेषज्ञ यानी कि gynecologist बन जाते हो।

Gynecologist, female reproductive system, से संबंधित इलाज के अध्ययन को कहा जाता है। Gynecologist, की पढ़ाई करके स्त्री रोगों का इलाज और diagnosis करने वाले डॉक्टर ही gynecologist होते हैं।इसमें दो प्रकार की प्रक्रियाएं शामिल होती है, Surgical और medical।

Gynecologist, female reproductive health, obstetrics for delivery और pregnancy process , reproductive medicine इन सभी के अच्छे जानकार होते हैं।

गायनेकोलॉजिस्ट कौन होता है?

गायनेकोलॉजिस्ट, महिलाओं के प्रजनन से जुड़े हुए चिकित्सा पद्धति है। गायनेकोलॉजी की पढ़ाई करके स्त्री रोगों का उपचार और निदानकरने वाले व्यक्ति स्त्री रोग विशेषज्ञ कहलाते हैं। लोगों के इलाज के दो प्रक्रियाएं होते हैं मेडिकल और सर्जिकल। इसे ‘ The Science of Women’ भी कहा जाता है। एक स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर के रूप में आपको तीन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है।

  • प्रजनन चिकित्सा
  • प्रसूति शास्त्र
  • प्रसव के लिए प्रसूति और गर्भावस्था की प्रक्रिया

इसे भी जरूर पढ़ें

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के तरीके?

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले हमें 10वीं और फिर 12वीं पास करनी होती है। आप किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अपनी 10वीं और 12वीं पूरी कर सकते हो। एक डॉक्टर बनने के लिए आपको अपने रिजल्ट पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है और अपने 10वीं और 12वीं का रिजल्ट बहुत ही अच्छा लाना होता है।

इसके बाद हमें एमबीबीएस कोर्स के लिए एडमिशन लेना होता है। परंतु एमबीबीएस के कोर्स में एडमिशन लेने से पहले हमें एक एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है। एग्जाम को Neet UG कहा जाता है।

नीट एग्जाम हर साल NAT द्वारा विद्यार्थियों को ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए आयोजित कड़वाई जाता है।

मेडिकल का एंट्रेंस एग्जाम यानी कि नीट पास करने के बाद नीट में आए आपके रैंक के अनुसार आपको मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिलता है। यह कोर्स लगभग 5.5 साल का होता है। जिसमें हमें 1 साल की इंटर्नशिप भी मिलती है। कॉलेज मिलने के बाद आप एमबीबीएस के एडमिशन की बाकी साड़ी प्रक्रियाएं आगे बढ़ा सकती हैं।

जब बात गायनाकोलॉजिस्ट की होती है तो इसके लिए एमबीबीएस छात्रों को एमबीबीएस पूरा करने के बाद NEET PG का एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। यह बहुत ही कठिन परीक्षाओं में से एक होती है। इस परीक्षा को पास कर लेने के बाद आप पीजी में एडमिशन ले सकते हो, और गायनोकोलॉजिस्ट में specialisation भी कर सकते हो।

Neet PG एंट्रेंस एग्जाम को अच्छे से पास करने के बाद गायनोकोलॉजिस्ट में M.S या M.D जैसे कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं।

M.S या M.D कोर्स में आपको स्पेशलाइजेशन चुन्नी होती है। यह सारे कोर्स 3 सालों के होते हैं।

यह डिग्री पूरी होने के बाद आपको किसी हॉस्पिटल में या 3 साल की internship senior residency पूरी करनी होती है।इसके बाद आप गायनेकोलॉजिस्ट के रूप में काम कर सकते है।

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के लिए कुछ जाने-माने कोर्सेज

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के लिए हमें पहले बैचलर डिग्री और फिर मास्टर डिग्री करना अनिवार्य है। क्योंकि केवल पीजी कोर्स में ही विद्यार्थी गायनेकोलॉजिस्ट अपनी विशेषज्ञता के रूप में चुन सकते हैं। गायनेकोलॉजिस्ट के बैचलर और मास्टर्स के कोर्सेज

  • MBBS

Bachelor of medicine and bachelor of surgery, यह 6 साल का कोर्स है, जिसमें हमें साल भर का इंटर्नशिप भी मिलता है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए हमें 12वीं में साइंस लेनी होती है और बायो में कम से कम 50% अंक लाने होते हैं।

  • Post graduate diploma in gynecologist and obstetrics

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होना अनिवार्य है। यह कोर्स 2 सालों का होता है।

  • Master of surgery (M.S) in gynecology

Gynecologist बनने के लिए आप एमबीबीएस के बाद यह कोर्स भी कर सकते हैं। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होना अनिवार्य है। यह 2 सालों का कोर्स होता है।

  • Diplomate of medicine(D.N.B) in gynecology

MBBS के बाद आप यह कोर्स भी कर सकते हो। यह कोर्स 3 सालों का होता है। इस कोर्स को करने के लिए एमबीबीएस की डिग्री अनिवार्य है।

  • Doctor of medicine(M.D) in gynecologist

इस कोर्स को करने के बाद भी आप गायनेकोलॉजिस्ट बन सकते हैं। यह 3 सालों का कोर्स होता है।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने। साथ ही हमने गायनेकोलॉजिस्ट कौन होता है।स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के तरीके के बारे में भी जाना। इसके अलावा स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के लिए कुछ जाने-माने कोर्सेज, उन सभी कोर्सेज के बारे में हमने जाना।

आशा है आज के इस आर्टिकल को पढ़कर स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने से लेकर आपके मन में जो भी सवाल होंगे उन सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅