ओ लेवल सर्टिफिकेट क्या होता है? | O level certificate kya hai?

आज इस आर्टिकल में हम ओ लेवल सर्टिफिकेट क्या होता है?(O level certificate kya hai?),क्या है ओ लेवल सर्टिफिकेट? इन सब के बारे में विस्तार से जानेंगे। 

वर्तमान में सरकारी या प्राइवेट किसी भी नौकरी के लिए कंप्यूटर की नॉलेज होना अनिवार्य हो गया है। किसी भी तरह की जॉब के लिए अप्लाई करने पर हमारे पास एक कंप्यूटर डिप्लोमा या डिग्री  का होना जरूरी होता है। हर क्षेत्र में कंप्यूटर के डिग्री धारकों की आवश्यकता और मांग रहती है। किसी जॉब के लिए अप्लाई करने पर हमें कंप्यूटर कोर्स का डिप्लोमा दिखाना होता है कई बार तो बिना इसके हम कई जॉब्स के लिए अप्लाई भी नहीं कर सकते हैं।

Computer में diploma, A level, B level, CCC, PGDCA जैसे कोर्स होते हैं जिनका सर्टिफिकेट सरकारी या प्राइवेट नौकरी के लिए अप्लाई करते वक्त फायदेमंद रहता है। O level भी एक अच्छा उपलब्ध कोर्स है जिसका सर्टिफिकेट किसी नौकरी के लिए उपयोगी रहता है। ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स का सर्टिफिकेट रहने पर इसकी मान्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सीएस डिप्लोमा (CS DIPLOMA)  की डिग्री के बराबर की होती है। O level computers का कोर्स PGDCA कोर्स के समकालीन की मान्यता रखती है किसी नौकरी के लिए कंप्यूटर के क्षेत्र में योग्यता दिखाने के लिए इन सर्टिफिकेट्स की काफी मांग रहती है।

O level कोर्स क्या है? (O level certificate क्या है?)

यदि बात की जाए इस कोर्स की तो यह राष्ट्रीय इलेक्ट्रोनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान यानी NIELIT के द्वारा आयोजित एक Computer कोर्स है। NIELIT(National institute of electronics and Information Technology) को ही DOEACC (Department of electronics accreditation of computer courses) के नाम से भी जाना जाता था।

O level computer course का सर्टिफिकेट वैसे सरकारी है प्राइवेट नौकरी के लिए अप्लाई करते वक्त  प्रस्तुत किया जा सकता है। इस कोर्स के सर्टिफिकेट की मान्यता कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा के बराबर की होती है। इस कोर्स को फाउंडेशन कोर्स भी कहा जाता है। इसमें आपको इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी(Information technology) के फाउंडेशन सिलेबस  को पढ़ाया जाता है। इसके अलावा आपने कंप्यूटर के PGDCA कोर्स के बारे में भी सुना होगा, इस कोर्स के सर्टिफिकेट की मान्यता इसके समकालीन भी होती है। ओ लेवल कोर्स को करने के बाद एक अभ्यार्थी ए लेवल (A level) कोर्स करने के लिए पात्र हो जाता है, जिसे कंप्यूटर अनुप्रयोगों में एडवांस डिप्लोमा के बराबर की मान्यता दी जाती है।

आसान शब्दों में o level computer का एक बेसिक कोर्स है जो कि एक डिप्लोमा कोर्स है, इसमें आपको कंप्यूटर की पढ़ाई करनी होती है।

Full form of O level

O level का फुल फॉर्म ‘ordinary level’ होता है, इसके नाम से ही पता चलता है कि यह ordinary यानी basic level का कोर्स है कंप्यूटर की बेसिक कोर्स में आपको सभी प्रकार के एप्लीकेशंस उनके इस्तेमाल इत्यादि के बारे में सिखाया जाता है।

O level का कोर्स कैसे करें

  • सबसे पहले तो आप इस कोर्स को करने के लिए एलिजिबल होने चाहिए। न्यूनतम योग्यता में अभ्यार्थी का 10+2 पास होना जरूरी होता है, इसके अलावा आईटीआई का कोर्स पूरा कर चुका कोई अभ्यार्थी भी इसके लिए एलिजिबल होता है।
  • यदि आप इस कोर्स  के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसकी दो प्रक्रियाएं हैं पहला ऑनलाइन जिसमें आप NIELIT की आधिकारिक वेबसाइट ( nielit.gov.in ) पर जाकर सीधे ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। या दूसरा राष्ट्रीय इलेक्ट्रोनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान के अंतर्गत रजिस्टर्ड किसी संस्थान में जाकर एडमिशन ले सकते हैं।
  • इस कोर्स को करने के लिए किसी संस्थान में एडमिशन लेने पर registration, fees payment इत्यादि वह institute से भी करवाता है जिसके लिए आपको शुल्क देना होता है। साथ ही संस्थान से ओ लेवल कोर्स करने पर आपके O level syllabus, classes इत्यादि का ध्यान संस्थान द्वारा ही रखा जाता है। एवं ऑनलाइन इसे करने पर रजिस्ट्रेशन, एग्जामिनेशन  फॉर्म इत्यादि आपको स्वयं ही मैनेज करना होता है।

O level कोर्स का सिलेबस

O level कोर्स का सिलेबस क्या होता है?, यानी इसके लिए आपको क्या क्या पढ़ना होगा इसके बारे में पता होना जरूरी हो जाता है। ओ लेवल का कोर्स 1 साल का कोर्स होता है जिसमें 2 semesters होते हैं।

जैसा कि हमने बताया कि यह 1 साल का कोर्स है जिसमें 2 सेमेस्टर होते हैं। इन दो सेमेस्टर्स का सिलेबस अलग-अलग होता है। ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स में आपको दोनों सेमेस्टर में theory और practical दोनों ही पढ़ने होते हैं इसके साथ ही आपको प्रोजेक्ट भी करना होता है।

O level first semester में आपको दो पेपर पढ़ने होते हैं जिनमें IT tools and business systems पहला और internet technology and web design दूसरा पेपर होता है। O level second semester में कुल मिलाकर 3 पेपर होते हैं, जिनमें पहला Programming and problem solving through C language, दूसरा Application of Dot NET technology और तीसरा Introduction to multimedia होता है। इसके साथ ही प्रैक्टिकल पेपर और प्रोजेक्ट में practical based on the theory papers of the syllabus तथा Project work होता है।

O level की परीक्षा

  • इसकी परीक्षा का आयोजन साल में दो बार जनवरी में और जुलाई में कराया जाता है। जिसके लिए आपको फॉर्म इत्यादि पहले ही भरना होता है। इसके सिलेबस से परीक्षा में theory, practical और उसके साथ project work भी करना होता है।
  • इस कोर्स में आपको चार परीक्षाएं देनी होती है सभी पेपर मे 2 भाग होते हैं जिसमें से पहले भाग में आपको 40 प्रश्न OMR sheet पर करने होते हैं जिसके लिए घंटे का समय दिया जाता है। यह भाग 40 अंकों का होता है जिसमें उत्तीर्ण होने के लिए 20 अंक लाना जरूरी होता है। दूसरे भाग में 2 घंटे में आपको 60 प्रश्न सॉल्व करने होते हैं, इसे आपको white sheet पर solve करना होता है, इसमें 30 अंक लाना जरूरी होता है।
  • इन परीक्षाओं को पास करने के बाद ही आप प्रैक्टिकल के लिए अप्लाई कर सकते हैं प्रैक्टिकल एग्जाम भी दो भागों में होती है जिसमें पहले भाग में 80 अंकों का कंप्यूटर पर ऑनलाइन सॉल्व करने वाले प्रश्न होते हैं, दूसरे भाग में 20 अंकों का viva होता है।

Benefits of O level ( O level के फायदे)

O level course करने के अनेकों फायदे हैं। यह National institute of electronics and information technology (NIELIT) के द्वारा आयोजित ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स यदि आप कर लेते हैं तो कई क्षेत्रों में नौकरियों के अवसर आपके लिए खुलते हैं। इस कोर्स का सर्टिफिकेट आपकी कंप्यूटर के नॉलेज को प्रमाणित करता है। कई सारे क्षेत्रों में ओ लेवल का कोर्स किए हुए छात्रों की मांग रहती है ऐसे में इनसे जुड़े हुए कई सारी नौकरियां आपको मिल सकती है। Private jobs भी एक अच्छा विकल्प रहता है, इसमें आपको 20000 से 50000 तक की सैलरी भी मिल सकती है।

इस कोर्स को कर लेने के बाद आपको primary school tutor, retail associate, event crew, enrichment program assistant, computer operator, food and beverage staff इत्यादि जैसे जॉब मिल सकते हैं।

Conclusion

आज इस आर्टिकल में हमने ओ लेवल सर्टिफिकेट क्या होता है?,(O level certificate kya hota hai), O level ke fayde, O level course syllabus, O level certificate exam, O level kaise kare इन सब चीजों के बारे में विस्तार से जाना है मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको O level की परीक्षा,ओ लेवल सर्टिफिकेट क्या है?

इसके बारे में सारी जानकारी मिल गई है अगर इस आर्टिकल को पढ़कर आपको अच्छी जानकारी मिली है हमारा आर्टिकल को शेयर जरूर करें और हमारे आर्टिकल पसंद कोई राय देना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

धन्यवाद

1 thought on “ओ लेवल सर्टिफिकेट क्या होता है? | O level certificate kya hai?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Website बनाकर पैसे कैसे कमाए?  (महीने 27,000 कमाए) ✅✅✅