tense कितने प्रकार के होते हैं? | Tense kitne prakar ke hote hain?

आज के इस आर्टिकल में हम Tense कितने प्रकार के होते हैं?Tense kitne prakar ke hote?,टेंस के कितने भेद होते हैं?,(Tense ke kitne bhed hote hain?), टेंस क्या है?(Tense kya hai?) उनके बारे में विस्तार से जानेंगे ?

दोस्तों अभ्यार्थियों के लिए खास तौर पर जो अंग्रेजी की और अंग्रेजी में पढ़ाई करते हैं, tense के बारे में अच्छी जानकारी होना जरूरी रहता है। कोई एक स्टूडेंट या स्कूल छात्र के लिए टेंस एक महत्वपूर्ण पाठ है। विशेष तौर से English grammar  में tense सबसे पहले और महत्वपूर्ण पाठ में आता है। बिना टेंस की सही जानकारी के आप अंग्रेजी नहीं सीख सकते हैं।

आज इस लेख के माध्यम से हम टेंस के बारे में जानेंगे। विशेष तौर पर टेंस क्या होता है? टेंस कितने प्रकार का होता है?( Tense kitne prakar ke hote hain) यानी टेंस के कितने भेद होते हैं? (Tense ke kitne bhed)   उन सभी भेदों को एक-एक करके उदाहरण सहित समझने का प्रयास करेंगे –

टेंस (Tense)  क्या है?

सीधे शब्दों में कहा जाए तो Tense का मतलब होता है समय। हिंदी व्याकरण में टेंस को ही काल के नाम से पढ़ा जाता है। काल का मतलब होता है समय यानी कि किसी वाक्य में जो बात कही जा रही है वह किस समय “की है (यानी भूतकाल की भविष्य काल की या वर्तमान काल की) इसका पता टेंस से चलता है। 

समय के साथ किसी बात को इंग्लिश में कहने या लिखने के लिए टेंस का इस्तेमाल होता है। जिस घटना के बारे में कहा या लिखा जा रहा है उसके होने के समय को दर्शाने और समझाने के लिए टेंस का इस्तेमाल होता है।

उदाहरण के लिए –  

मैं खा चुका था।

मैं खा रहा हूं।

मैं बाद में खाऊंगा।

दिए गए वाक्यों में एक ही घटना हो रही है लेकिन उनका समय अलग-अलग है। इन्हें पढ़ने से हमें पता चल रहा है की एक भूत काल की है एक वर्तमान की और एक भविष्य की।

Tense कितने प्रकार के होते हैं? | Tense kitne prakar ke hote hain?

Tense यानी काल को मुख्य रूप से तीन प्रकार में बांटा जा गया है। पहला वह समय जो बीत चुका है, दूसरा जो अभी चल रहा है और तीसरा जो समय आएगा। इस प्रकार मुख्य रूप से टेंस के तीन प्रकार होते हैं जो कि निम्नलिखित हैं –

  • Present tense (वर्तमान काल)
  • Past tense (भूतकाल)
  • Future tense (भविष्य काल)

Tense के यही तीन मुख्य भेद है। इसके बाद इन भेेदों के भी उपभेद होते हैं, इन्हें एक-एक करके उदाहरण सहित देखते हैं।

1.Present tense – Present tense का मतलब होता है वर्तमान काल। जिस वाक्य से यह पता चले कि उस में लिखी हुई घटना वर्तमान से संबंधित है तो वह प्रेजेंट टेंस होता है।

Present Tense के 4 रूप होते हैं –

Simple present tense – इसे ही present indefinite tense भी कहा जाता है। इनके वाक्यों में किसी काम का करना या होना बताया जाता है। ये वाक्य habit भी बताते हैं। वाक्यों के अंत में ता है, ती है, ते हैं इत्यादि पाए जाते हैं। जैसे –

सोहन क्रिकेट खेलता है।

सभी छात्र इसका उत्तर जानते हैं।

Present continuous tense – जो काम वर्तमान में चल रहा है यानी पूरा नहीं हुआ है उसे प्रेजेंट कंटीन्यूअस टेंस में लिखा जाता है। इसमें काम के जारी रहने तक का समय नहीं दिया रहता है। यह वाक्य रहा है, रही है, रहे हैं इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

मोहन अपने घर जा रहा है।

बाहर वर्षा हो रही है।

राम सीता को पत्र लिख रहा है।

Present perfect tense – वर्तमान में ही, जो काम पूरे हो चुके हैं उन्हें प्रेजेंट परफेक्ट टेंस में लिखा जाता है। इनके वाक्यों में काम का वर्तमान में पूरा हो जाना रहता है। इसके वाक्य चुका है, चुकी है, चुका हूं इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

सोहन खाना खा चुका है।

राम ने अपनी साइकिल बेच दी है।

उन्होंने मुझे फॉर्मल लेटर भेजा है।

Present perfect continuous tense – जो काम भूतकाल में शुरू हुआ था और वर्तमान में भी जारी है उन्हें प्रेजेंट परफेक्ट कंटीन्यूअस टेंस में लिखा जाता है। इनके वाक्यों में कार्य के शुरू होने का समय दिया रहता है, और अंत में कंटीन्यूअस टेंस की भांति रहा है, रही है इत्यादि रहता है। जैसे –

वह कल से सो रहा है।

राम 2 घंटे से उस काम को कर रहा है ।

2. Past tense – Past Tense का मतलब होता है भूतकाल। यदि कोई घटना भूतकाल यानी पास्ट की है तो उसे पास्ट टेंस में लिखना होता है।

Past tense के भी चार भेद होते हैं-

Simple past tense – इनके वाक्यों में काम या घटना का करना या होना भूतकाल यानी पास्ट में पाया जाता है। Past indefinite tense के वाक्य आ या ये ता था ई ते थे इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

मैं दिल्ली में रहता था।

उसने कल अपना होमवर्क नहीं किया।

उसने उसे एक केला दिया।

Past continuous tense – इनके वाक्यों में, जब भूतकाल में कोई काम जारी रहता है, तो उसे पास्ट कंटीन्यूअस टेंस में लिखते हैं। काम का जारी रहना भूतकाल में पाया जाता है। यह वाक्य रहा था, रही थी इत्यादि से समाप्त होते हैं।  जैसे –

वह खाना नहीं खा रहा था।

मैदान में बच्चे दौड़ रहे थे।

सीता स्कूल नहीं जा रही थी।

Past perfect tense – यदि  भूतकाल का कोई काम निश्चित समय से पहले परफेक्ट यानी पूरा हो जाए तो उसे पास्ट परफेक्ट टेंस में लिखते हैं। इनके वाक्य चुका था, चुकी थी, चुके थे, या था इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

मेरे वहां पहुंचने से पहले वे लोग जा चुके थे।

मेरे कुछ बोलने से पहले फोन कट चुका था।

Past perfect continuous tense – यदि कोई काम पास्ट में जारी था, और वो कुछ समय बाद पास्ट में ही  पूरा हो गया तो उसे पास्ट परफेक्ट कंटीन्यूअस टेंस में लिखते हैं। यह वाक्य रहा था, रहे थे, रही थी इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

राम 2 घंटे से सोहन का इंतजार कर रहा था।

वह दूसरे महीने से ही ट्यूशन छोड़ चुकी थी।

सोहन सुबह से साइकिल चला रहा था।

3. Future tense – इसका मतलब होता है भविष्य काल। यदि वाक्य में कोई घटना भविष्य काल से संबंधित हो तो उसे future tense में लिखते हैं।

Future Tense के भी चार प्रकार के होते हैं –

Simple future tense – इसके  वाक्यों में किसी काम का करना या होना फ्यूचर में पाया जाता है यानी कोई साधारण काम फ्यूचर में जब होगा तो उसे सिंपल फ्यूचर टेंस में लिखते हैं। इसके वाक्य गा गी गे इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

मैं कल नाचूंगा।

हम कल घूमने जाएंगे।

Future continuous tense – यदि भविष्य में कोई  कार्य चलता रह रहा होगा, तो उसे फ्यूचर कंटीन्यूअस टेंस में लिखना होता है। इसके वाक्य रहा होगा रही होगी इत्यादि से समाप्त होते हैं।  जैसे –

वह अपना काम कर रहा होगा।

सुना अपने डांस की प्रैक्टिस कर रही होगी।

Future perfect tense – यदि ऐसी किसी घटना को बताना है जो भविष्य में पूरा हो चुका होगा तो उसे फ्यूचर परफेक्ट टेंस में  लिखना होता है।  इसके वाक्य चुकेगा, चुकूंगा, चुका होगा, इत्यादि से समाप्त होते हैं। जैसे –

उनके पहुंचने से पहले वे जा चुके होंगे।

शाम होने से पहले हम वहां पहुंच चुके होंगे।

Future perfect continuous tense – इसके वाक्यों में समय दिया रहने के साथ काम का भविष्य काल में जारी रहना पाया जाता है। इसके वाक्य रहेंगे , रहेगी , रहूंगा , रहोगे , रहेगी या रहा होगा इत्यादि से ही समाप्त होते हैं। जैसे –

तुम दो साल से समय बर्बाद कर रही होगी।

बच्चे 4:00 बजे से क्रिकेट खेल रहे होंगे।

Conclusion 

आज इस आर्टिकल में हमने tense कितने प्रकार के होते हैं? (Tense kitne prakar ke hote hain?) टेंस के कितने भेद होते हैं? (Tense ke kitne bhed hote hain?)  टेंस क्या है? (Tense kya hai?)  इसके बारे में जाना है इस आर्टिकल में मैंने आपको Tense के कितने भेद होते हैं? सबको उदाहरण के साथ विस्तार से बताया है।

मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको Tense कितने प्रकार होते हैं? और Tense टेंस के कितने भेद होते हैं? इसके बारे में सारी जानकारी मिली होगी आपको हमारे आर्टिकल अच्छा लगा और हमारे आर्टिकल से आपको अच्छी जानकारी मिली है हमारे आर्टिकल को शेयर जरूर करें और हमारे आर्टिकल के संबंधित कोई राय देना चाहते आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅