डॉक्टर बनने के लिए कितने प्रतिशत चाहिए? | Doctor banne ke liye kitne percentage chahiye

आज इस आर्टिकल में हम डॉक्टर बनने के लिए कितने पर्सेंट चाहिए? (doctor banne ke liye kitne percentage chahiye), डॉक्टर बनने के लिए 10वीं में कितने परसेंटेज चाहिये?, डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में कितने परसेंटेज चाहिए ?इसके बारे में जानेंगे।

दोस्तों अगर आप भी एक डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपको इसके लिए शुरुआत से ही तैयारी करनी पड़ती है। डॉक्टर बनने का चुनाव आप किसी भी वक्त नहीं कर सकते। यदि आप अपने आप को एक डॉक्टर के रूप में देखना चाहते हैं तो इसके लिए निर्णय आपको दसवीं के बाद ही ले लेना होता है। कई सारे छात्रों के मन में यह सवाल होता है कि डॉक्टर बनने के लिए 10वीं में कितने प्रतिशत अंक चाहिए और डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में कितने प्रतिशत अंक चाहिए।

Doctor banne ke liye kitne percentage chahiye

आज इस आर्टिकल में हम डॉक्टर बनने के लिए कितने परसेंटेज चाहिए और डॉक्टर बनने के लिए कौनसी परीक्षा पास करनी होती है इनके बारे में विस्तार से जानेंगे अगर आप भी डॉक्टर बनना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़े।

डॉक्टर बनने के लिए कितने परसेंटेज चाहिए

डॉक्टर अधिक का सबसे अच्छा प्रोफेशन में से एक है इसमें छात्रों को बहुत अच्छा अवसर प्राप्त होते हैं इसलिए आज इसमें बहुत अधिक छात्र हैं और जो भी छात्र डॉक्टर बनना चाहते हैं उनके मन में यह प्रश्न रहता है कि डॉक्टर बनने के लिए कितने प्रतिशत अंक चाहिए?

तो डॉक्टर बनने के लिए आपको 12वीं में कम से कम 50% अंक चाहिए और दसवीं में भी कम से कम 60% अंक चाहिए तभी जाकर आप डॉक्टर के पढ़ाई कर सकते हैं डॉक्टर की पढ़ाई करने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है। medical प्रवेश परीक्षाओं को पास करने के बाद आपको मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिलता और कॉलेज में दाखिला पाने के के लिए 12वीं के अंक बहुत ही मायने रखते हैं इसलिए आपको कम से कम 60% अंक 12वीं में लाने होते तभी जाकर आपको कॉलेज में दाखिला मिल पाता है।

डॉक्दटर बनने के लिए 10वीं में कितने परसेंटेज चाहिए?(Doctor banne ke liye 10th me kitne percentage chahiye)

अगर आप अपने करियर में एक डॉक्टर बनने का चुनाव करते हैं तो आपको दसवीं के बाद ही इसका निर्णय लेना होता है। डॉक्टरी के क्षेत्र में जाने के लिए आपको दसवीं के बाद एक 11वीं और 12वीं कक्षा के लिए science stream का चुनाव करना होता है, और साइंस स्ट्रीम में भी आपको biology चुनना होता है, गणित का चुनाव करने वाले छात्र डॉक्टरी के क्षेत्र में नहीं जा सकते हैं। बायोलॉजी ग्रुप में आप Biology, Physics, Chemistry और Language subject में हिंदी इंग्लिश इत्यादि लेते हैं। दसवीं के परसेंटेज डॉक्टर बनने के लिए जरूरी नहीं होते, आपको दसवीं में प्रत्येक सब्जेक्ट में सिर्फ इतना परसेंटेज लाना होता है जिससे आप साइंस स्ट्रीम चुनने के लिए एलिजिबल हो जाए चुकी डॉक्टर बनने के लिए साइंस स्ट्रीम में बायोलॉजी का होना अनिवार्य है। अगर आपने डॉक्टरी के क्षेत्र में जाने का निर्णय पहले ही ले लिया है तो आपकी साइंस में विशेषत: बायोलॉजी में रुचि होना जरूरी है। छात्र जो दसवीं में कम परसेंटेज  लाते हैं उन्हें कॉमर्स और आर्ट्स स्ट्रीम मिलता है जिससे वे डॉक्टरी के क्षेत्र में पढ़ाई नहीं कर सकते, यानी दसवीं में आपके न्यूनतम जरूरी परसेंटेज उतने होने चाहिए जिससे आपको साइंस स्ट्रीम मिल सके।इसलिए 10वीं में कम से कम 60% अंक लाने होते हैं तब आपको आसानी से science stream में दाखिला मिल जाता है।

डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में कितने परसेंटेज चाहिए?(Doctor banne ke liye 12th me kitne percentage chahiye)

दोस्तों डॉक्टर बनने के लिए आपको 12वीं के बाद एमबीबीएस में दाखिला लेना होता है जिसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता पड़ती है। एमबीबीएस का पूरा नाम बैचलर ऑफ मेडिसिंस एंड बैचलर ऑफ सर्जरी (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) है, एवं या डिग्री पा लेने के बाद ही आप एक एमबीबीएस डॉक्टर बनते हैं। 12वीं में प्रत्येक सब्जेक्ट में कम से कम 50% मार्क्स होने पर ही आप एमबीबीएस जैसे कोर्स के लिए एलिजिबल होते हैं। यानी 12वीं के में बायोलॉजी, फिजिक्स केमिस्ट्री और हिंदी, इंग्लिश या कोई अन्य लैंग्वेज होने पर, सभी विषयों में आप कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होने चाहिए। 12वीं के परसेंटेज के आधार पर आपको एमबीबीएस में एडमिशन नहीं मिलता है उसके लिए आपको एंट्रेंस परीक्षा देनी होती है और उसे एंट्रेंस परीक्षा में आपके कितने नंबर आए हैं उस आधार पर आपको counselling के लिए बुलाया जाता है उसके बाद आपको  उसी आधार पर कॉलेज मिलता है। NEET जैसी एंट्रेंस परीक्षा में जो कि हर साल आयोजित की जाती है लाखों छात्र बैठते हैं और अच्छे से अच्छे नंबर लाने का प्रयत्न करते हैं, जिससे उन्हें एक अच्छा मेडिकल कॉलेज मिल सके। इसीलिए एक अच्छा मेडिकल कॉलेज पाने के लिए यह जरूरी हो जाता है कि आप पहले से ही यानी कक्षा 11वीं और 12वीं में ही एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर ले,जिसके लिए आप कोचिंग संस्थानों में कोचिंग भी ले सकते हैं या capable होने पर अपने स्तर से भी तैयारी कर सकते हैं।

डॉक्टर बनने के लिए entrance exam में कितने नंबर चाहिए

12वीं के बाद आप आपको एक एंट्रेंस एग्जाम देना होता है जिसमें आए नंबर के आधार पर आपको कॉलेज मिलता है। NEET जिसका पूरा नाम नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (national eligibility cum entrance test) है, एक राष्ट्रीय स्तर की मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम है , जिसे पास करना एमबीबीएस में दाखिले के लिए अनिवार्य है। एमबीबीएस में दाखिला आप किसी प्राइवेट medical कॉलेज में भी ले सकते हैं, लेकिन प्राइवेट कॉलेज की फीस काफी ज्यादा होती है जिससे बहुत से छात्र इसे afford नहीं कर सकते हैं इसीलिए एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक लाकर एक सरकारी मेडिकल कॉलेज में ही एमबीबीएस में दाखिला लेना बेहतर विकल्प होता है।

अन्य कई यूनिवर्सिटी जैसे AIIMS यानी ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस और JIPMER यानी Jawaharlal Institute of Post Graduation Medical Education and Research आदि जैसे संस्थान अपने खुद के एंट्रेंस एग्जाम भी आयोजित करती है। अगर बात करें NEET परीक्षा की तो इसमें कुल 180 प्रश्न होते हैं जिसमें से 45 प्रश्न फिजिक्स से 45 प्रश्न केमिस्ट्री से और 90 प्रश्न बायोलॉजी से होते हैं। प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का होता है जिससे इसका कुल अंक 720 हो जाता है। किसी अच्छे सरकारी मेडिकल कॉलेज में दाखिला लेने के लिए आपको 500+ अंक लाने होते हैं। वहीं अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्ग को इसमें कुछ छूट दी जाती है।

Minimum cut off marks या उससे थोड़े ज्यादा नंबर लाने पर आपको प्राइवेट कॉलेज ही मिल पाते हैं जिसमें आपको बहुत ही ज्यादा फीस देकर पढ़ाई करनी होती है। एमबीबीएस course कुल मिलाकर साढ़े 5 साल का होता है जिसमें साढ़े 4 साल का कोर्स होता है, और अंत के 1 साल आपको किसी मेडिकल संस्थान में इंटर्नशिप करनी होती है। कॉलेज में भी अगर आप सारी परीक्षाएं अच्छे अंकों के साथ पास करते हैं तो यह आपके लिए अच्छा होता है।

दोस्तो  आज के समय में हम सभी को अपने घर में एवं स्कूल में अभिभावकों और शिक्षकों द्वारा  अपने लिए एक बेहतर करियर बनाने की शिक्षा दी जाती है। हर किसी को अपने लिए एक बेहतर करियर ऑप्शन चुनने और उसमें अच्छा करियर बनाने की इच्छा होती है। आज के समय में अगर बात की जाए करियर ऑप्शंस की तो  उसमें डॉक्टर यानी मेडिकल क्षेत्र, प्रमुख में से एक है। बहुत से छात्र डॉक्टर की पढ़ाई कर के एक डॉक्टर बनने की इच्छा रखते हैं। वर्तमान में डॉक्टर बनना एक प्रतिष्ठित और सम्माननीय कार्य है, साथ ही साथ एक अच्छा डॉक्टर बन जाने पर आप अच्छी खासी कमाई भी कर सकते हैं। डॉक्टर बनने के अनेकों फायदे हैं आप समाज के लिए बेहतर कार्य कर सकते हैं अब खुद का एक अच्छा भविष्य बना सकते हैं और समाज में आपको बहुत सम्मान मिलता है डॉक्टर बनने से सिर्फ आप अच्छे कमाई ही नहीं बल्कि समाज को एक बेहतर सुविधा भी प्रदान करते हैं जो कि मानव जीवन के लिए सबसे अधिक मूल्यवान है।

Conclusion

आज का यह आर्टिकल उन छात्रों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है जो तेरी 12वीं और 10वीं कक्षा में है और जो एक डॉक्टर बनना चाहते हैं आज इस आर्टिकल में हमने डॉक्टर बनने के लिए कितने परसेंटेज चाहिए डॉक्टर बनने के लिए दसवीं में कितने अंक चाहिए और डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में कितने अंक चाहिए

इसके बारे में विस्तार से जाना है इस आर्टिकल में मैंने आपको डॉक्टर के पढ़ाई के लिए कौन सी परीक्षा होती है उसके बारे में भी बताया है। डॉक्टर बनने के लिए आपको इन प्रवेश परीक्षा में कितना अंक लाने होते हैं इसके बारे में भी हमने इस आर्टिकल में जाना है।अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आया हमारे आर्टिकल को शेयर जरूर करें और हमारे आर्टिकल के संबंधित कोई राय देना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं आपकी राय हमारे लिए बहुत ही महत्व है।

धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए