Poco कंपनी का मालिक, किस देश की कंपनी है?

Advertisement

दोस्तों आज का समय तकनीक यानी टेक्नोलॉजी का समय है, और यह टेक्नोलॉजी आम लोगों के पास स्मार्टफोंस के रूप में मौजूद है। सिर्फ हमारे देश ही नहीं बल्कि पूरा दुनिया भर में स्मार्टफोंस यूज करने वाले लोगों की संख्या बहुत ही ज्यादा है। लगभग हर इंसान ही आज एक मोबाइल फोन या स्मार्टफोन चलाता है।

ऐसे में जहां मार्केट की ज्यादातर स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां चाइनीस है, लोगों के मन में यह प्रश्न आ सकता है कि poco आखिर किस देश की कंपनी है। आज इस लेख में हम इसी को जानेंगे, Poco किस देश की कंपनी है? (Poco kis desh ki company hai) poco कंपनी का मालिक कौन हैं? (Poco company ka malik kaun hai) और इससे संबंधित दूसरी कुछ चीजों को भी जानेंगे।

Poco किस देश की कंपनी है?

Advertisement

Poco kis desh ki company hai

कई लोगों को यह बात पता है कि इंडियन स्मार्टफोन मार्केट के प्रचलित दूसरे smartphone brands की तरह poco भी एक चाइनीस कंपनी भी है। यानी मूल रूप से Poco एक चाइनीस कंपनी है। यह कंपनी भी एक चाइनीस स्मार्टफोन निर्माता कंपनी है जो कम कीमत पर लगभग फ्लैगशिप लेबल के स्मार्टफोंस की तरह स्पेसिफिकेशंस देने के लिए लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है।

Advertisement

इस कंपनी का हेड क्वार्टर यानी मुख्यालय चाइना के बीजिंग शहर में स्थित है। यदि बात करें सिर्फ poco ब्रांड की तो दूसरे स्मार्टफोन ब्रांड की तुलना में poco एक नया ब्रांड है जिसे मार्केट में आए कुछ साल ही हुए हैं, आज के समय में मार्केट में आपको poco कंपनी के कई स्मार्टफोन देखने को मिलेंगे जो specifications wise बेहतरीन कीमत के साथ आते हैं।

देखा जाए तो इस स्मार्टफोन मार्केट में भारत में चाइनीस मोबाइल निर्माता कंपनियों ने अपनी पकड़ बहुत ही मजबूत बना रखी है, भारतीय बाजार में यह कंपनियां सैमसंग (जो पूरी दुनिया भर की सबसे बड़ी कंपनियों में आता है) को भी पीछे छोड़ रही है।

देश में ग्राहकों को कम कीमत पर बेहतर स्पेसिफिकेशंस वाले फोन चाहिए और ये कंपनीयां यही करती है। काफी कम समय में पोको कॉफी सक्सेसफुल कंपनी बनी है, जिसका जाहिर कारण है कम कीमत और बेहतर स्पेसिफिकेशंस। वनप्लस कंपनी भी कुछ इसी तरह का काम करती है लेकिन पोको उससे भी काफी सस्ती होती है।

भारत की No 1 स्मार्टफोन कंपनी?

यह बात काफी लोगों को पता होगी कि आज के समय में इंडिया का नंबर वन स्मार्टफोन ब्रांड xiomi है, xiomi का एक स्मार्टफोन खरीदने पर आप उसके बॉक्स पर यह लिखा देख सकते हैं।

Xiomi का mi series और redmi series पहले से ही बजट स्मार्टफोंस की कैटेगरी में मार्केट में था, फिर xiomi द्वारा साल 2018 में मिड रेंज कैटेगरी या कहे तो प्रीमियम मिड रेंज कैटेगरी में आपने एक sub brand के रूप में पोको कंपनी को लांच किया गया था। आज के समय में poco एक independent brand बन चुका है, लेकिन इसकी शुरुआत xiomi के एक sub brand के तरह ही हुई थी।

पोको कंपनी का उद्देश्य mid range, upper mid range और थोड़े प्रीमियम स्मार्टफोंस को टक्कर देने का था। Poco के smartphones में xiomi का ही हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर इस्तेमाल किया जाता था। परंतु आगे चलकर इस कंपनी की सफलता को देखते हुए पोको को एक स्वतंत्र कंपनी घोषित कर दिया गया।

आज के समय में यह कंपनी इंडिपेंडेंटली काम कर रही है। इसी तरह का एक और उदाहरण है ओप्पो और रियलमी। रियल मी की शुरुआत भी ओप्पो कंपनी के एक sub brand के रूप में की गई थी, लेकिन आज यह भारतीय मार्केट में एक लोकप्रिय इंडिपेंडेंट स्माटफोन ब्रांड है।

दूसरे मोबाइल कंपनियां एवं मालिक

Poco कंपनी का मालिक कौन है?

Poco company ka malik kaun hai

जैसा कि हमने बताया पोको कंपनी को शाओमी के एक सब ब्रांड के रूप में लांच किया गया था, xiomi के CEO Lei Jun हैं, लेकिन आज के समय में जब पोको एक स्वतंत्र brand बन चुका है, तब ये इसका संचालन नहीं करते हैं। Xiomi इंडिया के head मनु कुमार जैन हैं। यदि बात करें पोको कंपनी की तो Head of poco global , Kevin Qui हैं, जबकि भारत में पोको के लिए country director poco India , Anuj Sharma हैं।

Poco का पहला स्मार्टफोन

Poco कंपनी की इतनी बड़ी सफलता का, की इस brand ने काफी कम समय में स्मार्टफोन मार्केट में अपनी जगह बनाई है, कारण है इसका पहला स्मार्टफोन poco f1 । यह एक ऐसा स्मार्टफोन था जिसने काफी कम कीमत पर फ्लैगशिप केटेगरी के स्मार्टफोंस को टक्कर दी थी।

Poco कंपनी का पहला स्मार्टफोन ₹20999 की कीमत पर लांच किया गया था जिसमें आपको flagship Snapdragon 845 प्रोसेसर देखने को मिलता था जो इस कीमत पर पहले संभव नहीं था। बाकी चीजों में भी यह एक फीचर packed फोन था जो लोगों के बीच भयंकर लोकप्रिय हुआ।

Poco का पहला स्मार्टफोन

पर एक बात यह भी है कि poco का पहला स्मार्टफोन पोको F1 ही इसका ओरिजिनल स्मार्टफोन था। उसके बाद फोटो कंपनी के द्वारा जितने भी स्मार्टफोंस भारतीय बाजार में लांच किए गए उनमें से ज्यादातर शाओमी या रेडमी कंपनी के स्मार्टफोन के रीब्रांडेड वर्जन ही होते थे।

ये तीनों ही कंपनियां मूल रूप से एक ही कंपनी के अंतर्गत आती है, इनके स्मार्टफोंस में ज्यादा अंतर नहीं होता, एक दो specifications इधर उधर हो कर इन तीनों ही कंपनियों के स्मार्टफोंस लगभग एक समान ही लॉन्च किए जा रहे हैं। Poco के अलावा आज के समय में redmi भी xiomi से अलग होकर एक स्वतंत्र कंपनी बन चुकी है।

Conclusion

2016 के बाद जब से जिओ द्वारा उपभोक्ताओं को मुफ्त फास्ट इंटरनेट की सुविधा मिली, तभी से मॉडर्न 4जी स्मार्टफोन की मांग भारत में बढ़ी, जिससे अलग-अलग कंपनियों के फोन बाजार में बिकने लगे। मुख्य तौर से यदि सैमसंग को छोड़ दिया जाए तो भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में प्रचलित ज्यादातर ब्रांड्स चाइनीस कंपनियां ही है।

ओप्पो, वीवो, xiaomi redmi, realme, वनप्लस इत्यादि जितने भी नाम है सब चाइनीस कंपनियां है। वर्तमान में Poco branded smartphone भी मार्केट में काफी बिकते हैं, लोगों द्वारा इस कंपनी के स्मार्टफोंस को काफी पसंद किया जाता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *