बीएससी (B.Sc) ऑनर्स क्या है? (What Is B.Sc Honours)

आज हम जानेंगे कि बीएससी ऑनर्स क्या होता है (B.Sc Honours kya hai) तथा बीएससी तथा बीएससी ऑनर्स में क्या क्या अंतर होता है एवं हमें बीएससी करना चाहिए या बीएससी ऑनर्स करना चाहिए।

आज हम बीएससी ऑनर्स से जुड़े सभी महत्वपूर्ण सवालों के उत्तर जानने की कोशिश करेंगे जिससे कि आपके मन में जितने भी कंफ्यूजन है बीएससी ऑनर्स को लेकर हुए सभी दूर हो पाएआइए एक-एक करके हम बीएससी ऑनर्स के बारे में जानते हैं।

बीएससी ऑनर्स क्या है?

बीएससी ऑनर्स भी 1 डिग्री कोर्स ही है लेकिन यह स्पेशल डिग्री कोर्स है बीएससी के मुकाबले बीएससी ऑनर्स का महत्व ज्यादा है।

आप 12वीं के बाद बीएससी ऑनर्स कर सकते हैं और इस कोर्स को करने में आपको 4 वर्ष का वक्त लग सकता है अलग-अलग देशों में यह अवधि ज्यादा कम भी हो सकती है।

बीएससी और बीएससी ऑनर्स के बीच अगर मैं आपसे बात करूं सबसे अच्छा कोर्स की तो वह बीएससी ऑनर्स ही है।

बीएससी ऑनर्स करने के लिए योग्यता

बीएससी ऑनर्स करने के लिए 12वीं में आपका विज्ञान के विषय में कम से कम 50% नंबर होनी चाहिए तभी आप बीएससी ऑनर्स करने के लिए योग्य साबित हो सकते हैं।

तथा आपकी उम्र कम से कम 18 वर्ष होने ही चाहिए तभी आप बीएससी ऑनर्स करने के लिए योग्य साबित होंगे।

बीएससी ऑनर्स में एडमिशन कैसे होता है?

बीएससी ऑनर्स करने के लिए आप 2 तरीकों से कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं पहला तरीका यह है कि आपकी मेरिट के अनुसार ही आपका एडमिशन हो जाती है और दूसरे तरीके में आपको एक परीक्षा देनी होगी और उस परीक्षा में पर्याप्त नंबर मिलने के बाद ही आप अपना एडमिशन बीएससी ऑनर्स के कॉलेज में करवा सकते हैं।

बीएससी ऑनर्स करने में कितना खर्चा होता है?

वैसे तो बीएससी ऑनर्स करने में खर्चा अलग अलग कॉलेज के लिए अलग अलग होती है लेकिन एक औसत खर्चे की बात करें तो एक सामान्य कॉलेज में कम से कम ₹50000 खर्च होती है बीएससी ऑनर्स को पूरे करने में।

बीएससी ऑनर्स में कितने विषय पढ़ने होते हैं?

बीएससी ऑनर्स में आपको सिर्फ एक ही विषय को पढ़ना होता है और उसी विषय में आपको बीएससी ऑनर्स की डिग्री भी मिलती है।

हालांकि बीएससी ऑनर्स करने के दौरान आपको कुछ और विषय भी पढ़ाया जा सकता है लेकिन इन विषय का कोई मायने नहीं होता है जब फाइनल में आपकी परीक्षा होगी तो आपका जो मेन विषय है उसी विषय की ही परीक्षा होती है और सिर्फ वही विषय ही महत्व रखती है।

बीएससी करें या बीएससी ऑनर्स?

आज के समय में बीएससी ऑनर्स करना ही आपके लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि अगर आप शुरुआत में बीएससी कर लेते हैं तो सिर्फ बीएससी का यहां कोई महत्व नहीं है इसके बाद आपको एमएससी भी करना होगा।

लेकिन अगर आप पहले ही बार में सीधे बीएससी ऑनर्स करते हैं तो इसमें आपकी समय की काफी बचत होगी आप बीएससी ऑनर्स करने के तुरंत बाद ही किसी भी नौकरी के लिए अप्लाई कर पाएंगे।

बीएससी ऑनर्स कितने वर्ष का होता है?

आमतौर पर बीएससी ऑनर्स और बीएससी पूरे 4 वर्ष की होती है लेकिन अलग-अलग देशों में यह अलग-अलग समय के अंदर पूरी कराई जाती है भारत में आप इस कोर्स को पूरे 4 वर्ष के अंदर ही कर सकते हैं।

बीएससी ऑनर्स करने के लिए कॉलेज

बीएससी ऑनर्स करने के लिए एक अच्छी कॉलेज का चयन करना भी बेहद जरूरी है अगर आप एक अच्छी कॉलेज का चयन नहीं करते हैं तो आपकी समय की सिर्फ बर्बादी ही होगी हो सकता है कि वह कॉलेज आपको डिग्री तो दे दे मगर शायद वह डिग्री भविष्य में आपके किसी काम में ना आए

तो आइए हम एक-एक करके भारत में मौजूद कॉलेज के बारे में जानते हैं जहां से आप बीएससी ऑनर्स कर सकते हैं।

  • SRM Institute of Science and Technology, Chennai
  • Jamia Millia Islamia, New Delhi
  • All India Institute of Medical Sciences New Delhi
  • Maharaja Sayajirao University of Baroda
  • Vellore Institute of Technology, Vellore
  • Lovely Professional University, Phagwara
  • Indira Gandhi National Open University, New Delhi

बीएससी और बीएससी ऑनर्स के बीच क्या अंतर होता है?

आइए जानते हैं कि बीएससी और बीएससी ऑनर्स के बीच ऐसे कौन-कौन से अंतर है जो कि इन दोनों कोर्स को एक दूसरे से अलग बनाती है ताकि हम यह फैसला कर सके कि हमारे लिए कौन सा कोर्स बेहतर और फायदेमंद साबित होगा।

  • दोनों ही कोर्स में आपको डिग्री प्राप्त होती है लेकिन बीएससी ऑनर्स की डिग्री का महत्व ज्यादा है यह एक स्पेशल प्रकार की डिग्री होती है।
  • अगर मैं आपसे बात करूं बीएससी ऑनर्स की सिलेबस की तो बीएससी के मुकाबले बीएससी ऑनर्स का सिलेबस ज्यादा होता है यानी कि इसमें आपको ज्यादा पढ़ने की आवश्यकता होगी।
  • आप बीएससी को 3 वर्ष में पूरी कर सकते हैं लेकिन आप बीएससी ऑनर्स को 3 वर्ष में पूरी नहीं कर सकते इसके लिए आपको 4 वर्ष लगेगा और अलग-अलग देशों में इसकी अवधि ज्यादा भी हो सकती है।
  • बीएससी ऑनर्स करने पर आपको शोध प्रबंध प्रस्तुत करना होता है जबकि बीएससी करने के बाद ऐसा कोई शोध प्रबंध प्रस्तुत करना जरूरी नहीं होता है।
  • नौकरी पाने के लिए बीएससी ऑनर्स की डिग्री बीएससी के मुकाबले अधिक फायदेमंद साबित होती है।

Conclusion

ऊपर मैंने आपको बताया कि आपको बीएससी ऑनर्स क्यों करनी चाहिए तथा बीएससी एवं बीएससी ऑनर्स के बीच क्या-क्या अंतर होता है लेकिन अब आपको फैसला करना है कि आपको बीएससी करनी है या बीएससी ऑनर्स करनी है।

अगर मैं अपनी राय दूं तो बीएसपी से ज्यादा बेहतर आपके लिए बीएससी ऑनर्स साबित हो सकता है क्योंकि इन कोर्स में आपको सिर्फ एक ही विषय के बारे में पढ़ाया जाता है और उन्हें एक विषय में ही आपकी परीक्षा भी होती है तो यह आपके लिए ज्यादा आसान भी हो सकती है तथा इसकी डिग्री की महत्व भी बीएससी के मुकाबले अधिक है।

कोई भी फैसला लेने से पहले इसके बारे में अधिक से अधिक जानकारी जुटा ले कहीं ऐसा ना हो कि आपका 3 वर्ष बर्बाद हो जाए और आपको इसका दुख 3 वर्ष के बाद हो शुरुआत में ही अच्छे से रिसर्च करने के बाद आप अपने विषय तथा कोर्स की चयन करेंगे तो भविष्य में आपको इसका फायदा जरूर मिलेगा तथा आप एक अच्छी नौकरी भी कर पाएंगे।

हमारे इस आर्टिकल को आपने यहां तक पढ़ा इसके लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद आपका दिन शुभ हो।

2 thoughts on “बीएससी (B.Sc) ऑनर्स क्या है? (What Is B.Sc Honours)”

    1. BHU सबसे प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी है उत्तर प्रदेश की इसके अलावा भी और भी बहुत सारे यूनिवर्सिटी ये हैं उत्तर प्रदेश में जहाँ से आप BSC कोर्स को कर सकते हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Game खेलकर पैसे कैसे कमाए