UPSC में कितने विषय होते हैं? | UPSC में कौन-कौन से विषय होते हैं?

UPSC की परीक्षा हमारे देश में होने वाली सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है।हमारे देश के सबसे सर्वोच्च प्रशासनिक सेवा के अंतर्गत आता है ,इस परीक्षा में सफल होकर नौकरी पाना बहुत ही मुश्किल है।

लेकिन कहा जाता है ना ,सफलता का एक मात्र रास्ता होता है मेहनत, अगर हम कड़ी मेहनत करते हैं तो हम यह परीक्षा आसानी से पास कर सकते हैं ,किंतु उसके लिए आपको बहुत ही कड़ी मेहनत करनी होगी।

UPSC एक Civil services की परीक्षा है इसके जरिए आपको IAS officer के तौर पर काम करने का मौका मिलता है। लाखों ,करोड़ों बच्चे यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करते हैं ,लेकिन कुछ मात्र बच्चे ही आईएस ऑफिसर बन पाते हैं।

किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए सबसे पहले आप उनके विषय को जानना अवश्य चाहते होंगे तो आइए आज हम जानेंगे कि यूपीएससी में कितने subject होते हैं? और यूपीएससी में कौन-कौन से विषय होते हैं?


यूपीएससी में कितने सब्जेक्ट होते हैं?


भारत सरकार में उच्च प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति के लिए संघ लोक सेवा आयोग हर साल सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन करता है। यूपीएससी की सिविल परीक्षा में आप भी शामिल हो सकते हैं, जब आपके पास कम से कम किसी केंद्र या राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त स्नातक की डिग्री हो।

साथ ही साथ आपकी उम्र 21 साल हो ।किंतु कुछ कमजोर वर्ग के लिए अधिकतम उम्र 32 साल निर्धारित की जाती है ,जबकि अन्य आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को इस अधिकतम उम्र सीमा में 5 साल तक की छूट का लाभ दिया गया है।

अगर आप इस काबिल है तो आप यूपीएससी की परीक्षा अवश्य दे सकते हैं तो सबसे पहले हम यह जानते हैं कि यूपीएससी के अंतर्गत कितने सब्जेक्ट आते हैं:-

अगर सब्जेक्ट की बात करें तो यूपीएससी में 40 से 45 सब्जेक्ट ऑप्शनल के तौर पर रखा है।

यह वही subjects होते हैं जो कि आपने पहले पड़ा हुआ है जैसे कि 12वीं में या Ba, b com, bsc करते हुए अपने subject को पड़ा है इसीलिए तैयारी के दौरान आपको पिछला याद रहना अत्यंत आवश्यक है।

अगर आप UPSC की तैयारी कर रहे हैं तो यह आपको बहुत जरूरी है कि यह परीक्षा दो चरण में होती है जिसके लिए आपको दो 2 घंटे का समय मिलता है, तो सबसे पहले हम लोग जानते हैं कि UPSC का पहला पेपर (mains) में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं:-

UPSC 1st paper subject


1. राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएंं।
2. भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन।
3. भारत एवं विश्व भूगोल -भारत एवं विश्व का प्राकृतिक ,सामाजिक ,आर्थिक भूगोल।
4. भारतीय राज्य तंत्र और शासन संविधान, राजनीतिक प्रणाली ,पंचायती राज ,लोकनीति अधिकारों संबंधित मुद्दे।
5. आर्थिक और सामाजिक विकास
6. पर्यावरण परिस्थिति के जैव विविधता और मौसम परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे
7. सामान्य विज्ञान
तो चलिए सबसे पहले इन सब्जेक्ट के बारे में जानते हैं:-

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएं

इस सब्जेक्ट में आप केंद्र सरकार और अंतरराष्ट्रीय सरकार से जुड़ी घटनाओं के बारे में पड़ेंगे ।साथ ही साथ अलग-अलग पार्टियों के बारे में ओर उनके बीच में शासन किस तरह से चलता है।

तथा इसके अंतर्गत राष्ट्रपति शासन के बारे में ,आर्थिक समाचार, रक्षा समाचार पुस्तक और उपलब्धि ,राज्य समाचार ,खेल समाचार ,अंतरराष्ट्रीय समाचार, महत्वपूर्ण दिन, सम्मेलन इत्यादि विषयों के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं।


भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन

जो आपके पहले पेपर में अहम विषय में से एक माना जाता है इसमें आपको भारत के अंतर्गत कितनी नदियां हैं कौन कौन से राज्य से होकर गुजरती है भारत के वर्षा वनों के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं। इस विषय की तैयारी आप अच्छे किताब से ही करें।

भारतीय राज्य तंत्र और शासन संविधान, राजनीतिक प्रणाली ,पंचायती राज ,लोकनीति अधिकारों संबंधित मुद्दे

इसके अंतर्गत आपको संविधान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं और साथ ही साथ संविधान के नियम कानूनों तथा अलग-अलग प्रणाली तथा राज व्यवस्था के बारे में पूछा जाता है जिसे आपने 10वीं या 12वीं में नागरिक शास्त्र में बहुत अच्छी तरह पढ़ा होगा।

आर्थिक और सामाजिक विकास

इस विषय में आपसे हमारे देश के आर्थिक विकास जैसे महत्वपूर्ण विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं।इसमें आप से हमारे देश में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के जानवरों तथा पेड़ हमारे देश में किस तरह से विकास कर रहे हैं और हमारे प्राकृतिक आपदाओं को किस तरह से बचाते हैं या प्राकृतिक आपदाओं को क्या मुख्य कारण है इसके बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं।

पर्यावरण परिस्थिति के जैव विविधता और मौसम परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे

इसके अंतर्गत आपसे पर्यावरण संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं साथ ही साथ हमारे देश में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के जानवरों तथा पेड़ हमारे देश के जैव विविधताओं से भी प्रश्न पूछे जाते हैं।

सामान्य विज्ञान

यदि बहुत महत्वपूर्ण विषय है ,जिससे आप लोग सभी ने अवश्य पढ़ा होगा ।इसमें आपकी बौद्धिक क्षमता की परीक्षा ले जाते हैं।

UPSC 2nd paper subjects

दूसरा पेपर जो हम लोग का preliem paper होते हैं उसके अंतर्गत निम्नलिखित सब्जेक्ट होते हैं जैसे:-


1. बोधगम्यता
2. संचार कौशल सहित अंतर – वैयकतिक कौशल
3. तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता
4. निर्णय लेना और समस्या समाधान
5. सामान्य मानसिक योग्यता
6. आंकड़ों का निर्वाचन
7. अंग्रेजी भाषा में बोधगम्यता कौशल

तो चलिए अब इन सब्जेक्ट के बारे में भी थोड़ा विस्तार पूर्वक जानते हैं।

(a) बोधगम्यता

आपको यह बात जानकर बहुत ही आश्चर्य होगा कि पेपर में बोधगम्यता संबंधित प्रश्नों का प्रतिशत 30 से लेकर 45% तक रहा है ।जिसमें से कुल प्रश्न 80 प्रश्न पूछे जाते हैं ।उसमें किसी साल 36 प्रश्न इस विषय से रहता है कभी 37 प्रश्न कभी 23 प्रश्न। शुरुआत के 2 सालों में इसकी संख्या की अधिकता ने निश्चित तौर पर पेपर को असंतुलित कर दिया था।

इस विषय को हल करने के लिए परीक्षार्थी की शैक्षणिक पृष्ठभूमि की कोई भूमिका नहीं रहती ,वह विज्ञान का विद्यार्थी रहा है या आर्ट्स का, यहां तक कि कोई विषय विशेष का भी रोल नहीं रहता और ना ही वह फर्स्ट डिवीजन है या थर्ड रिजल्ट ।ऐसा इसलिए क्योंकि बोधगम्यता का संबंध ना तो ज्ञान से होता है ना कि आपकी पढ़ाई और रटने से और ना ही इस बात से होता है कि भाषा की आपको समझ कितनी अच्छी है ।यानी कि यह सब को एक ही तराजू पर एक जैसा तोड़ने वाला सर्वोत्तम पैमाना है, इसकी तैयारियां प्रेक्टिस के द्वारा कर सकते हैं, यह मजेदार होता है और बहुत कुछ राहत देने वाला भी इसके साथ आप अच्छे प्रतिशत नंबर प्रतियोगिता में ला सकते हैं।

(b) संचार कौशल सहित अंतर – वैयकतिक कौशल

इसके अंतर्गत आपको उत्पाद या इसे किस तरह से बेचा जाए,आप उसको किस तरह से आकर्षित कर सकते हैं । इसे बेचने या खरीदने समय खरीदार के सामने किस की चीजों की कठिनाई होती है ,इन विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

(c) तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता

सिविल सर्विस परीक्षा के प्री के सी सैट के पेपर में पूछे जाने वाले सवालों में बात करें तो यदि हम तार्किक क्षमता वाले प्रश्नों पर जोड़ देते हैं तो इनसे किसी भी साल 50 से कम प्रश्न नहीं आते। इस विषय के अंतर्गत आपको बहुत ही अधिक जटिल घुमावदार तथा दिमाग को भ्रमित करने वाले प्रश्न पूछे जाते हैं यह ऐसे ही होंगे लेकिन आप खुद को इन्हें पढ़ते ही घबरा जाने से बची है इसीलिए सबसे ज्यादा जरूरी है इन प्रश्नों को हल करना तथा इसका रफ वर्क करके प्रेक्टिस करना।


(d) निर्णय लेना और समस्या समाधान

इस सब्जेक्ट की तैयारी आपको खुद से ही करनी पड़ेगी क्योंकि यह विद्यार्थियों के लिए चुनौती वाला सब्जेक्ट होता है जिसका समाधान आपको खुद पढ़कर करना होता है जैसे कि हम कोई लक्ष्य प्राप्त करने के लिए गोल बनाते हैं उसी तरह इस सब्जेक्ट की समस्या हल करने के लिए भी आपको लक्ष्य बनाना होगा तभी आप इन समस्याओं से समाधान पा सकते हैं।

(e) सामान्य मानसिक योग्यता

इसके अंतर्गत आपकी मेंटल एबिलिटी से रिलेटेड क्वेश्चन पूछे जाते हैं जो कि बिल्कुल रिजनिंग की तरह होता है, जिसे आप आसानी से हल कर सकते हैं किंतु इसके लिए आपको अच्छी तरह उसे प्रैक्टिस करना पड़ेगा।

इस विषय के अंतर्गत आपको गणित रूपी कुछ प्रश्न दिए जाते हैं जिसको आपको हल करना होता है।

(g) अंग्रेजी भाषा में बोधगम्यता कौशल :-

इस इकाई में आप अपने स्थाई इलाके में बोली और लिखे जाने वाले अंग्रेजी का उपयोग जो भी आप करते हैं उससे संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं जिसके लिए आपको अंग्रेजी अंग्रेजी के विज्ञापन या न्यूज़पेपर पढ़ना बहुत जरूरी है।


अगर आप यूपीएससी की परीक्षा देना चाहते हैं तो आपके पास अच्छी रणनीति होना बहुत जरूरी है तभी आप ज्यादा से ज्यादा नंबर पाकर इस परीक्षा को पास कर सकते हैं। साथ ही साथ ज्यादा नंबर आपको इसलिए भी चाहिए ताकि आप मनचाहे पोस्ट जो भी आप चाहते हैं वह आपको मिल सके।

आगे ही मैंने आपको बताया कि इसके अंतर्गत कुछ ऑप्शनल सब्जेक्ट भी होते हैं तो चलिए अब जानते हैं कि वह ऑप्शनल सब्जेक्ट क्या-क्या हो सकते हैं? जिसके जरिए आप 500 अंक तक नंबर ला सकते हैं, सिविल सर्विस एग्जाम क्वालीफाई करने में इन सब्जेक्ट का बहुत बड़ा योगदान है तो आइए इन सब्जेक्ट के नामों को जानते हैं:-

UPSC Optional subjects:-

1. Animal Husbandry
2. Veterinary Science
3. Anthropology
4. Botany
5. Chemistry
6. Civil Engineering
7. Commerce and Accountancy
8. Economics
9. Electrical Engineering
10. Geography
11. Geology
12. History
13. Law
14. Management
15. Mathematics
16. Mechanical Engineering
17. Medical Science
18. Philosophy
19. Physics
20. Political science
21. International Realtor
22. Psychology
23. Public Administration
24. Sociology
25. Statistics
26. Zoology
27. Literature of anyone the following language:-
Assamese,Bengals,Body,Dogri,Gujrat,Hindi,Kannada,Kashmir,Konkani, Maithilo,Malayalam,Manipur,Marathi,Nepali,Oriya,Punjabi,Sanskrit, Santhali,Sindhi, Tamil, Telugu,Urdu, English, Agriculture…..etc

इसमें से आप किसी भी एक सब्जेक्ट को लेकर आप अपना ऑप्शनल सब्जेक्ट बना सकते हैं और यह वही सब्जेक्ट से जो कि आप पढ़ते हुए आ रहे हैं अपनी 12वीं स्नातक की डिग्री लेते हुए।

जैसा कि पहले मैंने आपको बताया कि इसके अंतर्गत दो एग्जाम होंगे और जो भी सब्जेक्ट साथ चुनेंगे उसी से आप अपना ऑप्शनल सब्जेक्ट यूज कर सकते हैं जो कि 250 -250 यानी कुल 500 नंबर का एग्जाम होगा दो चरणों में। और यह भी ध्यान रखें कि ऑप्शनल सब्जेक्ट वही चूस करे जिसका मटेरियल आपको आसानी से पढ़ने के लिए मिल जाए ना कि ऐसा जिसके बारे में आपको कुछ पता ही ना हो और आपके पास उसकी कोई सुविधा भी ना हो। बेहतर यही होता है कि जो भी सब्जेक्ट आपने ग्रेजुएशन में पड़ा है उन्हीं सब्जेक्ट से आप Choose करें तो आपको परेशानी नहीं होगी क्योंकि आपने तुरंत ग्रेजुएशन किया होता है जो कि आपको ताजा-ताजा याद रहता है।

Conclusion

इस आर्टिकल में मैंने आपको सिविल सर्विस संघ आयोग के एक बहुत ही महत्वपूर्ण परीक्षा से संबंधित विषयों के बारे में बताया। इसके अंतर्गत मैंने आपको यूपीएससी के अंतर्गत कितने सब्जेक्ट होते हैं ?और कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं? इस विषय में चर्चा की।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Online पैसे कैसे कमाए 40,000 महीना