एलडीसी (LDC) का फुल फॉर्म क्या है? | LDC full form in hindi

आज हम जानेंगे कि एलडीसी (LDC) का फुल फॉर्म क्या है? (LDC full form in hindi) एलडीसी की पूरी जानकारी। एलडीसी क्या है?, कैसे बने? LDC का काम क्या होता है?

LDC का फुल फॉर्म क्या है? (LDC full form in hindi)

LDC का फुल फॉर्म LOWER DIVISION CLERK (लोअर डिविजन क्लर्क) होता है।

LDC full form in hindi

LDC क्या है? (What is LDC in hindi)

एलडीसी का फुल फॉर्म लोअर डिवीजन क्लर्क होता है, जिसे हिंदी में अवर श्रेणी लिपिक कहा जाता है। एक सरकारी संगठन के अंतर्गत एलडीसी में क्लर्क पद के लिए भर्तियां निकाली जाती हैं। LDC क्षेत्र में बहुत सारे नौकरियां और पोस्टिंग आते हैं, इसके अंतर्गत विभिन्न मंत्रालयों, पुलिस विभागों, बैंको, शैक्षणिक संस्थानों, केवीएस क्षेत्रों, इसके अलावा अन्य दूसरे सरकारी संस्थानों तथा वायु सेना आदि में भी पोस्टिंग के अवसर होते हैं।

एसएससी यानी स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के द्वारा इसकी परीक्षा ली जाती है, जिसमें अभ्यर्थी को तीन चरणों में या परीक्षा देनी होती है। इस परीक्षा में बैठने के लिए जरूरी योग्यता होने पर आप इसके लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं। 3 चरणों में होने वाली इस परीक्षा  के सभी चरणों को पास कर लेने के बाद आपको एलडीसी के पद पर नौकरी मिल जाती है।

LDC कैसे बने

यदि आप भी एलडीसी के पद पर नौकरी पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले एसएससी द्वारा आयोजित इसकी परीक्षा को पास करना होगा।

LDC के लिए परीक्षा?

सबसे पहले आपको इसके लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करना होगा।

आवेदन कर देने के बाद एसएससी द्वारा आयोजित इसकी परीक्षा तीन चरणों में होती है।

पहले चरण

सबसे पहले आपको एक ऑनलाइन कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा देनी होती है जिसमें वैकल्पिक प्रश्न यानी एमसीक्यू क्वेश्चन आते हैं इसमें आपको हिंदी या इंग्लिश मैं किसी एक भाषा का चुनाव करना होता है 75 मिनट की अवधि कि इस परीक्षा में क्वानटेटिव एप्टीट्यूड जनरल इंटेलिजेंस और रिजनिंग सामान्य ज्ञान तथा अंग्रेजी भाषा एवं कंप्रिहेंसिव से प्रश्न पूछे जाते हैं।

दूसरे चरण

यदि आप इस परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं तो दूसरे चरण में आपको एक लिखित परीक्षा देनी होती है, जो कि 200 अंकों की होती है। इसमें जनरल इंटेलिजेंस, न्यूमेरिकल एबिलिटी, जनरल अवेयरनेस और इंग्लिश लैंग्वेज 4 विषय होते हैं।

तीसरे चरण

तीसरे चरण में एलडीसी की टाइपिंग परीक्षा होती है जिन अभ्यर्थियों ने पहले दो चरण की परीक्षाओं को पास कर लिया होता है उन्हें टाइपिंग टेस्ट के लिए बुलाया जाता है इस टाइपिंग परीक्षा में अभ्यार्थियों की हिंदी टाइपिंग कम से कम 30 डबल्यूपीएम(wpm) होनी चाहिए तथा इंग्लिश टाइपिंग के लिए 35 डबल्यूपीएम यानी 35 वर्ड्स पर मिनिट  होना अनिवार्य रहता है।

LDC के लिए योग्यता?

LDC के पद की नौकरी पाने के लिए उम्मीदवार के पास कुछ योग्यताओं का होना अनिवार्य होता है।

सबसे पहले शैक्षणिक योग्यता में पद के लिए आवेदन कर रहे किसी भी उम्मीदवार का देश के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड यह स्कूल से बारहवीं कक्षा पास होना चाहिए यानी 12वीं उत्तीर्ण इसके लिए न्यूनतम योग्यता हो जाती है।

LDC के लिए आयु सीमा

उसके बाद आयु सीमा में आवेदन कर रहे उम्मीदवारों की आयु 18 से लेकर 27 वर्ष के बीच की होनी चाहिए आयु सीमा में sc-st यानी अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को 5 साल की छूट दे गई है वही ओबीसी कैटेगरी के अंतर्गत आने वाले उम्मीदवारों को आयु सीमा में 3 साल की छूट दी गई है।

Physically handicapped उम्मीदवारों को 10 साल की छूट दी गई है जिससे यदि कोई ओबीसी कैंडिडेट फिजिकली हैंडिकैप्ड होता है तो उसे 13 साल की छूट मिलती है एवं किसी फिजिकली हैंडिकैप्ड उम्मीदवार का sc-st होने पर उसे 15 साल की छूट मिलती है।

टाइपिंग टेस्ट

इसकी परीक्षा में आने वाले सिलेबस के साथ-साथ उम्मीदवार का को टाइपिंग का ज्ञान होना भी जरूरी होता है, कैंडिडेट को टाइपिंग टेस्ट देना होता है। जिसमें अंग्रेजी भाषा में 35 शब्द प्रति मिनट एवं हिंदी भाषा में 30 शब्द प्रति मिनट की स्पीड होनी ही चाहिए।

LDC का काम क्या होता है?

एलडीसी के पद पर कैंडिडेट को विभिन्न प्रकार के कार्य करने होते हैं जिनमें फाइलों से संबंधित कार्य एवं इन जैसे अन्य कार्य आते हैं। एलडीसी के पद पर आपको किसी शैक्षणिक संस्थान, बैंक एवं अन्य सरकारी संस्थानों के साथ साथ कुछ अन्य क्षेत्रों में भी नियुक्त किया जाता है।

एलडीसी के काम में फाइल मूवमेंट यानी फाइल को इधर उधर पहुंचाना और उसे मेंटेन रखना, फाइलों का सही तरीके से रखरखाव करना, section diary से संबंधित कार्य, कंप्यूटर टाइपिंग और उसके साथ साथ डाटा एंट्री करना, पोस्टल रजिस्ट्रेशन का काम एवं सभी का रिकॉर्ड रखना आदि जैसे काय आते हैं।

विभिन्न संस्थानों में इस प्रकार के कामों को करने वाले की आवश्यकता होती है। एलडीसी के पद पर नियुक्त होने पर आपको उपयुक्त संस्थानों में इस प्रकार के कार्य करने होते हैं।

LDC की सैलरी?

यदि बात की जाए एलडीसी के पद पर नियुक्त हो जाने के बाद मिलने वाली सैलरी की तो सफलतापूर्वक इसकी चयन प्रक्रिया को पास करके पद पर नियुक्त हो जाने के बाद मासिक वेतन 9200 से लेकर ₹20200 तक दिया जाता है। वेतन आपके पद पर निर्भर करता है। साथ में 1900 रुपए का ग्रेड पे भी दिया जाता है। इसमें मिलने वाली सैलरी के अंतर्गत महंगाई भत्ता (DA), ट्रांसपोर्ट एलाउंस (TA), हाउस रेंट अलाउंस (HRA) जैसे भत्ते भी शामिल होते हैं।

इन सभी को मिलाकर महीने का औसतन वेतन ₹21000 तक का होता है।

Conclusion

दोस्तों आजकल अपने करियर की चिंता हर किसी को 10वीं या 12वीं पूरी हो जाने के बाद से ही होने लगती है हर कोई पढ़ाई कर लेने के बाद एक अच्छी नौकरी लेकर अपने भविष्य को सुरक्षित करना चाहता है। ऐसे में आज के समय में बहुत सही हुआ सरकारी नौकरी की तैयारी करते हैं और एक सरकारी नौकरी लेकर भविष्य को सुरक्षित करना चाहते हैं।

12वीं पूरी कर लेने के बाद सरकारी नौकरी में एलडीसी के पद पर नौकरी पाना आज के समय में एक अच्छा विकल्प है। यदि आप 12वीं के बाद आगे ज्यादा पढ़ाई ना कर कर नौकरी करना चाहते हैं, तो एलडीसी आपके लिए एक अच्छा विकल्प होता है। यदि आप भी इसकी परीक्षा देकर इसमें नौकरी पाना चाहते हैं तो आपके लिए इससे संबंधित हर जानकारी आपके पास होना जरूरी हो जाता है।

इस आर्टिकल में हमने जाना कि एलडीसी क्या है, एलडीसी (LDC) का फुल फॉर्म क्या है? (LDC full form in hindi), इसके लिए अनिवार्य योग्यताएं क्या-क्या है?, इसके परीक्षा किस प्रकार होती है?, इसके अंतर्गत किस प्रकार के कार्य करने होते हैं?, सैलरी कितनी होती है? इत्यादि।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए