वचन के कितने भेद होते हैं? | Vachan ke kitne bhed hote hain

Advertisements

आज इस लेख में हम हिंदी व्याकरण में वचन के बारे में जानेंगे कि वचन क्या है? और वचन के कितने भेद होते हैं? (Vachan ke kitne bhed hote hain) या वचन किसने प्रकार के होते हैं? (Vachan kitne prakar ke hote hain) इसके बारे में विस्तार से उदाहरण सहित समझने का प्रयास करेंगे –

Advertisements

दोस्तों हिंदी हमारी मातृभाषा है जिस कारण हिंदी भाषा का जरूरी और सही ज्ञान हम सभी को होना चाहिए। आधिकारिक भाषा में भी अंग्रेजी के साथ साथ हिंदी का है काफी महत्व है, और किसी भी भाषा का सही ज्ञान होने के लिए उसके व्याकरण की अच्छी नॉलेज होना जरूरी होता है। व्याकरण ही किसी भाषा का आधार होता है। जितना महत्व इंग्लिश ग्रामर का है उतना ही हिंदी व्याकरण का भी होना चाहिए।

वचन क्या है?

सीधे-सीधे इसकी परिभाषा में, शब्द के जिस रुप से किसी पदार्थ, वस्तु या व्यक्ति के संख्या का पता चलता है, शब्द का वह रूप वचन कहलाता है। यानी किसी वाक्य में संज्ञा, सर्वनाम (जिसके अंतर्गत व्यक्ति वस्तु पदार्थ इत्यादि आते हैं) के जिस रुप से संख्या का बोध होता है वह रूप वचन कहलाता है।

इसका मतलब है संज्ञा सर्वनाम के जिस रुप से किसी व्यक्ति या वस्तु इत्यादि के एक या एक से ज्यादा होने का पता चलता हो वह रूप वचन कहलाएगा।

आसान शब्दों में संख्या को वचन कहा जा सकता है। संख्या में, संख्या एक है या एक से अधिक, इससे वचन के प्रकार का पता चलता है। अंग्रेजी में इसके अंतर्गत ही singular तथा plural पढ़ा जाता है।

उदाहरण में,

  • बैग में केला रखा है।
  • बैग में केले रखे हैं।

ऊपर दिए गए उदाहरण में पहले वाक्य में केला और दूसरे वाक्य में केले लिखा है, जिनके लिखे होने से वहां पर उनकी संख्या का पता चल रहा है कि पहले वाक्य में एक केला है और दूसरे वाक्य में एक से अधिक केले रखे हुए हैं।

अन्य उदाहरणों में,

  • बाल्टी में मछलियां तैर रही है।
  • रोहित आइसक्रीम खा रहा है।
  • पानी भरने औरते जा रही है।
  • टोकरी में संतरे रखे हैं।
  • उस व्यक्ति के पास घोड़ा है।

जैसा कि हम देख सकते हैं ऊपर दिए गए उदाहरणों मछलियां आइसक्रीम औरतें संतरे घोड़ा इत्यादि शब्द का इस्तेमाल किया गया है जिन वाक्यों में इनका इस्तेमाल किया गया है वे उनमें अपनी संख्या को बता रहे हैं अभी आपने एक या एक से अधिक होने का बोध करा रहे हैं जिस कारण ये शब्द वचन कहलायेंगे।

वचन के कितने भेद होते हैं? (Vachan ke kitne bhed hote hain)

वचन के दो भेद होते हैं। किसी वाक्य में व्यक्ति, वस्तु या पदार्थ की संख्या को दो तरीके से बताया जाता है पहले में यदि उस व्यक्ति वस्तु या पदार्थ की संख्या 1 है और दूसरे में यदि इसकी संख्या 1 से अधिक है, अब वह 2 4  8 10 15  1000 कुछ भी हो सकती है।

वचन के दो भेद निम्नलिखित हैं –

  • एकवचन
  • बहुवचन

एकवचन और बहुवचन को ही अंग्रेजी में क्रमशः singular और plural के नाम से जाना जाता है।

वचन के भेद [एकवचन]

1. एकवचन – जब संज्ञा या सर्वनाम का कोई  रूप वाक्य में किसी एक ही व्यक्ति या वस्तु के होने का बोध कराएं तब  वह शब्द एकवचन कहलाता है। किसी वाक्य में किसी संज्ञा या सर्वनाम या किसी शब्द के लिखे होने से यदि यह पता चलता है कि उसकी संख्या वहां पर एक ही है, तब वह एकवचन  कहलाती है। अंग्रेजी में इसे ही  singular के नाम से जाना जाता है। 

लड़का, लड़की, बच्चा, कपड़ा, पुस्तक, स्त्री, टोपी, बंदर मोर,  घड़ी,  मछली इत्यादि समेत अनेकों शब्द एकवचन है।

  •  रमेश किताब पढ़ रहा है।

इस वाक्य में किताब संज्ञा है और यहां इस बात का पता चल रहा है कि यह एक ही किताब है जिससे कि यह एक वचन है।

  •  पेड़ पर बंदर बैठा है।

वाक्य में बंदर संज्ञा है और यह पता चल रहा है कि यहां एक ही बंदर है इसलिए यह भी  एकवचन है।

  •  राम ने गाय खरीदी।

दिए गए वाक्यों में गाय लिखा होने पर यह पता चल रहा है कि यहां एक हीं गाय है, अतः यह भी एकवचन है।

  •  गंगा नदी है।

वाक्य में यह पता चल रहा है की गंगा एक ही नदी है, जिससे यह एक वचन बनता है।

  •  सुभान का घोड़ा खूबसूरत है।

पता चल रहा है कि वाक्य में एक ही घोड़े की बात हो रही है जिससे यह भी एकवचन है।

  • राम का कमरा छोटा है।

 वाक्य में पता चल रहा है कि कमरे की संख्या एक ही है। अतः एकवचन है।

इसी तरह के अनेकों उदाहरण हो सकते हैं। जिस भी वाक्य में शब्द के किसी रूप से किसी व्यक्ति वस्तु जंतु इत्यादि की संख्या एक ज्ञात हो वह शब्द एकवचन कहलायेगा।

वचन के भेद [बहुवचन]

2. बहुवचन – जब संज्ञा या सर्वनाम का कोई रूप इस वाक्य में किसी व्यक्ति वस्तु की संख्या एक से अधिक का बोध कराएं तो वह शब्द बहुवचन  कहलाता है। वाक्य में संज्ञा या सर्वनाम के लिखे होने पर यदि पता चलता है कि वहां उसकी संख्या एक से अधिक है तो वह बहुवचन होता है। अंग्रेजी में इसे ही plural के नाम से जाना जाता है जिसमें 1 से अधिक संख्या होती है। 

बच्चे, घोड़े, नदिया, कमरे, पंखे, मछलियां, परिंदे समेत इन जैसे अनेकों शब्द बहुवचन होते हैं। वाक्य में इनके लिखे होने पर इस बात का पता चलता है कि इनकी संख्या 1 से अधिक है।

  •  तालाब में मछलियां तैर रही है।

यहां पर मछलियां लिखा हमें परिया पता चल रहा है कि यहां एक से ज्यादा मछलियों की बात हो रही है जिससे कि यह बहुवचन बन जाता है।

  •  छात्र किताबें पढ़ते हैं।

यहां किताबें से समझ में आ रहा है कि 1 से अधिक किताब की बात हो रही है अतः किताबें बहुवचन है।

  •  राम ने गाये खरीदी है।

राखी में पता चल रहा है राम ने एक से ज्यादा कई गाय खरीदी है  जिससे यह बहुवचन बनता है।

 भारत में कई नदियां हैं।

जाहिर तौर पर यहां एक से अधिक नदी की बात की जा रही है इसीलिए नदियां बहुवचन है।

  • सुभान के घोड़े भाग गए।

पढ़ने से पता चल रहा है कि 1 से ज्यादा घोड़े की बात की जा रही है, इसीलिए घोड़े बहुवचन है।

  • उस घर में बहुत से कमरे हैं।

एक से ज्यादा कमरो की बात हो रही है, इसीलिए कमरे बहुवचन है।

इसी प्रकार से बहुवचन के भी अनेकों उदाहरण हो सकते हैं। किसी भी वाक्य में शब्द के जिस रुप से संख्या का एक से अधिक होने का पता चले तो शब्द का वह रूप बहुवचन कहलाता है।

Advertisements

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *