D.EL.ED क्या है? (डी.एल.एड कोर्स क्या है?)

सबसे पहले हम जानते हैं कि डी.एल.एड क्या होता है? (D.El.Ed kya hai)

दोस्तों डी.एल.एड कोर्स करने के बाद आप प्राइमरी स्कूल के शिक्षक बन सकते हैं डी.एल.एड कोर्स के दौरान आप को शिक्षक बनने की ट्रेनिंग दी जाती है।

डी.एल.एड कोर्स में आपको सिखाया जाता है कि आप स्कूल के छोटे-छोटे बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे क्योंकि बड़े बच्चों के मुकाबले छोटे बच्चों को पढ़ाना ज्यादा मुश्किल होता है और इसके लिए बहुत ही स्पेशल प्रकार की ट्रेनिंग शिक्षकों को दी जाती है।

ताकि बच्चों को अच्छी तरह से पढ़ा सकें अगर आप भी डी.एल.एड कोर्स करना चाहते हैं तो इसे पूरे ध्यान से पढ़ें मैं आज आपको डी.एल.एड कोर्स से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी देने वाला हूं।

D.EL.ED का फुल फॉर्म क्या है?

डी.एल.एड का फुल फॉर्म बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट है।

बीटीसी तथा D.El.Ed क्या है?

बीटीसी तथा d.el.ed दोनों एक ही कोर्स को कहा जाता है कुछ साल पहले d.el.ed को ही बीटीसी कहा जाता था लेकिन अब इसका नाम बदलकर d.el.ed कर दिया गया है।

आप इसे बीटीसी कहें या d.el.ed दोनों एक ही चीज है।

D.EL.ED कोर्स करने के लिए योग्यता

अगर मैं डी.एल.एड कोर्स करने की योग्यता के बाद करूं तो आप इस कोर्स को बीए, बीएससी, बीकॉम, बीसीए, बीबीए, बीटेक पूरी करने के बाद कर सकते हैं।

डी.एल.एड सर्टिफिकेट कोर्स को करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए इससे पहले आप इस कोर्स को नहीं कर पाएंगे और अगर आपकी उम्र इतनी नहीं है तो आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।

आप d.el.ed कोर्स को करने की अंतिम वर्ष 35 वर्ष का होता है 35 वर्ष के अंदर ही आपको यह कोर्स करना होगा उसके बाद आप इस कोर्स को करने के लिए योग्य नहीं माने जाएंगे।

पुरुष और महिलाओं के लिए डीएलएड करने की न्यूनतम और अधिकतम उम्र बिल्कुल समान ही है दोनों को समान ही समय दिया जाता है इस कोर्स को करने के लिए।

डी.एल.एड करने के लिए कितने प्रतिशत चाहिए?

D.EL.ED Karne ke liye Kitne percentage chahiye

डी.एल.एड कोर्स करने के लिए वैसे तो कोई निर्धारित प्रतिशत नंबर नहीं है लेकिन बाकी दूसरे कोस की तरह इसमें भी आपको 12वीं में कम से कम 50% मार्क्स के साथ उत्तीर्ण होना होगा तभी आप इस कोर्स को करने के लिए योग्य होंगे।

डी.एल.एड में एडमिशन कैसे होता है?

D.EL.ED me admission kaise hota hai

डी.एल.एड कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले डी.एल.एड के लिए आवेदन करना होगा और आवेदन करने के बाद अगर आपका सिलेक्शन हो जाता है तो आप डी.एल.एड कोर्स को करने के लिए योग्य कहलाएंगे।

डी.एल.एड की चयन प्रक्रिया क्या है?

d.el.ed आपकी दसवीं की और बारहवीं की मार्क्स को देखते हुए मेरिट के अनुसार स्टूडेंट का सिलेक्शन करती है अगर आपकी 10वीं और 12वीं में अच्छे मार्क्स है तो बहुत अधिक संभावना होती है कि आपको डी.एल.एड में एडमिशन मिल जाए।

एक बार अगर आपका नाम मेरिट लिस्ट में आ जाती है तो उसके बाद आपको काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा और उसके बाद ही आपको पता चलेगा कि आप डीएलएड कोर्स करने के लिए योग्य है या नहीं।

बहुत से प्राइवेट कॉलेज भी d.el.ed कोर्स को कराती है लेकिन इनमें से कुछ कॉलेज ऐसे भी है जिस में एडमिशन लेने के लिए आपको परीक्षा देने की जरूरत पड़ सकती है और उस परीक्षा में पास होने के बाद ही आप d.el.ed कोर्स को करने के लिए योग्य होंगे।

डी.एल.एड कोर्स कितने साल का होता है?

D.EL.ED course kitne saal ka hai

डीएलएड कोर्स को पूरा करने में आपको 2 वर्ष का वक्त लगेगा इन 2 वर्षों में ही आपको शिक्षक के सारे ट्रेनिंग दी जाएगी कि आप को बच्चों को कैसे आसान से आसान भाषा में पढ़ाना है ताकि जो भी आप बच्चों को पढ़ा रहे हैं वह बच्चों को अच्छी तरह से समझ में आ जाए।

इन 2 वर्षों में कुल 4 सेमेस्टर होते हैं इसके बाद आपका डीएलएड का कोर्स पूरी हो जाएगी।

डी.एल.एड में कितने विषय होते हैं?

आइए जानते हैं कि D.EL.ED me Kitne Subject Hote hai या डी एल एड का सिलेबस क्या है?

अगर आपको बीटीसी का सिलेबस पता है तो बीटीसी तथा d.el.ed का सिलेबस एक जैसा ही है अभी तक इसमें कुछ खास बदलाव देखने को नहीं मिला है तथा सभी कॉलेज में यह सिलेबस लगभग एक जैसा ही होता है।

आइए जानते हैं कि d.el.ed का सिलेबस क्या है?

  • बचपन और बच्चों के विकास संज्ञान
  • सामाजिक सांस्कृतिक संदर्भ
  • समकालीन समाज    शिक्षक पहचान और स्कूल संस्कृति
  • शिक्षा, समाज
  • नेतृत्व और परिवर्तन
  • स्वयं को समझने के लिए
  • पर्यावरण अध्ययनों की अध्यापन
  • शिक्षा शास्त्र
  • अंग्रेजी भाषा का
  • प्राथमिक के लिए गणित की शिक्षा
  • विविधता और शिक्षा
  • अंग्रेज़ी में महारत
  • स्कूल स्वास्थ्य और शिक्षा
  • कार्य एवं शिक्षा
  • ललित कला और शिक्षा
  • इंटर्नशिप

यहां पहले वर्ष और दूसरे वर्ष की सिलेबस को एक साथ बताया गया है अगर आप इसके बारे में और भी संक्षिप्त से जानना चाहते हैं तो आप गूगल या यूट्यूब के माध्यम से इसके बारे में और भी अधिक जानकारी जुटा सकते हैं।

डी.एल.एड कोर्स करने में कितना खर्चा आता है?

D.EL.ED ki fees kitni Hai

डीएलएड कोर्स को करने में बहुत अधिक खर्च करने की जरूरत नहीं होती है। अगर आप किसी सरकारी कॉलेज से d.el.ed कोर्स को पूरा करते हैं तो इस स्थिति में इस कोर्स को पूरा करने में आप का कुल खर्च ₹10000 के आसपास होगी।

लेकिन अगर आप d.el.ed कोर्स को किसी प्राइवेट कॉलेज की सहायता से कंप्लीट करते हैं तो ऐसी स्थिति में इसको पूरा करने में 40 से ₹50000 तक खर्च हो सकती है।

अलग-अलग प्राइवेट कॉलेज के लिए यह खर्चे कम और ज्यादा हो सकती है किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले कॉलेज की फीस के बारे में जरूर से पता कर ले नहीं तो भविष्य में आपको काफी तकलीफ होगी।

डी.एल.एड करने के लिए कॉलेज?

D.EL.ED College

डी एल एड कोर्स करने के लिए अच्छे कॉलेज का चयन करना बेहद जरूरी है मैं आपको नीचे कुछ कॉलेज के नाम बता रहा हूं जहां से आप d.el.ed कोर्स को कर सकते हैं लेकिन इनमें से किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले आपको उस कॉलेज के बारे में पूरी जानकारी ले लेनी होगी जैसे कि कॉलेज में पढ़ाई कैसे होती है तथा कॉलेज की फीस कितनी है?

कॉलेज से जुड़ी पूरी जानकारी लेने के बाद ही आप अपना एडमिशन इन में से किसी कॉलेज में कराएं।

  • Jaipur National University
  • Amity University, Noida
  • Budha College of Education (Karnal)
  • SGT University Gurgaon
  • RKDF University (Bhopal)
  • University of Mumbai
  • RKDF University, Bhopal
  • R.R Group of Institute Lucknow

इन कॉलेजके अलावा भी भारत में और भी कई कॉलेज है जो कि d.el.ed कोर्स को पूरी करवाते हैं।

D.EL.ED करने के बाद वेतन कितनी मिलती है?

अगर आप डी.एल.एड करने के बाद एक शिक्षक के रूप में अपना कैरियर बनाते हैं या बनाना चाहते हैं तो शिक्षक बनने के बाद आपकीवेतन 20000 से लेकर 25000 तक के बीच हो सकती है और समय के साथ जैसे-जैसे आप का एक्सपीरियंस बढ़ता चला जाएगा आपकी वेतन भी धीरे-धीरे और भी अधिक बढ़ती चली जाएगी।

Conclusion

ऊपर मैंने d.el.ed से जुड़ी काफी जानकारी दी है लेकिन किसी भी कोर्स को या कोई भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले आप इसकी जानकारी अच्छी तरह से जुटा लें।

इंटरनेट में बताई गई जानकारी बहुत बार पुरानी होती है जो कि अभी तक बदल चुकी होती है ऐसी स्थिति में भविष्य में आपको कोई नुकसान ना हो इसके लिए आप अपने आसपास के लोगों से इसके बारे में जानने की कोशिश जरूर करें इंटरनेट में दी गई जानकारी पर पूरी तरह निर्भर रहना सही नहीं है।

अगर आपकी रूचि शिक्षक बनने में है आपको छोटे बच्चों को पढ़ाने में अच्छा लगता है या आप पढ़ाना चाहते हैं तो d.el.ed कोर्स आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए