टीएलसी (TLC) बढ़ने का कारण | टीएलसी बढ़ने से क्या होता है?

आज हम जानेंगे कि हमारे शरीर में टीएलसी क्यों बढ़ जाता है? टीएलसी बढ़ने का कारण क्या है? तथा टीएलसी बढ़ने से क्या होता है?

टीएलसी बढ़ने के क्या कारण है?

आइए जानते हैं कि आखिरकार हमारे शरीर में टीएलसी की मात्रा क्यों बढ़ जाती है इसके पीछे क्या कारण है ताकि हम भविष्य में ऐसी गलती ना करें जिससे कि टीएलसी बढ़े।

जानकारी के लिए मैं आपको बता दूं कि हमारे शरीर में टीएलसी तभी पड़ती है जब हमारे शरीर में किसी प्रकार का कोई जीवाणु का संक्रमण हो।

  1. अगर हमारे शरीर के किसी अंग में या किसी भाग में चोट लग जाए तो इससे भी टीएलसी बढ़ जाती है चोट किसी भी प्रकार की हो सकती है यह बाहरी चोट भी हो सकती है तथा अंदरूनी चोट भी हो सकती है।
  2. कभी-कभी हमें पेन किलर जैसी दवाइयों की जरूरत पड़ती है और इसके अत्यधिक इस्तेमाल से भी हमारे शरीर में टीएलसी काफी बढ़ जाती है तो जितनी कम हो सके उतनी कम दवाइयों का इस्तेमाल करें।
  3. एक महिला में टीएलसी बढ़ती है जब वे गर्भावस्था में होते हैं इस स्थिति में भी टीएलसी बढ़ जाती है।
  4. अगर हमें अत्यधिक शारीरिक काम करने की आदत नहीं है और अचानक कभी बहुत ज्यादा काम कर ले या बहुत ज्यादा व्यायाम कर लें तो इससे भी टीएलसी बढ़ने का खतरा रहता है।
  5. अगर हमारे शरीर में किसी प्रकार का कोई चोट लग जाए और समय के रहते उस चोट का इलाज ना करवाया जाए तो इससे भी टीएलसी बढ़ने का खतरा रहता है।

टीएलसी को संतुलित या सामान्य कैसे करें?

Earn money online

अगर हमारे शरीर में टीएलसी बढ़ जाती है या घट जाती है तो ऐसी स्थिति में टीएलसी को सामान्य करना बेहद जरूरी है अन्यथा हम किसी बड़े बीमारी का शिकार हो सकते हैं तो आइए जानते हैं कि टीएलसी को संतुलित या सामान्य कैसे करें

  • फल या सब्जी का सेवन करते वक्त ध्यान रखें कि उस फल या सब्जी में बहुत अधिक मात्रा में उर्वरक या पेस्टिसाइड का इस्तेमाल ना किया गया हो तथा फल को ताजा दिखाने में किसी प्रकार का कोई मानव निर्मित रंगों का इस्तेमाल न किया गया हो
  • फल या सब्जी को हमेशा धो कर ही खाएं चाहे वह फल कितने ही हरी-भरी क्यों ना दिख रही हो।
  • अगर कभी भी आपको कोई बीमारी के होने का एहसास हो या आपकी तबीयत ठीक नहीं हो तो जितनी जल्द हो सके एक अच्छे डॉक्टर से मिले ताकि भविष्य में यह छोटी बीमारी कोई बड़ी बीमारी का कारण न बन जाए।
  • कई बार बच्चों में ऐसा देखा गया है कि वे समय-समय पर आहार नहीं लेते हैं यानी कि वे कभी बहुत जल्दी खाना खा लेते हैं या कभी बहुत ही देर से खाना खाते हैं कभी-कभी तो लोग रात के 11 या 12 बजे खाना खाते हैं लेकिन यह खाने का सही समय नहीं है आपको समय पर ही खाना खाना चाहिए।
  • आज के समय में तनाव एक बहुत बड़ी समस्या बन गई है आज के अधिकतर युवा तनाव से पीड़ित है वह तनाव अपने कैरियर के लेकर हो या अपने परिवार को लेकर वह दिन भर कुछ ना कुछ सोचते रहते हैं तो ऐसे तनाव वाली जिंदगी से भी दूरी बनाए रखें ज्यादा से ज्यादा खुद को काम में व्यस्त रखें ताकि आपको सोचने का समय ही ना मिल पाए।
  • अगर कभी खेलने कूदने या हमारे घर की किसी सामान से टकराकर हमारे शरीर में किसी प्रकार की कोई चोट लग जाए जिससे कि खून बह रहा हो तो ऐसी स्थिति में इसे नजरअंदाज बिल्कुल ना करें आपको इसके लिए एंटीबायोटिक लेनी चाहिए।

सामान्य टीएलसी काउंट कितना होना चाहिए?

सामान्य टीएलसी काउंट उम्र के हिसाब से अलग-अलग होती है बच्चे में अलग होती है जवान लोगों में अलग होती है और बूढ़े में भी अलग होती है आइए जानते हैं कि उम्र के हिसाब से सामान्य टीएलसी काउंट कितना होना चाहिए।

  1. वयस्क यानी कि जवान लोगों का टीएलसी काउंट 4500-10500/mm3 होना चाहिए।
  2. बच्चे जिसकी उम्र 12 से 18 वर्ष हो उनका टीएलसी काउंट 4500-13000/mm3 होना चाहिए।
  3. बच्चे जिसकी उम्र 6 से 12 वर्ष हो उनका टीएलसी काउंट 4500-14500/mm3 होना चाहिए।
  4. बच्चे जिसकी उम्र 1 से 6 वर्ष हो उस बच्चे का टीएलसी काउंट 5000-17000/mm3 होना चाहिए।
  5. अगर बच्चे 1 या 1 वर्ष से कम है तो इस स्थिति में टीएलसी काउंट 6000-17500 होना चाहिए।
  6. 4 हफ्तों के बच्चे का टीएलसी काउंट 6000-18000 होना चाहिए।
  7. दो हफ्तों के बच्चे का टीएलसी काउंट 6000-21000 होना चाहिए।
  8. तथा नवजात शिशु का टीएलसी काउंट 10000-26000/mm3 होना चाहिए।

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल में टीएलसी के बारे में जाना है।TLC से हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है और इसकी जानकारी होना हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है आज आर्टिकल में हमने टीएलसी के बहुत ही महत्वपूर्ण बिंदुओं को जाना है। इस आर्टिकल में मैंने आपको इन सारे बिंदुओं को बारे में विस्तार से बताया है जैसे कि

  • TLC बढ़ने का कारण क्या है?
  • TLC टीएलसी का सामान्य कैसे करें?
  • TLC COUNT KITNA HONA CHAHIYE?

 यह सारी जानकारियां बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी है और हमें इनके बारे में मालूम होना बहुत आवश्यक है क्योंकि यह हमारे स्वास्थ्य में बहुत ही अहम भूमिका निभाती है।

मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको टीएलसी कब बढ़ने का कारण क्या होता है और TLC  बढ़ जाने के बाद हम उसे सामान्य कैसे करें इसके बारे में सारी जानकारी मिल गई होगी।

मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल के जरिए आपको टीएलसी को समझने में बहुत मदद मिली होगी अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया है इसे शेयर जरूर करें और हमारे आर्टिकल के संबंधित कोई राय है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

2 thoughts on “टीएलसी (TLC) बढ़ने का कारण | टीएलसी बढ़ने से क्या होता है?”

  1. Sir jaisa ki aapne btaya ki 1-6 saal tk ke bachcho me tlc 5000-17000 hona chahiye.
    Lekin doctor’s to bolte hai ki aisa kuch nhi.
    Mere bete ka tlc 15800 tha to admid krne k liye bola. Kyuki use fever bhi aa rha tha.
    Aur doctor ne btaya ki tlc bhut badha huaa hai bld me infection hai.ab aap hi btaye ki kya shi hai.

    1. आप डॉक्टर की सलाह माने। और अगर आप संतुष्ट नहि हैं तो एक बार दूसरे डॉक्टर के पास जाकर भी सलाह ले लें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 50,000 कमाए) 📱📱📱